ये हैं अंडरवर्ल्ड के दो 'बौने', जिनकी दहशत और दरिंदगी बन गई दास्तान

ये हैं अंडरवर्ल्ड के दो 'बौने', जिनकी दहशत और दरिंदगी बन गई दास्तान
सांकेतिक चित्र

मैक्सिकन नार्को डॉन एल चापो को अमेरिका में दोषी करार दिया जा चुका है. चापो और इटली के कुख्यात कोसा नोस्त्रा के सरगना के बीच कई बातें दिलचस्प रहीं. दोनों खूंखार थे, गंवार थे, बेताज बादशाह थे लेकिन तरीके व हालात अलग थे. पूरी कहानी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 19, 2019, 9:12 PM IST
  • Share this:
'वह अपराध किसी अनाड़ी की फूहड़ता है, जिस पर पछतावा हो.'
- पीजी वोडहाउस, मशहूर लेखक

जुर्म की दुनिया में उसकी सल्तनत पर कोई उंगली नहीं उठा सकता था. उसका खौफ ही उसकी पहचान थी. लेकिन, एक ऐसा दौर आया जब उसके खिलाफ कुछ आवाज़ें बुलंद होने का खतरा पैदा हुआ. तब उसने एक और खौफनाक कदम उठाया और पूरा अंडरवर्ल्ड थर्रा उठा. लेकिन, इस कत्ल के बाद खामोश न रह पाना सिस्टम की मजबूरी बन गई थी.

READ: दुश्मनों को ज़िंदा दफनाता था चापो!
इटली के सिसली राज्य का कोसा नोस्त्रा गैंग दुनिया के सबसे बदनाम आपराधिक गिरोहों में से एक था और इसका सरगना था सैल्वातोर 'तोतो' रीना. रीना इस कदर खतरनाक था कि उसे अंडरवर्ल्ड और अंडरकवर एजेंसियों के बीच 'द बीस्ट' यानी जंगली जानवर के नाम से जाना जाता था. जब रीना को अपनी साख पर खतरा मंडराता दिखा तो उसने एक हाई प्रोफाइल किडनैपिंग की.



READ: बीवियों, महबूबाओं की जासूसी करता था 'बौना'

एक 13 साल का लड़का बहुत पीटे जाने के बाद ज़ख्मी हालत में एक कुर्सी से बंधा हुआ पड़ा था. उस छोटे से अंधेरे और डरावने कमरे में चीखों के बाद कराहें गूंज रही थीं. उस कमरे का दरवाज़ा खुला और उस अधमरे लड़के के सामने रीना अपने 17 साल के बेटे और एक दो खास साथियों के साथ पहुंचा. रीना ने आंख से एक इशारा किया और आगे का भयानक खेल शुरू हुआ.

READ: कितनी लाशों पर खड़ा है बौना?

el chapo guzman, chapo guzman, escobar, pablo escobar, el chapo prison, एल चापो की कहानी, Drugs mafia, underworld of America, story of underworld don, mexican mafia, story of el chapo, ड्रग्स माफिया, अमेरिका का अंडरवर्ल्ड, अंडरवर्ल्ड डॉन की कहानी, मैक्सिकन माफिया

रीना के राइट हैंड ने लोहे की एक सख़्त ज़ंजीर रीना के नौजवान बेटे को दी. उसने अपने बाप यानी रीना की तरफ हैरत से देखा.

कोसा नोस्त्रा ज़िंदाबाद. कोसा नोस्त्रा को रीना का वारिस चाहिए भी और उसका दम भी देखना है. तेरे बाप का नाम दहशत है. अब तुझे दहशत की इस विरासत को संभालने का सफर शुरू करना है. ये नर्म मुलायम चमड़ी वाला लड़का तेरी शुरूआत है. इस ज़ंजीर से इसकी खाल खींचकर इसे मौत के घाट उतार दे और अपने बाप का नाम संभाल बेटा.


रीना के बेटे ने बड़ी मुश्किल से और बड़ी घबराहट के साथ पहले कत्ल को किसी तरह अंजाम दिया था और तभी उसने अपने खूंखार बाप का भयानक चेहरा देखा था जिससे पूरा अंडरवर्ल्ड थर्राता था. बात यहीं खत्म नहीं हुई. अगवा किए गए इस लड़के के कत्ल के बाद लाश को एसिड में फेंककर गला दिया गया था. इस कत्ल के बाद ये पैगाम साफ तौर से हर विरोधी खेमे तक पहुंच चुका था कि रीना न तो अमन की वकालत करता था और न ही अपने खिलाफ उठने वाली आवाज़ को ज़्यादा देर सहन करता था.

READ : ये है 'बौने' का 'लॉलीपॉप'

साल 1975 के आसपास से सिसली के अंडरवर्ल्ड में कोसा नोस्त्रा गैंग की शुरूआत करने वाले रीना ने अगले तकरीबन दो दशकों तक इटली में भयानक आतंक मचाया था. 1993 में रीना को गिरफ्तार किए जाने के बाद उसके खिलाफ ट्रायल चला था और उसे एक नहीं बल्कि कई उम्र कैदों की सज़ा हुई थी. साल 2017 में रीना जेल में कैंसर के इलाज के दौरान मर गया लेकिन मरते वक्त तक उसने पछतावे या अपने जरायम को लेकर कोई ऐसी सफाई नहीं दी जिससे उसे किसी भी तरह संवेदनशील माना जा सकता.

'गॉडफादर' के गैंग में 'गेम ऑफ थ्रोन्स'

इटली के कोसा नोस्त्रा के डॉन रीना के साथ मैक्सिको के सीनालोआ कार्टेल के सरगना एल चापो का कोई सीधा संबंध नहीं रहा, लेकिन दोनों डॉन के जीवन और तौर तरीकों में कई तरह की समानताएं और एक ही तरह की स्थितियों काम को अंजाम देने के तरीकों में कुछ अंतर जानना दिलचस्प है.

'क्रांति और अपराध, दोनों गरीबी से पैदा होते हैं' - अरस्तु
इटली के कार्लियान इलाके में गरीबी के हालात में पैदा हुए और पले बढ़े रीना ने जुर्म की दुनिया में कदम टीनेज में रखा था. 1950-60 के दशक में इटली के इन इलाकों में चल रहे गैंग वॉर के हालात में रीना ने एक गैंग का दामन पकड़ा और अपना रसूख बनाना शुरू किया. 70 के दशक में रीना ने ड्रग्स के धंधे में कदम रखा और जल्द ही वह नार्को अंडरवर्ल्ड का बेताज बादशाह बनने के साथ ही सिसिलियन अंडरवर्ल्ड का सबसे खतरनाक डॉन बन गया.

el chapo guzman, chapo guzman, escobar, pablo escobar, el chapo prison, एल चापो की कहानी, Drugs mafia, underworld of America, story of underworld don, mexican mafia, story of el chapo, ड्रग्स माफिया, अमेरिका का अंडरवर्ल्ड, अंडरवर्ल्ड डॉन की कहानी, मैक्सिकन माफिया

इसी तरह, एल चापो भी मैक्सिको के सीनालोआ प्रांत में एक गरीब किसान परिवार की औलाद था. चापो के बाप का अफीम का छोटा सा खेत था और यही चापो की पहली पाठशाला बना था. चापो ने भी टीनेज में अपने बाप और गांव को छोड़कर अपराध जगत में नाम बनाने के लिए एक स्थापित गैंग का सहारा लिया. उसने एक डॉन के साथ काम शुरू किया और 80 के दशक के अंत में अपना गिरोह सीनालोआ कार्टेल बनाया.

दोनों में एक समानता यह भी थी कि दोनों ही प्राइमरी स्कूल के बाद कभी पढ़े नहीं थे. रीना ने कहा भी था 'मैं प्राइमरी स्कूल तक पढ़ा लेकिन कोसा नोस्त्रा में करियर बनाने के लिए किसी डॉक्टरेट की ज़रूरत थी भी नहीं.' इसी तरह तीसरी क्लास तक पढ़ने के बाद चापो भी अपने बाप के साथ अफीम के धंधे में आ गया था.

अंडरवर्ल्ड में दोनों को मिला एक ही नाम
कोसा नोस्त्रा के मुखिया रीना और सीनालोआ कार्टेल के डॉन एल चापो को अंडरवर्ल्ड में एक ही नाम दिया गया था 'बौना'. दोनों ही छोटे कद के थे इसलिए दोनों को ये नाम मिला था. स्पैनिश में चापो का मतलब बौना है और सिसली की भाषा में तोतो का मतलब भी. इस नाम के अलावा दोनों को एक एक नाम और मिला था. 'बॉस ऑफ बॉसेज़' कहे जाने वाले रीना को दरिंदगी के लिए 'ला बेल्वा', अंग्रेज़ी में 'द बीस्ट' यानी जानवर कहा जाता था और चापो को फुर्ती के हुनर की वजह से 'एल रैपिडो' नाम मिला था.

एक ने सिस्टम को ललकारा दूसरे ने पुचकारा
रीना और चापो दोनों ही अपने अपने समय के खतरनाक डॉन रहे लेकिन सरकारों के साथ दोनों के रवैये में ज़मीन आसमान का फर्क था. मिज़ाज से ही आक्रामक रीना ने अपने वक्त में स्टेट और सिस्टम की रत्ती भर भी परवा न करते हुए खुली चुनौती दी और सीधी दुश्मनी मोल ली थी. उसने जजों, पत्रकारों, अफसरों और नेताओं का कत्ल करवाया. यहां तक कि सिसली के एक पूर्व राष्ट्रपति तक के कत्ल के पीछे रीना था. रीना के इन्हीं कदमों ने उसे खूंखार और बेहद खतरनाक डॉन का दर्जा दिलवाया था.

दूसरी तरफ, इस मामले में चापो के तरीके अलग थे. चापो ने भ्रष्टाचार का ज़हर घोला और पूरे सिस्टम को अपनी जेब में रखा. कस्टम, सुरक्षा और कानूनी विभागों में नीचे से अव्वल लेवल तक सबको चापो अच्छी खासी घूस खिलाता था. यहां तक कि चापो ने मैक्सिको के कई राष्ट्रपतियों तक को भारी भरकम यानी सैकड़ों मिलियन डॉलर्स तक की घूस दी थी. ऐसा नहीं कि चापो ने हत्याएं नहीं करवाईं, लेकिन उसने सिस्टम पर सीधा हमला नहीं किया.

ड्रग्स का कारोबार और अमेरिका से रिश्ता
रीना और चापो, दोनों ने ही ड्रग्स के कारोबार यानी नार्को अंडरवर्ल्ड में अपना दबदबा कायम किया लेकिन दोनों के हालात कुछ अलग थे. 70 के दशक में वियतनाम युद्ध के बाद बने सियासी हालात के चलते सिसली हेरोइन के उत्पादन और बिक्री का सबसे बड़ा केंद्र बन रहा था. माफिया से जुड़ चुके रीना ने इन हालात को अपने काबू में करने के लिए ड्रग्स कारोबार को अपने हाथ में लिया. हेरोइन की तस्करी का बाज़ार ऐसा था कि अमेरिका में बड़े दामों पर इसकी डिमांड थी. रीना ने सिसली से अमेरिका तक हेरोइन के कारोबार पर दबदबा इस तरह बनाया था कि उसकी तुलना कुख्यात डॉन एस्कोबार तक से की जाने लगी थी.

el chapo guzman, chapo guzman, escobar, pablo escobar, el chapo prison, एल चापो की कहानी, Drugs mafia, underworld of America, story of underworld don, mexican mafia, story of el chapo, ड्रग्स माफिया, अमेरिका का अंडरवर्ल्ड, अंडरवर्ल्ड डॉन की कहानी, मैक्सिकन माफिया
सिसिलियन डॉन रीना और मैक्सिकन माफिया एल चापो.


दूसरी तरफ, चापो ने भी मैक्सिको के सीनालोआ को ड्रग्स, खास तौर से मेथ और कोकीन का सबसे बड़ा हब बनाया. चापो ने भी अमेरिका में ड्रग्स की तस्करी की लेकिन चापो एक कदम और आगे निकला और उसने अमेरिका में ड्रग्स का कारोबार फैलाने के बाद दुनिया के और देशों में भी तस्करी की शुरूआत की. चापो का वक्त शीत युद्ध के साथ ही, ऑर्गेनाइज़्ड क्राइम के विस्तार का दौर था. एशिया में जहां दाऊद इब्राहीम जैसे डॉन सक्रिय थे, वहीं अमेरिका में चापो.

रीना और चापो दोनों ने ड्रग्स के कारोबार में मल्टीनेशनल गिरोह चलाए लेकिन चापो कुछ आगे निकला. दोनों ने ही कानून को कमज़ोर और लचर साबित किया. दोनों ने ही अपराध और पूंजीवाद के बीच की लकीर को धुंधला करने की कोशिश की जिसमें दोनों ही काफी हद तक कामयाब भी हुए.

दोनों की विरासत के लिए वारिस की उलझन
ट्रायल के बाद उम्र भर के लिए रीना के जेल जाने के बाद कोसा नोस्त्रा एक तरह से ढह गया. कई तरह के छोटे छोटे धड़े और डॉन उभरे और कोसा नोस्त्रा जितना बड़ा और शक्तिशाली गिरोह था, उसका दसवां भी नहीं बचा. इसी तरह पिछले करीब दो सालों से चापो के हिरासत में होने और ट्रायल में उसके दोषी करार दिए जाने के बाद सीनालोआ कार्टेल में भी वर्चस्व की लड़ाई जारी है.

चापो की विरासत संभालने के लिए भी कई तरह के गैंग उभर रहे हैं और आपसी रंजिश व हमलों का सिलसिला बना हुआ है. विशेषज्ञ मानते हैं कि चापो के कार्टेल का पतन नज़दीक है और यह भी कोसा नोस्त्रा की तरह बर्बाद हो जाएगा.

करप्शन की तरह ड्रग्स भी सोसायटी का हिस्सा है
नार्को ट्रैफिक एक सिस्टम है क्योंकि भ्रष्टाचार की तरह ड्रग्स भी समाज की जड़ों में घुल चुकी है. रीना हो या चापो, किसी के भी पतन से ड्रग्स अंडरवर्ल्ड खत्म हो जाएगा, ऐसा नहीं माना जा सकता. विशेषज्ञों का कहना है कि यह कहानी खत्म नहीं होगी, बस परदे पर किरदारों के चेहरे बदलते रहेंगे. नार्को अंडरवर्ल्ड के दोनों 'बौने' आखिरकार कानून के हत्थे चढ़े लेकिन इन दोनों ने ही ड्रग्स के ज़रिये दुनिया पर एक तरह से राज कायम कर साबित किया कि वो नहीं बल्कि बौना कानून और समाज ही था.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

अपराध की और कहानियों के लिए क्लिक करें

स्टूडेंट के साथ रिश्ते की ख्वाहिश में उसने रच डाली एक कत्ल की साज़िश
हर बीच पर घर, हीरों जड़ी पिस्तौल... ये थी चापो की आलीशान लाइफस्टाइल
सर्वेश की बीवी ने नेमप्लेट पर क्यों लिख दिया 'विजेता, W/O अंकुर चौहान'?

PHOTO GALLERY : चापो की आशिकी, अय्याशियों और रेप के किस्से
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज