कमल हासन की सभा से फुसलाकर ले जाए गए जोड़े की लाशें नदी में तैरती मिलीं

दक्षिण भारत से कथित आॅनर किलिंग की वो कहानी जो तमिलनाडु और कर्णाटक राज्यों से आई है. फिल्मकार कमल हासन की सभा से अगवा कर एक नवविवाहित जोड़े को इसलिए मौत के घाट उतार दिया गया क्योंकि उन्होंने प्यार किया था.

Bhavesh Saxena | News18Hindi
Updated: November 20, 2018, 8:40 PM IST
कमल हासन की सभा से फुसलाकर ले जाए गए जोड़े की लाशें नदी में तैरती मिलीं
सांकेतिक चित्र
Bhavesh Saxena | News18Hindi
Updated: November 20, 2018, 8:40 PM IST
'आप लोग यहां इसलिए नहीं आए हैं कि पैसे मिलने वाले हैं या कंबल, बल्कि इसलिए आए हैं क्योंकि आप लोगों में प्यार और लगाव की भावना है. कुछ लोग कहते हैं कि मेरा मूंछों पर ताव देना साबित करता है कि मुझमें घमंड है लेकिन मैं इसलिए मूंछों को ताव देता हूं क्योंकि आपका प्यार और साथ महसूस करता हूं...' कमल हासन जिस भीड़ के सामने ये बातें कर रहे थे, उसी भीड़ में कुछ लोग नफरत की आग में इस कदर जल रहे थे कि डबल मर्डर से भी नहीं चूके.

फिल्म जगत से राजनीति में आने वाले कमल हासन की होसूर में रैली जैसे ही खत्म हुई और भीड़ छंटने लगी, वैसे ही उस भीड़ में मौजूद रहे एक नौजवान जोड़े को वहां से अगवा कर लिया गया और कुछ देर बाद हत्याकांड को अंजाम दिया गया. लेकिन यह कहानी इस मोड़ तक पहुंची कैसे और क्यों? नंदिश और स्वाति के प्यार की इस कहानी के मौत तक पहुंचने से पहले कई मोड़ आए थे.

तमिलनाडु और कर्णाटक के बॉर्डर पर एक ज़िला है कृष्णागिरि. इसी ज़िले के चूड़ागोवंदनाहल्ली गांव में नंदिश और स्वाति रहा करते थे. नंदिश एक ऐसे परिवार और जाति से ताल्लुक रखता था जिसे समाज में निचले तबके का माना जाता था जबकि स्वाति अलग जाति की थी. दोनों पढ़ने और सामाजिक गतिविधियों के दौरान एक दूसरे के संपर्क में आए और एक दूसरे की आकर्षित होकर प्यार कर बैठे.

प्रेम प्रसंग शुरू होने के बाद दोनों ने छुप छुपकर मिलना शुरू किया क्योंकि दोनों को शुरू से मालूम था कि अलग जातियों के होने के कारण उनके रिश्ते को परिवार और समाज मंज़ूर नहीं करेगा. इसके बावजूद दोनों प्यार के रिश्ते में बंधते चले गए. इससे पहले कि दोनों के रिश्ते को लेकर किसी किस्म की अफवाह फैलती, दोनों ने अपने परिवारों में इशारों में ही इस रिश्ते का भविष्य जानने की कोशिश की. स्वाति को समझ आ चुका था कि उसके घर में इस रिश्ते को कोई मंज़ूरी नहीं मिल सकती थी.

26 वर्षीय नंदिश और 19 वर्षीय स्वाति ने जाति और समाज की दीवार को तोड़ने का फैसला किया और चुपके से विधिपूर्वक शादी कर ली. दोनों इस गांव को छोड़कर जाने की योजना बना रहे थे क्योंकि इस गांव में दोनों शादी के बाद भी साथ नहीं रह सकते थे. शादी के करीब तीन महीने बाद दोनों घर में बगैर कुछ बताए गांव छोड़कर होसूर चले गए. यहां दोनों ने साथ में ज़िंदगी जीने का इरादा किया लेकिन उन्हें क्या पता था कि उनकी ज़िंदगी में कितने दिन और लिखे थे.


दोनों के साथ गायब हो जाने के बाद गांव में हड़कंप मच गया और स्वाति के परिवार वाले आगबबूला होकर दोनों के बारे में खोजबीन करने लगे. तलाश करते हुए उन्हें पता चल गया कि दोनों होसूर में हैं. स्वाति के बाप श्रीनिवास ने अपने तमाम रिश्तेदारों और शुभचिंतकों को स्वाति को खोजने के लिए कहा. इसी बीच, होसूर में पिछले सप्ताह ही कमल हासन की एक आम सभा आयोजित होने वाली थी.

Honor killing story, honor killing in south india, tamilnadu double murder, public meeting of kamal hassan, Karnataka news, आॅनर किलिंग, दक्षिण भारत में आॅनर किलिंग, तमिलनाडु हत्याकांड, कमल हासन की आमसभा, कर्णाटक समाचार
Loading...

नंदिश और स्वाति ने कमल हासन की इस सभा में बतौर दर्शक जाने का मन बनाया क्योंकि दोनों कमल हासन को पसंद करते थे. रैली में कमल हासन ने ज़ोरदार स्पीच दी और नंदिश व स्वाति भीड़ में खड़े ताली बजाते रहे. तभी, स्वाति को एक आदमी ने देख लिया जो उसका दूर का रिश्तेदार था. श्रीनिवास अपने कुछ रिश्तेदारों के साथ पहले ही होसूर पहुंच चुका था. इस आदमी का फोन मिलते ही श्रीनिवास कमल हासन की सभा में पहुंच गया.

श्रीनिवास ने वहां पहुंचते ही स्वाति और नंदिश को खोज निकाला और एक तरफ ले जाकर बातचीत शुरू हुई. स्वाति अपने बाप को देखकर बहुत घबरा गई थी और वह भीड़ का फायदा उठाकर वहां से नंदिश के साथ भाग जाना चाहती थी लेकिन श्रीनिवास के साथ कई लोग थे इसलिए स्वाति का इरादा कामयाब नहीं हुआ. बातचीत के दौरान डांटने, डराने और बहलाने फुसलाने के सारे तरीके श्रीनिवास अपना चुका था. आखिरकार, तय यह हुआ कि स्वाति और नंदिश सबके साथ पुलिस थाने चलें और वहीं फैसला होगा.

'ये कहां ले जा रहे हो हमें? रोको, गाड़ी रोको. नंदिश इनके इरादे गलत हैं, ये लोग कुछ भयानक...' स्वाति और नंदिश ने दूसरी दिशा में जा रही गाड़ी को रोकने की काफी कोशिश की लेकिन गाड़ी शिवनासमुद्र इलाके में नदी किनारे जाकर रुकी. एक दो लोगों ने स्वाति को काबू में किया और श्रीनिवास के साथ बाकी सबने मिलकर नंदिश को बुरी तरह पीटा.

मेरी लड़की से शादी करेगा तू, साले तुझे तो मैं सीधा करता हूं. बड़ा आया प्यार करने वाला... इसका आशिकी का भूत उतार दो और ऐसे कि इसकी बिरादरी के लोग फिर ऐसा करने से पहले सौ बार सोचें. बांध दो साले को. कहीं का नहीं छोड़ा इन दोनों ने, किसी को मुंह दिखाने लायक नहीं रहे हम.. कस के बांधो..


Honor killing story, honor killing in south india, tamilnadu double murder, public meeting of kamal hassan, Karnataka news, आॅनर किलिंग, दक्षिण भारत में आॅनर किलिंग, तमिलनाडु हत्याकांड, कमल हासन की आमसभा, कर्णाटक समाचार

स्वाति चिल्लाती रही और बुरी तरह पीटने के बाद नंदिश के हाथ-पैर बांधकर उसे कावेरी में फेंक दिया गया. नंदिश को नदी में फेंक दिए जाने के बाद स्वाति अपने बाप को गालियां देने लगी तो स्वाति को भी उसी तरह बांधकर नदी में फेंक दिया गया. दोनों को नदी में फेंकने के बाद श्रीनिवास अपने लोगों के साथ वहां से चला गया. एक हफ्ते पहले बेंगलूरु से 135 किलोमीटर दूर नदी में नंदिश की लाश तैरती हुई दिखाई दी. मंड्या पुलिस ने वहां पहुंचकर कार्रवाई शुरू की. 48 घंटों के भीतर ही स्वाति की लाश भी नदी में उतराती मिली.

तफ्तीश करती हुई पुलिस स्वाति के पिता श्रीनिवास तक पहुंच गई और पुलिस के हत्थे चढ़ने के बाद श्रीनिवास ने नंदिश और स्वाति की हत्या करना कबूल कर लिया. इस दोहरे हत्याकांड में श्रीनिवास का साथ देने वाले अन्य लोगों की तलाश फिलहाल जारी है.

ये भी पढ़ें

बीवी-बच्चों की जान ली और फिर माशूका ने भी दुत्कारा 'झूठे, मक्कार, फरेबी'
बॉयफ्रेंड ने पॉर्न VIDEO भेजा तो गर्लफ्रेंड ने दूसरे के साथ अपनी PORN फोटो भेजी
'मुझसे शादी करनी है तो मेरे बाप को मार डालो, वरना भूल जाओ मुझे'

PHOTO GALLERY : सच क्या है? मनोरमा के साथ जवानों ने रेप किया या वह आतंकी थी?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Bangalore से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 20, 2018, 8:32 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...