मेक्सिको में तबाही का नाम है 'ड्रग वॉर', कोई गैंग चापो का दोस्त तो कोई दुश्मन

मेक्सिको में तबाही का नाम है 'ड्रग वॉर', कोई गैंग चापो का दोस्त तो कोई दुश्मन
एल चापो. सांकेतिक चित्र

मेक्सिकन नार्को टेररिज़्म यानी अमेरिका में ड्रग्स अंडरवर्ल्ड का दूसरा नाम बन चुके एल चापो को दोषी करार दिया जा चुका है. फिर भी लाखों हत्याओं के बावजूद मेक्सिको में ड्रग वॉर जारी है. मेक्सिको के बदनाम ड्रग्स तस्कर गिरोहों का कच्चा चिट्ठा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 20, 2019, 8:59 PM IST
  • Share this:
मेक्सिको की सड़कों पर आए-दिन खून खराबे की खबरें और मंज़र आम रहे हैं. किसी भीड़ को मौत के घाट उतार दिया जाना, लाशों के सिर काट दिए जाना, लाशें चौराहों पर टांग दिया जाना मेक्सिको के लोगों के लिए पिछले कुछ सालों से सिरदर्द बना हुआ है. इसकी वजह है मेक्सिको में लंबे समय से चल रहा ड्रग्स वॉर यानी ड्रग्स तस्करों के बीच गैंग वॉर.

'गॉडफादर' के गैंग में 'गेम ऑफ थ्रोन्स'

तबाही का आलम ये रहा है कि जिन आम लोगों का इस धंधे से कोई वास्ता नहीं, वो भी मारे जाते हैं. सड़कों पर चलने वाले, प्रवासी, पत्रकार और सरकारी अफसर किसी की जान महफूज़ नहीं रही. कॉंग्रेशनल रिसर्च सर्विस रिपोर्ट के आंकड़े कहते हैं कि साल 2006 से 2015 के बीच 80 हज़ार से ज़्यादा लोग इस ड्रग्स वॉर में मारे गए. पिछले तीन चार सालों में हुई मौतों के अनुमान से कहा जा रहा है कि मरने वालों का आंकड़ा सवा लाख के करीब है.



READ: दुश्मनों को ज़िंदा दफनाता था चापो!
अमेरिका में होने वाली ड्रग्स तस्करी में लिप्त मेक्सिको के ये गिरोह यानी ड्रग कार्टेल 29 बिलियन डॉलर सालाना तक का कारोबार करते हैं. इन गिरोहों में सबसे बड़ा और खतरनाक गिरोह है एल चापो का सीनालोआ कार्टेल. इसके अलावा भी कई कार्टेल मेक्सिको से तस्करी में सक्रिय हैं और इनमें से कुछ चापो के समर्थक हैं या रहे हैं और कुछ दुश्मन.

सीनालोआ फेडरेशन
कोकीन, गांजा और हेरोइन की खास तौर से तस्करी करने वाला यह गिरोह मेक्सिको में सबसे बड़े ड्रग कार्टेल के तौर पर कुख्यात है. इस कार्टेल का सरगना रहा है एल चापो, जिसके खिलाफ ट्रायल के बाद अमेरिकी अदालत ने पिछले दिनों उसे दोषी करार दिया है और सज़ा का ऐलान बाकी है. अमेरिका समेत पूरी दुनिया में ड्रग्स की तस्करी करने वाले इस गिरोह ने फ्रेंचाइज़ी और ड्रग पैडलर का एक बहुत बड़ा नेटवर्क खड़ा किया.

READ: बीवियों, महबूबाओं की जासूसी करता था 'बौना'

el chapo guzman, chapo guzman, escobar, pablo escobar, el chapo prison, एल चापो की कहानी, Drugs mafia, underworld of America, story of underworld don, mexican mafia, story of el chapo, ड्रग्स माफिया, अमेरिका का अंडरवर्ल्ड, अंडरवर्ल्ड डॉन की कहानी, मैक्सिकन माफिया

कॉंग्रेशनल रिसर्च सर्विस रिपोर्ट के मुताबिक सीनालोआ फेडरेशन की जड़ें चिहुआहुआ और कैलिफोर्निया जैसे बॉर्डर राज्यों में हैं, जहां से गिरोह का नियंत्रण किया जाता है. मेक्सिको में 60 फीसदी तक ड्रग्स कारोबार पर इसी गिरोह का कब्ज़ा है और 3 बिलियन डॉलर के आसपास इसकी कमाई मानी जाती है. चापो की गिरफ्तारी और ट्रायल के बाद इस गिरोह का भविष्य खतरे में दिख रहा है और अन्य गिरोहों से दुश्मनी यानी गैंग वॉर के चलते इस गिरोह के पतन की अटकलें तेज़ हैं.

जैलिस्को न्यू जनरेशन
साल 2011 में संभवत: पहली बार इस गिरोह का खुलासा तब हुआ था जब लॉस ज़ीटाज़ गिरोह के 35 लोगों की लाशें इस गिरोह ने पब्लिक प्लेस पर फेंक दी थीं. मेक्सिकन सरकार ने देश के सबसे खतरनाक गिरोह के तौर पर तब इस कार्टेल का नाम लिया था जब मई 2015 में इस गिरोह ने मेक्सिको सेना के एक हेलिकॉप्टर को ध्वस्त कर दिया था. रुबेन उर्फ एल मेंचो को इस कार्टेल का सरगना माना जाता है. पिछले कुछ वक्त से यह गिरोह चापो के सीनालोआ कार्टेल के खिलाफ हो चुका है.

READ: कितनी लाशों पर खड़ा है बौना?

लॉस ज़ीटाज़
मेक्सिको का ये गिरोह बेहद खौफनाक और अपनी बर्बरता के लिए बदनाम है. कुछ पुराने गिरोहों और मेक्सिकन मिलिट्री के कुछ लोगों ने मिलकर ये गिरोह बनाया था, जो ड्रग्स तस्करी के साथ ही प्रवासियों को निशाना बनाता है, जो जबरन वसूली के लिए पैसा नहीं देते. इस गिरोह की बर्बरता का सबूत ये है कि ये हत्याएं करने के वीडियो बनाकर इंटरनेट पर पोस्ट करता है. साथ ही, लाशों को पब्लिक प्लेस पर फेंक देता है और वहां अपना एक खास निशान 'ज़ेड 40' छोड़ देता है.

READ : ये है 'बौने' का 'लॉलीपॉप'

इस कार्टेल का सरगना मिगुएल उर्फ एल 40 या ज़ेड 40 को माना जाता रहा. यह भी माना जाता है कि मिगुएल की गिरफ्तारी के बाद उसके भाई ने कार्टेल पर कब्ज़ा कर लिया था. इस गिरोह के साथ चापो के गिरोह का टकराव पिछले दो दशकों से बना रहा.

el chapo guzman, chapo guzman, escobar, pablo escobar, el chapo prison, एल चापो की कहानी, Drugs mafia, underworld of America, story of underworld don, mexican mafia, story of el chapo, ड्रग्स माफिया, अमेरिका का अंडरवर्ल्ड, अंडरवर्ल्ड डॉन की कहानी, मैक्सिकन माफिया
सीएनएन.कॉम पर प्रकाशित ड्रग इन्फोर्समेंट एजेंसी की 2015 की एक रिपोर्ट पर आधारित यह ग्राफिक मेक्सिको के प्रमुख कार्टेल के वर्चस्व की लोकेशन दिखाता है. समय के साथ स्थितियां कुछ बदलती रही हैं लेकिन ड्रग्स तस्करी के लिए बदनाम इन गिरोहों की सक्रियता को इस ग्राफिक से समझा जा सकता है.


गल्फ कार्टेल
2000 के दशक में चापो के सीनालोआ कार्टेल का सबसे बड़ा प्रतिद्वंद्वी यही कार्टेल रहा. दक्षिण अमेरिका में इस कार्टेल का नेटवर्क बेहद बड़ा माना जाता है. कहा जाता है कि 2010 में लॉस ज़ीटाज़ के एक धड़े ने अलग होकर इस कार्टेल को खड़ा किया था, हालांकि इसकी जड़ें 1920 से मेक्सिको में मौजूद रहीं. कॉंग्रेशनल रिसर्च सर्विस रिपोर्ट के मुताबिक मेक्सिको के संगठित क्राइम के इतिहास में यह कार्टेल सबसे ज़्यादा हिंसक रहा.

बेल्ट्रान-लेव्या कार्टेल
आर्टूरो, कार्लोस, एल्फ्रेडो और हेक्टर, चार भाइयों को बेल्ट्रान लेव्या भाई के नाम से जाना जाता है. चापो के सीनालोआ के दोस्त ये भाई एक रंजिश के चलते चापो के खिलाफ हुए थे और उन्होंने इस गिरोह को खड़ा किया. अमेरिका से मेक्सिको तक हथियारों की तस्करी, कोकीन, गांजे और हेरोइन के साथ ही मेथ की तस्करी इस गिरोह के खास कारोबार रहे. हेक्टर बेल्ट्रान लेव्या उर्फ दि इंजीनियर या दि एच इस कार्टेल का सरगना रहा, जिसकी गिरफ्तारी के बाद 2014 से ये कार्टेल कमज़ोर पड़ गया. लेकिन, चापो की गिरफ्तारी के बाद ये गिरोह फिर अपना सिर उठा रहा है.

जुआरेज़ और तिजुआना कार्टेल
जुआरेज़ कार्टेल भी सीनालोआ से 2008 में एक दुश्मनी के चलते अलग होकर बना गिरोह रहा. विसेंट फ्यून्टस उर्फ एल वायसराय को जुआरेज़ कार्टेल का सरगना माना जाता रहा और सीनालोआ से अलग होने के चलते इस गैंग वॉर में काफी खून बहा था. 2014 में वायसराय की गिरफ्तारी के बाद ये कार्टेल एक तरह से न के बराबर रह गया. चापो के खिलाफ विसेंट उर्फ वायसराय सरकारी गवाह के तौर पर भी पेश हुआ और पिछले दिनों ही उसने चापो के खिलाफ गवाही दी.

इसी तरह, कुछ भाइयों ने मिलकर ड्रग्स कारोबार में जगह बनाने के लिए तिजुआना कार्टेल बनाया था. मेक्सिको और दक्षिणी कैलिफोर्निया के बीच ड्रग्स की तस्करी करने वाले इस गिरोह के सरगना यानी एरेलानो फेलिक्स भाई एक के बाद एक मारे गए और ये गिरोह भी तकरीबन खत्म हो गया. फिर भी चापो के कार्टेल के खिलाफ चल रही गैंग वॉर में इस गिरोह का इस्तेमाल कुछ धड़े करते रहे हैं.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

अपराध की और कहानियों के लिए क्लिक करें

लाश के पास पर्ची पर मिला फोन नंबर, फिर मिला एक प्रेमी और एक अफेयर
ये हैं अंडरवर्ल्ड के दो 'बौने', जिनकी दहशत और दरिंदगी बन गई दास्तान
स्टूडेंट के साथ रिश्ते की ख्वाहिश में उसने रच डाली एक कत्ल की साज़िश

PHOTO GALLERY : चापो की आशिकी, अय्याशियों और रेप के किस्से
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading