लाइव टीवी

लाश के टुकड़े करने के बाद कटा हुआ सिर लेकर चला गया था वो

Bhavesh Saxena | News18Hindi
Updated: July 13, 2018, 8:03 PM IST
लाश के टुकड़े करने के बाद कटा हुआ सिर लेकर चला गया था वो
सांकेतिक चित्र.

11 सालो पहले मौत की सज़ा सुनाए जाने के बावजूद डबल मर्डर का दोषी अब भी जेल में ज़िंदा है. इस केस के बहाने कैदियों को मौत दिए जाने के तरीके को लेकर बहस छिड़ी और अमेरिकी जेलों में ड्रग्स की सप्लाई से जुड़ा घोटाला भी सामने आ रहा है.

  • Share this:
उस कॉम्प्लेक्स में सफाई करते वक्त सफाई कामगार को अजीब किस्म की बदबू महसूस हुई. उसकी नज़र एक टोकरे पर पड़ी जिसमें से बदबू आ रही थी और उसने देखा कि मक्खियां और कीड़े उस टोकरे के पास भिनभिना रहे थे. नाक और मुंह पर कपड़ा रखकर जैसे ही उस टोकरे को हटाकर नीचे रखे सूटकेस को उसने खोला तो उसमें खून से भीगे एक तौलिये के साथ ही मांस के कुछ टुकड़े और बालों के गुच्छे थे, जो सड़ चुके थे.

अमेरिका में कसीनो, नशे और हर तरह के विलास के लिए मशहूर लास वेगास के एक करीबी इलाके में जब एक सफाई कामगार ने यह देखा तो उसने पुलिस को खबर की. पुलिस ने आसपास और तलाशी ली तो थोड़ी ही देर में कोई अंग कहीं कटा हुआ मिला तो कोई कहीं. फिर एक सिरकटी लाश मिल चुकी थी. अब सवाल यह था कि यह लाश किसकी है और इस ढंग से इसे किसने कत्ल किया है? उन दिनों उस इलाके में किसी सीरियल किलर के सक्रिय होने या इस तरह की हत्याएं होेने की कोई खबर नहीं थी.

इस क्राइम सीन से उठे तमाम सवालों के साथ शुरू हुई कातिल की खोज और सामने आई एक कहानी. कहानी का लीड किरदार था स्कॉट. स्कॉट की कहानी में सब कुछ था यानी लालच, फिलॉसफी, ड्रग्स, सेक्स और कत्ल. स्कॉट एक सेना कर्मचारी का बेटा था और अपने जीवन में वह टीचर बनना चाहता था. लेकिन कम उम्र में शादी हो जाने के बाद उसे दौलत कमाने का चस्का लगा. छोटी-छोटी ख्वाहिशों को पूरा करने के लिए उसे हर बार खुद को मजबूर देखना रास नहीं आता था.

ऐसे शुरू हुआ जुर्म का सफर

दौलत कमाने के दो ही रास्ते होते हैं - पहला 'शॉर्टकट' और दूसरा 'छोटा शॉर्टकट'. इस तरह की फिलॉसफी में यकीन रखते हुए स्कॉट ने कौन सा रास्ता चुना था? स्कॉट ने उस रास्ते पर चल पड़ा जिसे सही नहीं बल्कि खतरनाक कहा जाता है. वह कसीनों में स्ट्रिपर बन चुका था. लोगों के मनोरंजन के लिए अपने कपड़े उतारकर अपने शरीर का इस्तेमाल करवाने के इस काम में उसे अच्छी कमाई दिखने लगी. यहां से शुरू हुआ उसका लालच.

अमेरिका समाचार, कत्ल, दोहरा हत्याकांड, ड्रग्स, सज़ा-ए-मौत, america news, murder, double murder case, drugs, capital punishment

अब और ज़्यादा पैसे कमाने के लिए उसे एक रास्ता और मिला. स्ट्रिपर के तौर पर कुछ लोग उसके संपर्क में आए जो ड्रग्स का धंधा करते थे. वह पहले ड्रग पैडलर बना और फिर ड्रग्स डीलर. इस धंधे में भी खूब कमाई थी और लास वेगास में स्ट्रिपिंग और ड्रग्स के शौकीनों की कोई कमी नहीं थी. धंधा चल पड़ा और स्कॉट ड्रग्स के ज़रिये लूटपाट में भी शामिल हो गया. वह बेईमानी करने लगा था और अपने ग्राहकों को ठगता था.
Loading...

एक दिन 22 साल के मिलर ने स्कॉट से ड्रग्स के लिए मुलाकात की. स्कॉट ने उसे अगले दिन एक अपार्टमेंट में 12 हज़ार डॉलर के बदले मेथ नाम की ड्रग्स देने का वादा किया. मिलर अगले दिन बताए गए वक्त पर पहुंचा और स्कॉट ने सब कुछ प्लैन कर रखा था. स्कॉट ने जैसे ही मिलर को देखा तो उससे रकम के बारे में पूछा. मिलर ने कहा कि उसके पास पैसों की कमी नहीं है और वह माल खरीदने के लिए पूरी तैयारी के साथ आया है.

कत्ल के बाद किए लाश के टुकड़े
बातों के दरमियान स्कॉट जब मिलर के पीछे की तरफ था तभी स्कॉट ने पिस्टल निकालकर एक गोली उसकी पीठ में मार दी. स्कॉट उसे ड्रग्स दिए बिना उसकी रकम हड़पने का इरादा कर चुका था इसलिए उसने मिलर को इस वीरान अपार्टमेंट के पास बुलाया था. अब स्कॉट ने नीचे गिर पड़े मिलर की जेब से पैसे निकाले तो घायल मिलर ने उसे रोकने की कोशिश की. इसी कश्मकश में स्कॉट ने तेज़ धार के चाकू से उस पर कई वार किए. लहूलुहान हो चुका मिलर मरने की कगार पर था.

अमेरिका समाचार, कत्ल, दोहरा हत्याकांड, ड्रग्स, सज़ा-ए-मौत, america news, murder, double murder case, drugs, capital punishment

स्कॉट ने उसके सारे पैसे अपने कब्ज़े में लेने के बाद आसपास देखा और अब वह लाश को ठिकाने लगाने के बारे में सोचने लगा. स्कॉट ने मिलर की लाश के टुकड़े किए. चाकू से ही उसका सिर तक काट डाला. उस अपार्टमेंट में एक मैला सा तौलिया भी था जिससे उसने पहले अपने हाथों और शरीर पर लगे खून को पोंछा और फिर लाश के कुछ टुकड़े लपेट दिए. वहीं पड़े एक सूटकेस में उसने वह तौलिया भर दिया और सूटकेस को कचरे के ढेर में फेंककर एक टोकरे से ढंक दिया. कटा हुआ सिर एक पॉलीथिन बैग में लेकर वहां से चला गया.

स्कॉट ने इतनी बेदर्दी से पहली बार कत्ल नहीं किया था. एक साल पहले यानी 2001 में उसने ग्रीन नाम के आदमी को भी बड़ी बेदर्दी से मौत के घाट उतारा था जिसकी लाश एक प्लास्टिक कंटेनर में बरामद हुई थी. वह लाश भी कटी फटी और सड़ चुकने के बाद मिली थी. अब मिलर की लाश मिली तो उसके शरीर पर बने टैटू से उसकी शिनाख्त हुई और सर्विलांस के बाद पुलिस स्कॉट तक पहुंच गई. सब कुछ पता चला लेकिन उस लाश का सिर कभी नहीं मिला.

मौत की सज़ा और सालों तक विवाद
लंबी सुनवाई के बाद 2007 में स्कॉट को दो हत्याओं के इल्ज़ाम में मौत की सज़ा सुनाई गई. मौत के लिए अदालत की हिदायत के मुताबिक उसे एक खास ड्रग्स का जानलेवा डोज़ दिया जाना था. लेकिन इस पर विवाद हुआ कि इतनी तकलीफ देकर किसी कैदी को क्यों मारना चाहिए. स्कॉट ने इस मामले में बयान देकर सनसनी पैदा कर दी थी और कहा था -

मैं मर जाना चाहता हूं. ताउम्र जेल में रहना कोई ज़िंदगी नहीं है. मैं ज़िंदगी भर एक बैरक के अंदर की दीवारों पर पेंटिंग बनाने में जितनी तकलीफ महसूस करूंगा, ड्रग्स के एक इंजेक्शन से होने वाली तकलीफ उससे कम होगी. भले ही मुझे तकलीफ हो लेकिन आप मुझे मार डालिए.


ड्रग्स के डोज़ देकर मारे जाने को लेकर बहस शुरू हुई और इस बहस के चलते स्कॉट की सज़ा मुल्तवी की जाती रही. अब इसी साल हाल में ड्रग्स बनाने वाली एक कंपनी ने जेलों में कैदियों को मारने में इस्तेमाल करने के लिए ड्रग्स की सप्लाई न करने की बात कहकर एक नया मोड़ ला दिया है. इस पूरे विवाद के चलते यह भी खुलासा हो रहा है कि इन ड्रग्स की किस तरह अवैध खरीदी अमेरिकी जेलों में की जाती है और किन अवैध तरीकों से इसका इस्तेमाल होता है.

अमेरिका समाचार, कत्ल, दोहरा हत्याकांड, ड्रग्स, सज़ा-ए-मौत, america news, murder, double murder case, drugs, capital punishment

मौत के लिए खुद स्कॉट की कई बार गुज़ारिश और अदालत के फैसले के बावजूद स्कॉट अब तक ज़िंदा है और जेल में है. हालांकि उसके केस ने एक नये घोटाले का पर्दाफाश कर दिया है और एक नयी बहस छेड़ दी है.

ये भी पढ़ें

एक महीने के लिए पैरोल पर छूटा था लेकिन 25 साल बाद लौटा जेल
हनीमून पर भाइयों की मदद से पति ने किया था नाबालिग पत्नी के साथ रेप
जिस बीवी के लिए बच्चे को अगवा किया, वो तो उसकी बीवी थी ही नहीं
दोहरे हत्याकांड में कातिल को सज़ा हुई तब खुला फैमिली का डार्क सीक्रेट
मनोरमा को बारी-बारी रौंदा जा रहा था, खिड़की से रोते हुए देख रही थी मां

Gallery - दो OPTIONS थे : पिता की जान बचाए या मैच खेले? उसने चुना मैच

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अमेरिका से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 13, 2018, 8:02 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...