एक कैमरे ने कहा कि बीवी के कत्ल के वक्त वो पब में था, दूसरे ने साबित किया वो कातिल था

गीता को एनआरआई हरप्रीत से प्यार हुआ था और दोनों ने भागकर लव मैरिज की थी. एक वहम के कारण शादी नाकाम हुई और लंदन में 2009 में गीता के कत्ल के लिए दोषी करार दिए गए हरप्रीत को बाकी सज़ा काटने के लिए हाल में भारत शिफ्ट किया गया है.

Bhavesh Saxena | News18Hindi
Updated: September 6, 2018, 7:44 PM IST
एक कैमरे ने कहा कि बीवी के कत्ल के वक्त वो पब में था, दूसरे ने साबित किया वो कातिल था
सांकेतिक चित्र
Bhavesh Saxena | News18Hindi
Updated: September 6, 2018, 7:44 PM IST
एक वहम था जो धीरे धीरे शक बनता चला गया और उसे लगने लगा कि उसकी बीवी धोखा दे रही है. बातचीत या अपने शक को यकीन में बदलने के लिए कोई सबूत नहीं जुटाया बल्कि वहम को सच मान लिया और तय कर लिया कि धोखेबाज़ बीवी को रास्ते से हटा देगा. उधर, उसकी बीवी बरसों से ज़ुल्म सहकर तंग आ चुकी थी इसलिए उसने तय कर लिया था कि वह तलाक ले लेगी. बीवी का यह कदम उसे नागवार गुज़रा और एक शातिर की तरह साज़िश रचकर वह कातिल बन ही बैठा.

साल 2009 में गीता का कत्ल हुआ था जब उसने अपने पति हरप्रीत उर्फ सनी से तलाक लेने की कानूनी कार्रवाई शुरू कर दी थी. लेकिन, गीता और सनी की कहानी इससे करीब 9-10 साल पहले शुरू हुई थी जब लंदन के एक बस स्टॉप पर दोनों पहली बार मिले थे. 22 साल के सनी और 18 साल की गीता की आंखें चार हुईं और कम वक्त में ही दोनों एक दूसरे के हो जाने के लिए तैयार हो गए.

भारत के पंजाबी परिवार के लड़के सनी के साथ रिश्ता गहरा होता देखा तो कई बरसों से लंदन में ही रह रहे गीता के परिवार ने इसे ठीक नहीं समझा. गीता ने अपने परिवार को समझाने की कोशिश की लेकिन कोशिश नाकाम होती देखकर गीता ने अपने प्यार को तरजीह दी और उसने सनी के साथ हर कीमत पर शादी करने का फैसला कर लिया. गीता को रोकने के लिए उसके परिवार ने कई तरह के कदम उठाने शुरू कर दिए तो अब गीता के पास एक ही रास्ता था, सनी के साथ भाग जाने का.

अपने परिवार के विरोध को दरकिनार करते हुए गीता अपने प्रेमी सनी के साथ लंदन से बेल्जियम भाग गई. बेल्जियम से दोनों हॉलैंड गए और वहां शादी कर ली. शादी के बाद उन्होंने अपना जीवन शुरू किया और कुछ वक्त बाद दोनों सब ठीक हो जाने की तसल्ली करने के बाद लंदन लौट आए. लंदन में आने और शादी के कुछ ही साल बीतने के बाद गीता की ज़िंदगी ने एक अजीब करवट लेना शुरू कर दी.

गीता दो बच्चों की मां बन चुकी थी और अब सनी के बदले हुए रूप को देखकर वह हैरान थी. सनी न तो गीता को पहले की तरह प्यार करता था और न ही घर की ज़िम्मेदारी ठीक तरह से लेने को तैयार था. गीता एक रेडियो स्टेशन में बतौर रिसेप्शनिस्ट जॉब करने लगी थी लेकिन आए-दिन की बात थी कि मामूली बातों पर सनी मारपीट करता और गाली गलौज तो आम बात हो गई थी.

NRI murder case, murder in London, husband killed wife, murder in England, love sex aur dhokha, एनआरआई हत्याकांड, लंदन में हत्या, पत्नी की हत्या, इंग्लैंड समाचार, लव सेक्स और धोखा

एक बार गीता ने कार चलाते हुए एक गलत मोड़ पर कार मोड़ दी तो इसी बात पर नाराज़ होकर सनी ने उसे तमाचा रसीद कर दिया. ऐसी ही मामूली बातों पर सनी का गीता पर हाथ उठा देना आम हो चला था और गीता ने महसूस किया कि वह जब प्रेगनेंट थी तभी से सनी में इस तरह के बदलाव आए थे. प्रेगनेंसी के दौरान भी सनी ने उसके साथ मारपीट की थी. गीता ने सनी को कई बार समझाने और बात करने की कोशिश की लेकिन सनी हर बार टाल देता और उसमें कोई बदलाव नहीं आ रहा था.

गीता अपनी करीबी सहेलियों और परिवार के करीबी लोगों से कभी कभी कुछ इशारों में अपना दुखड़ा कहती लेकिन उसकी मदद के लिए बस एक ही रास्ता था कि वह अपने काम में मसरूफ रहे और सनी के साथ ज़्यादा वक्त बिताने से बचे. इसी तरह अपने बच्चों की परवरिश कर रही गीता बच्चों को एक केयर सेंटर में छोड़कर काम पर जाती और लौटते समय बच्चों को लेकर घर पहुंचती. एक तरह से सनी के साथ बातचीत करने से गीता बचने लगी थी.

सनी की आक्रामक फितरत कभी कभी जाग उठती तो वो गीता के साथ हर तरह की ज़बरदस्ती करता और गीता हर तरह के शारीरिक शोषण की शिकार होती रहती. गीता ने लव मैरिज की थी, वह भी घर के खिलाफ जाकर इसलिए परिवार से बहुत ज़्यादा मदद की उम्मीद उसे खुद भी नहीं थी. वह ऐसा जीवन ढोने के लिए खुद को मजबूर महसूस करने लगी थी. गीता की ज़िंदगी साल 2008 के बाद एक और मोड़ आया.


एक दिन गीता को किसी कलीग के साथ हंसते बोलते सनी ने देख लिया. सनी को वहम हो गया कि गीता का उस लड़के के साथ अफेयर है. सनी ने इस बात पर बेतहाशा झगड़ा किया और गीता के लाख समझाने के बावजूद वह मानने को तैयार नहीं हुआ कि गीता अपने कलीग के साथ थी और दोनों के बीच कोई रिश्ता नहीं है. इसके बाद अक्सर इसी बात को लेकर सनी उसके साथ मारपीट करने लगा था.

गीता ने अपनी एक सहेली से कहा भी था -

सनी बेवजह शक करने लगा है. एकदम पागलों की तरह बिहेव करता है. जैसे भूत सवार हो जाता है उसके सिर पर और वह कुछ सुनने को तैयार ही नहीं होता. अपने वहम को सच मान चुका है और अब मुझ पर पहले से ज़्यादा ज़ुल्म करता है. मैं आजिज़ आ चुकी हूं इस ज़िंदगी से. क्या करूं, क्या नहीं, कुछ समझ नहीं आता.


कुछ मशवरों के बाद आखिरकार गीता ने सनी से तलाक लेने का फैसला कर ही लिया. परिवार से खास मदद की उम्मीद न होने को लेकर इस फैसले में गीता को काफी देर लगी लेकिन उसने एक दिन सनी को अपना फैसला सुना ही दिया. अब सनी को जैसे एक और ट्रिगर मिल गया. एक तो पहले ही सनी अपने मन में एक वहम पाले बैठा था और अब उसे लगा कि 'लोग क्या कहेंगे? समाज में उसकी क्या इज़्ज़त रह जाएगी?'

ये खयाल तो वो थे जो सनी ने ज़ाहिर किए थे लेकिन शायद सनी को डर यह था कि कोर्ट तक बात पहुंचेगी तो यह असलियत खुल जाएगी कि वह बरसों से गीता को प्रताड़ित कर रहा है. ये बात जब लोगों तक पहुंचेगी तब उसकी इज़्ज़त का कितना नुकसान होगा, इस डर ने भी सनी को दहला दिया था. अब सनी ने अपने तमाम कॉंप्लेक्सों से उबरने के लिए मन ही मन फैसला कर लिया था कि वह गीता को ऐसा कदम उठाने से पहले ही खामोश कर देगा.

NRI murder case, murder in London, husband killed wife, murder in England, love sex aur dhokha, एनआरआई हत्याकांड, लंदन में हत्या, पत्नी की हत्या, इंग्लैंड समाचार, लव सेक्स और धोखा

सनी ने साज़िश रचना शुरू की और इस बारे में कुछ लोगों से बातचीत की. एक आदमी ने सनी से कहा कि 'मारना ही है तो खुद क्यों नहीं मारता?' तब सनी ने उसे जवाब दिया कि 'मैं बेवकूफ नहीं हूं कि यह बेवकूफी खुद करूं. ऐसी बेवकूफियां करने वालों की कमी नहीं है. पैसा दूंगा तो बहुत मिलेंगे ये काम करने के लिए.' कुछ ही दिनों में सनी को कड़ियां मिलती चली गईं और 5 हज़ार पाउंड में गीता के कत्ल की सुपारी उसने दे दी.

सनी ने पूरी तैयारी कर ली थी कि इस कत्ल का इल्ज़ाम उसके सिर न आए इसलिए उसने कॉंट्रैक्ट किलर्स के साथ मिलकर गीता के कत्ल के लिए जगह और वक्त पहले से तय किया. उसने यह भी प्लैन कर लिया था कि इस तय वक्त पर वह एक ऐसे पब में रहेगा जहां कैमरे लगे हों और कत्ल के वक्त वहां उसकी मौजूदगी का सबूत तैयार रहे. अब आया कत्ल का दिन.

साल 2009 में 16 नवंबर को अपने बच्चों को केयर सेंटर से लेने के लिए जब गीता पहुंची तभी कुछ हमलावरों ने एक तेज़ धार के 14 इंच के बड़े छुरे से उस पर हमला किया. गीता ने बचाव की कोशिश की और इस कोशिश में गीता का एक हाथ कटकर शरीर से अलग हो गया. इस छुरे से गीता पर कई वार किए गए ताकि उसके बचने की कोई गुंजाइश न रहे. गीता दम तोड़ चुकी थी और हमलावर मौके से फरार हो चुके थे.

सनी कामयाब हो चुका था लेकिन अभी हत्या का पुलिस और कोर्ट केस बाकी था. पुलिस ने जल्द ही पूरी कहानी समझ ली और कोर्ट में सुनवाई के दौरान सनी ने कहा कि 'गीता मेरा पहला प्यार थी और मैंने उसका कत्ल न तो किया है, न ही करवाया है. मैं पब में था और मुझे कोई खबर नहीं थी कि गीता पर हमला होने वाला है.' लेकिन सबूतों और गवाहों ने सनी के सारे राज़ खोल दिए.

पब के कैमरे में तो सनी नज़र आ ही रहा था लेकिन सनी से एक चूक यह हो गई थी कि कत्ल के कुछ ही दिन पहले तेज़ धार का बड़ा छुरा खरीदने के लिए वह खुद ही गया था. जिस हथियार से गीता का कत्ल हुआ था, वह खरीदते हुए सनी की तस्वीरें दुकान के सीसीटीवी में कैद हो गई थीं और इन तस्वीरों को जब कोर्ट में पेश किया गया तब सनी को भी अंदर ही अंदर एहसास हो चुका था कि उससे ये गलती हो गई.


NRI murder case, murder in London, husband killed wife, murder in England, love sex aur dhokha, एनआरआई हत्याकांड, लंदन में हत्या, पत्नी की हत्या, इंग्लैंड समाचार, लव सेक्स और धोखा

बहरहाल, कोर्ट ने साल 2010 में सनी यानी हरप्रीत औलख को अपनी पत्नी गीता के कत्ल की साज़िश और सुपारी देने का दोषी माना और उसे 28 साल कैद की सज़ा सुनाई. करीब आठ साल इंग्लैंड की जेल में सज़ा काटने के बाद सनी ने बाकी की सज़ा अपने शहर अमृतसर की जेल में काटने की अर्ज़ी दी थी जो मंज़ूर कर ली गई. कुछ ही दिन पहले यानी 28 अगस्त को सनी को अमृतसर जेल में बाकी की सज़ा काटने के लिए भारत लाया गया.

ये भी पढ़ें

LoveSexaurDhokha: अमीर लड़कियों को फंसाने में माहिर था फ्रॉड लड़का
फेसबुक के ज़रिये मिला कातिल, 38 साल बाद खुला कत्ल का राज़ लेकिन...
LoveSexaurDhokha: वो चाहती थी कि पति का किसी लड़की से अफेयर सामने आए
अहमदाबाद : पहला आशिक कायर निकला तो दूसरे से करवाया पति का कत्ल
LoveSexaurDhokha: हमबिस्तर होने से क्यों कतराता था उसका पति?

PHOTO GALLERY : मार्कस की हत्या के जुर्म में शेक्सपियर दोषी करार
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर