जिस मेले में विवेकानंद ज्ञान दे रहे थे, वहीं शिकार तलाश रहा था ये कातिल

यह कहानी दुनिया के पहले सीरियल किलर की है, जो भेस और पहचान बदलने में माहिर था. उसने अपना नाम नॉवेल के मशहूर जासूस शर्लेक होम्स के नाम पर रखा और एक ऐसी डरावनी इमारत बनवाई जिसमें वो अपने कत्ल के राज़ छुपा सकता था.

Bhavesh Saxena | News18Hindi
Updated: March 4, 2019, 8:32 PM IST
जिस मेले में विवेकानंद ज्ञान दे रहे थे, वहीं शिकार तलाश रहा था ये कातिल
प्रतीकात्मक तस्वीर.
Bhavesh Saxena | News18Hindi
Updated: March 4, 2019, 8:32 PM IST
उस तीन मंज़िला इमारत के भीतर जाना जान जोखिम में डालने से कम नहीं था. इमारत की पहली मंज़िल पर कुछ दुकानें और दफ्तर थे और बाकी पर कई कमरे. भीतर से, गौर से देखने पर पता चलता था कि कमरे साउंड प्रूफ थे. इन कमरों से खुफिया रास्ते निकलते थे. दालानों के गलियारे भूल भुलैया जैसे थे, जिनमें कोई भी खो सकता था. कई जगह सीढ़ियां थीं. ऊपरी मंज़िल के कमरों में खास पैराशूट का इंतज़ाम था जिनके ज़रिये सीधे बेसमेंट तक गिरा जा सकता था. और, बेसमेंट में एसिड के पूल थे, क्विकलाइम भरे गड्ढे यानी पूरा कब्रिस्तान. इस इमारत को 'कत्ल का किला' कहा जाता था. ये कहानी इस किले के मालिक यानी ख़ूंखार कातिल की है.

READ: सबसे खतरनाक जेल तोड़कर भागने की कहानी

साल 1885 में 24 साल का हरमन अपनी नौजवान बीवी को छोड़कर शिकागो पहुंचा. उसकी एक ही तमन्ना थी, इतिहास में अमर हो जाने की. शिकागो के जैक्सन पार्क के पास एक फार्मेसी में हरमन ने काम शुरू करने से पहले अपना नाम बदला. हरमन हमेशा से सर आर्थर कॉनन डायल के जासूसी उपन्यासों का फैन रहा था और उसे इन उपन्यासों का जासूस शर्लेक होम्स बेहद पसंद था. नाम, पहचान और भेस बदलने में माहिर हरमन ने अपना नया नाम रखा एचएच होम्स.



READ : जब चापो मारा गया! फिर उसकी फैमिली और कार्टेल का क्या हुआ?

होम्स ने उस फार्मेसी में काम करते हुए कम वक्त में अपनी साख जमाई और उसके इर्द गिर्द की काफी सारी खाली ज़मीन खरीद ली. साल 1887 से होम्स ने उस ज़मीन पर अपनी इमारत बनवाने का काम शुरू किया. एक साल में दो मंज़िला इमारत वहां खड़ी हो गई. इस इमारत के भीतर का माजरा होम्स के कुछ खास लोगों को ही पता था लेकिन उस डिज़ाइन का मकसद किसी को नहीं.

पहली मंज़िल पर बने दफ्तर में ज्वैलरी के काउंटर पर कॉनर काम करने लगा था. कॉनर पास के ही इलाके में अपनी बीवी जूलिया और छोटी सी बच्ची पर्ल के साथ रहता था. होम्स की नौकरी करते हुए कॉनर से मिलने कई बार जूलिया वहां आती थी. जूलिया पर होम्स का दिल आ चुका था और उसने अपनी दौलत, अपने रुतबे का आकर्षण दिखाना शुरू किया.

नौकर की बीवी के साथ अफेयर
Loading...

जूलिया की तमाम हसरतें महंगे तोहफों से पूरी करते हुए जल्द ही होम्स ने जूलिया को अपना बना लिया. दोनों के बीच एक प्रेम संबंध शुरू हो गया. जूलिया और होम्स के इस अफेयर की खबर काफी वक्त बाद कॉनर को हुई तो वह अंदर से टूट गया. उसने होम्स की नौकरी छोड़ी लेकिन जूलिया को नहीं बताया. उस रात कॉनर ने जूलिया के साथ सो रही अपनी बच्ची पर्ल का माथा चूमा, मन ही मन उसे सॉरी कहा और वह बगैर कुछ बताए घर छोड़कर कहीं चला गया.

First serial killer, most prolific serial killer, murder of beloved, Chicago religion parliament, conman murders, पहला सीरियल किलर, सबसे खतरनाक सीरियल किलर, प्रेमिका की हत्या, शिकागो धर्म संसद, दोस्त की हत्या
होम्स की इमारत का 19वीं सदी में लिया गया चित्र, जिसे 'कत्ल का किला' कहा गया.


कुछ दिनों की तलाश के बाद जब कॉनर का कुछ पता नहीं चला तो होम्स के कहने पर जूलिया अपनी बच्ची के साथ होम्स के साथ ही रहने लगी. इसके बाद होम्स के लिए दोनों कुछ ही दिनों में बोझ बनने लगे तो होम्स ने दोनों से छुटकारा चाहा. छुटकारे की तरकीब क्या थी? साल 1891 के क्रिसमस के बाद से जूलिया और पर्ल को किसी ने नहीं देखा. कई दिनों तक दोनों के गायब हो जाने पर जब पूछताछ हुई तो होम्स ने कहा कि जूलिया प्रेगनेंट थी लेकिन बच्चा नहीं चाहती थी इसलिए अबॉर्शन के दौरान उसकी जान चली गई. बच्ची के बारे में उसने सबसे कहा कि उसने पर्ल को अपने किसी रिश्तेदार के यहां भेज दिया.

एक दोस्ती, जो आगे रंग लाने वाली थी
होम्स की ज़िंदगी में फिर मई 1892 में एमलिन आई. एमलिन का बॉयफ्रेंड भी होम्स का नौकर था और होम्स ने एमलिन को भी अपने यहां काम पर रखा. दोनों के बीच अफेयर शुरू हुआ और उसी साल दिसंबर में एमलिन भी वैसे ही गायब हो गई, जैसे जूलिया हुई थी.

जूलिया और एमलिन के एपिसोड के दौरान ही होम्स की दोस्ती एक कारपेंटर बेंजामिन से हुई थी. बेंजामिन एक पुराना अपराधी था और होम्स को पहली नज़र में ही समझ आ गया था कि वह बेंजामिन का इस्तेमाल कर सकता था. बेंजामिन कई तरह के ऐसे ढांचे और औज़ार बनाने में माहिर था जो अपराध करने या छुपाने के काम आ सकते थे. जल्द ही बेंजामिन को होम्स ने अपना राइट हैंड बना लिया था और वह अपनी इमारत की तीसरी मंज़िल बनाने और भीतर और कुछ खास कामों में उसकी मदद लेने लगा था.

एक साज़िश, फिर उसी तरह शिकार
इसी बीच, होम्स की मुलाकात मिनी नाम की लड़की से हुई, जो कुछ ड्रामों में एक्टिंग कर चुकी थी. मिनी की खूबसूरती का दीवाना हुआ होम्स उसे अपने साथ काम करने का प्रपोज़ल देने से रुक नहीं पाया. मिनी ने भी उसकी स्टेनो की नौकरी मंज़ूर कर ली. जल्द ही मिनी पर भी होम्स का जादू चला और दोनों के बीच गहरा रिश्ता बनने लगा. रिश्ता गाढ़ा होते ही होम्स ने मिनी के सामने एक प्रपोज़ल रखा.

होम्स : मेरा एक पुराना और खास दोस्त है बॉंड. वो तुम्हारी टेक्सस की प्रॉपर्टी के अच्छे दाम दिलवा सकता है.
मिनी : अच्छा. तो हम यानी मैं उसे अच्छा कमीशन दे सकती हूं.
होम्स : शायद वो कमीशन न चाहे क्योंकि मेरी दोस्ती के लिए वो काम करेगा. तुम बस उसके नाम डीड लिख दो ताकि काम जल्दी और आसानी से हो सके.

डीड उस वक्त अमेरिका में पावर ऑफ अटॉर्नी जैसा एक कानूनी दस्तावेज़ होता था. मिनी को किसी तरह होम्स ने डीड के लिए तैयार कर लिया और अप्रेल 1893 में मिनी ने डीड बॉंड के नाम लिख दी. मिनी को यह बात कभी पता ही नहीं चली कि होम्स का ही एक और जाली नाम बॉंड भी था. होम्स ने ये डीड कुछ दिनों बाद बेंटन के नाम कर दी जो बेंजामिन का जाली नाम था. ये बेंजामिन के काम की कीमत या इनाम था. अब वह मिनी की बड़ी प्रॉपर्टी का मालिक हो चुका था.

मिनी को होम्स पर भरोसा था लेकिन वह कुछ कुछ दिनों में प्रॉपर्टी के बारे में पूछताछ करती थी. होम्स उसे टाल रहा था लेकिन अब होम्स को समझ आ गया था कि ज़्यादा देर वह मिनी से सच छुपा नहीं पाएगा. होम्स ने इसके लिए एक चाल चली.

First serial killer, most prolific serial killer, murder of beloved, Chicago religion parliament, conman murders, पहला सीरियल किलर, सबसे खतरनाक सीरियल किलर, प्रेमिका की हत्या, शिकागो धर्म संसद, दोस्त की हत्या
शिकागो में धर्म संसद का चित्र


साल 1893 में 1 मई से शिकागो में वर्ल्ड फेयर यानी विश्व मेला शुरू होने वाला था जिसमें दुनिया के करीब ढाई करोड़ लोग शिरकत करने वाले थे. इसे कोलंबियन एक्सपोज़िशन के नाम से भी जाना जा रहा था. यहां विश्व धर्म संसद होने वाली थी, दुनिया भर के कलाकार, वैज्ञानिक, विद्वानों के साथ करोड़ों पर्यटक यहां आने वाले थे. लिहाज़ा यहां की भीड़ भाड़ का फायदा उठाया जा सकता था. इसी विश्व मेले के लिए एक जगह थी लिंकन पार्क.

होम्स ने लिंकन पार्क में किराये का फ्लैट लिया और वह मिनी को लेकर वहां पहुंचा. वहां उसने मिनी को अपनी बीवी बताकर ठहराया. होम्स ने किसी बहाने से वहां मिनी की बहन नैनी को भी बुलाया. नैनी के साथ एक प्लैन बनाने के बाद होम्स ने नैनी से कहा कि वह आंटी को खबर कर दे. नैनी ने अपनी आंटी को चिट्ठी लिखकर बताया कि वह और मिनी भाई हैरी के साथ यूरोप टूर पर जा रहे हैं. इस चिट्ठी को होम्स ने अपने कब्ज़े में लिया और 5 जुलाई 1893 के बाद मिनी और नैनी को किसी ने कभी नहीं देखा.

शिकागो विश्व मेले की भीड़ का फायदा
होम्स के मुंह को खून इस तरह लग चुका था कि वह कमउम्र की लड़कियों और दूसरी औरतों को अपना शिकार बनाता चला गया. इसी विश्व मेले में कई लड़कियों को नौकरी का लालच देकर वह अपनी उस इमारत में लेकर आता. होम्स की ज़रूरत पूरी होते ही हर लड़की गायब हो जाती थी. होम्स कितनी लड़कियों और औरतों को इस तरह गायब कर चुका था, उसे ठीक से खुद भी याद नहीं था.

इसी विश्व मेले की भीड़ भाड़ में होम्स से एक गलती होने वाली थी और उसे अंदाज़ा भी नहीं था कि एक धोखा उसे महंगा पड़ने वाला था. नैनी के गायब होने के बाद इसी विश्व मेले में बेंजामिन एक दिन होम्स से टकराया और उसने इशारा किया कि वह उसकी इमारत के साथ ही नैनी का राज़ भी जानता था. बेंजामिन ने होम्स को ब्लैकमेल करने के इशारे दिए. होम्स ने अब बेंजामिन को रास्ते से हटाने का प्लैन बनाया.

First serial killer, most prolific serial killer, murder of beloved, Chicago religion parliament, conman murders, पहला सीरियल किलर, सबसे खतरनाक सीरियल किलर, प्रेमिका की हत्या, शिकागो धर्म संसद, दोस्त की हत्या
शिकागो वर्ल्ड फेयर की तस्वीर.


दोस्त की मदद से दोस्त की ही हत्या का प्लॉट
बेंजामिन को सबक सिखाने के मकसद से होम्स जब भेस बदलकर एक रात उसके घर पहुंचा तो बेंजामिन घर पर नहीं था. घर पर उसकी बीवी और बच्चे थे. बेंजामिन की बीवी को देखकर होम्स के दिल में उसे भी अपना बनाने की तमन्ना जाग उठी. अब होम्स ने लौटकर एक स्कीम तैयार की और दोस्त व पहले भी कई किस्म के जरायम में साथी रह चुके बेंजामिन को बुलाकर स्कीम समझाई.

मैंने इंश्योरेंस एजेंट से बात करके सब कुछ तय कर लिया है. तुम्हें एक भारी भरकम रकम का लाइफ इंश्योरेंस करवाना है. फिर तुम्हारी मौत होगी. घबराओ नहीं बेंजामिन, यह मौत नकली होगी. तुम्हें क्लोरोफॉर्म देकर मैं तुम्हें बेहोश कर दूंगा और तुम्हारी नकली लाश तुम्हारे एक हमशक्ल की असली लाश के साथ बदल दी जाएगी. मैं तुम्हारे उस हमशक्ल को भी ढूंढ़ चुका हूं. इंश्योरेंस की लाखों की रकम मिलेगी और तुम ज़िंदगी भर की दौलत के साथ फैमिली के साथ लंदन शिफ्ट हो जाओगे.


बेंजामिन को आइडिया पसंद आया. वह राज़ी हो गया. बेंजामिन की बीवी सिर्फ ये पता था कि अगर उसे कुछ हो जाए तो वह सिर्फ होम्स पर विश्वास करे, इसके अलावा उसे प्लैन के बारे में कुछ नहीं पता था. होम्स ने सारी कार्रवाई करने के बाद जब बेंजामिन की मौत के नाटक का वक्त आया तो बेंजामिन को सचमुच मौत के घाट उतार दिया. उसके बाद उसने उसकी बीवी को अपने साथ लेकर कई जगह सफर किया और इंश्योरेंस की रकम उसकी बीवी के मारफत हासिल करने की कोशिश की.

होम्स ऐसे साबित हुआ पहला सीरियल किलर
कैनेडा होते हुए होम्स यूरोप भागने की तैयारी में था लेकिन आखिरकार पकड़ा गया. ट्रायल के दौरान उसने कई बार कहा कि बेंजामिन ज़िंदा है और यह सब मौत का नाटक था. लेकिन बेंजामिन के हमशक्ल का झूठ भी पकड़ा गया और ट्रायल में उसे बेंजामिन और उसकी दो बेटियों की हत्या का दोषी पाया गया. जब होम्स को दोषी करार दिया गया तो उसने उन कत्लों के बारे में भी बताया जो उसने किए थे.

होम्स : हां, हां मैंने मारा. सबको मार डाला मैंने.
अफसर : सबको मतलब? किसको?
होम्स : सबको. मुझे याद नहीं लेकिन शायद दो सौ से ज़्यादा जानें ले चुका हूं मैं.
अफसर : 200! पागल तो नहीं हो गए हो? ठीक ठीक बताओ...
होम्स : तुम मेरे घर जाकर देखो. वो घर नहीं मेरा किला है, कत्ल का किला. उसके तलघर में तुम्हें मौत नाचती दिखाई देगी...

कड़ी पूछताछ के बाद होम्स ने अपनी याददाश्त के हवाले 27 लोगों की हत्या का दावा किया. हालांकि, इस दावे से बहुत कम सिर्फ 9 हत्याओं का दोष होम्स के खिलाफ साबित हो सका. लेकिन, उस वक्त यह आंकड़ा भी बहुत बड़ा था क्योंकि ये अमेरिका ही नहीं, दुनिया के पहले सीरियल किलर का केस था, जो पकड़ा गया था और खुद कबूल कर रहा था.

First serial killer, most prolific serial killer, murder of beloved, Chicago religion parliament, conman murders, पहला सीरियल किलर, सबसे खतरनाक सीरियल किलर, प्रेमिका की हत्या, शिकागो धर्म संसद, दोस्त की हत्या
एचएच होम्स का 1895 में लिया गया चित्र.


सज़ा ए मौत से पहले जेल में होम्स ने अपनी आत्मकथा में लिखा -

जैसे एक कवि खुद को गुनगुनाने से रोक नहीं सकता, उसी तरह मैं भी खुद को कत्ल करने से नहीं रोक सकता था. अब ये सच है तो है, मैं कुछ नहीं कर सकता.


दो साल से ज़्यादा वक्त तक चले कोर्ट केस के बाद जेल में बंद होम्स को साल 1896 में सज़ा ए मौत दे दी गई. इस बीच, उसकी इमारत 'कत्ल के किले' में 1895 में आग लगी लेकिन भारी नुकसान के बाद इमारत बच गई. होम्स के मरने के बाद साल 1938 तक इस इमारत में अमेरिकी डाक विभाग का दफ्तर रहा और वर्तमान तक इस इमारत का उपयोग अमेरिकी डाक विभाग की एंगलवुड शाखा करती है.

(यह कहानी मीडिया में रही खबरों और लेखों पर आधारित है.)

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

अपराध की और कहानियों के लिए क्लिक करें

वो उसी डायरेक्टर को चाहती थी, जिसके साथ उसकी एक्ट्रेस बेटी का अफेयर था!
70 वर्षीय बुज़ुर्ग के परिवार को मंज़ूर नहीं था उसका प्रेम प्रसंग!
सबसे खतरनाक जेल तोड़कर भागने की कहानी, औज़ार थे कागज़, चम्मच और कटे बाल

PHOTO GALLERY : इस बार चापो खोज पाएगा जेल से भागने का रास्ता?
Loading...

और भी देखें

पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...