चापो का साम्राज्य: 700 करोड़ में प्रेसिडेंट बिका, हर महीने 7 करोड़ में कई अफसर

चापो का साम्राज्य: 700 करोड़ में प्रेसिडेंट बिका, हर महीने 7 करोड़ में कई अफसर
सांकेतिक चित्र

मैक्सिकन नार्को टेररिज़्म यानी अमेरिका में ड्रग्स अंडरवर्ल्ड का दूसरा नाम बन चुके एल चापो के खिलाफ कोर्ट में हुए खुलासों ने अमेरिका और मैक्सिको के होश उड़ा दिए कि कैसे चापो ने पूरे सिस्टम को भ्रष्ट कर अपनी जागीर बनाया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 15, 2019, 4:30 PM IST
  • Share this:
'मैं बॉस यानी एल चापो के गिरोह में कानूनी और सेना के अफसरों के साथ गुप्त डीलिंग्स का काम करता था.' मैक्सिकन नार्को टेररिज़्म यानी अमेरिका में ड्रग्स अंडरवर्ल्ड का दूसरा नाम बन चुके एल चापो के एक 'जिगरी' ने खुलासा किया कि कैसे चापो ने मैक्सिकन तंत्र को भ्रष्ट करने में कोई कसर नहीं छोड़ी. चापो के खास रहे दूसरे सहयोगी ने यह भी खुलासा किया कि चापो ने मैक्सिको के प्रेसिडेंट्स को भी मोटी रकम घूस के तौर पर खिलाई.

READ: दुश्मनों को ज़िंदा दफनाता था चापो!

'हमारे गिरोह यानी सीनालोआ कार्टेल में खास लोगों के लिए खास नाम होते थे और मुझे बॉस 'माय बडी' यानी 'जिगरी' कहते थे.' दुनिया के सबसे बड़े डॉन माने जाने वाले एल चापो ने अपने इस जिगरी को खास काम सौंपा था. ये खास काम था मिलिट्री और लॉ इन्फोर्समेंट के अफसरों के साथ मीटिंग्स और डीलिंग्स करने का. ड्रग्स का कारोबार बगैर रुकावट चलता रहे और सुरक्षा तंत्र की तरफ से पूरी मदद मिलती रहे, इसके लिए भारी भरकम रिश्वत देकर पूरे सिस्टम को चापो अपनी जेब में रखता था.



READ: बीवियों, महबूबाओं की जासूसी करता था 'बौना'
चापो ने इस जिगरी को ये खास इसलिए सौंपा था क्योंकि ये उस शख्स का बेटा था, जो चापो का बरसों का मददगार और बेहद करीबी रहा था यानी इस्माइल ज़ंबाडा. मैक्सिकन ड्रग्स अंडरवर्ल्ड में इस्माइल के कद का अंदाज़ा इस बात से लगता है कि वही तमाम गैंग्स के बीच और चापो के गैंग और सिस्टम के बीच समझौते करवाता रहा. यही नहीं, चापो की गैरमौजूदगी में वही चापो के सीनालोआ कार्टेल के मुखिया के तौर पर जाना जाता रहा.

गैंग में हर महीने रिश्वत के लिए होता था बजट
इस्माइल के बेटा विसेंट यानी चापो का जिगरी आला अफसरों को रिश्वत देने के काम में मंझ चुका था. इन आला अफसरों को रिश्वत देने के लिए चापो के गैंग में हर महीने 1 मिलियन डॉलर यानी 7 करोड़ से ज़्यादा रुपये का बजट अलग से रखा जाता था और चापो के इशारे पर इस बजट का इस्तेमाल जिगरी अपनी सूझ बूझ से करता था. ये बजट खास तौर से रिश्वत के लिए तय था यानी जहाज़ों से ड्रग्स की तस्करी सफल होने के बाद दिए जाने वाले 'बोनस' यानी गिफ्ट और कैश के तौर अतिरिक्त घूस के लिए अलग से बजट होता था.

Drugs mafia, underworld of America, story of underworld don, mexican mafia, story of el chapo, ड्रग्स माफिया, अमेरिका का अंडरवर्ल्ड, अंडरवर्ल्ड डॉन की कहानी, मैक्सिकन माफिया, एल चापो की कहानी

जिगरी को 2008 की वह सरकारी पेशकश हमेशा याद रही जब चापो के गैंग को तेलवाहक एक सरकारी जहाज़ के लिए निवेश करने को कहा गया था, जिसके ज़रिये 100 टन कोकीन की तस्करी की जा सकती थी. हालांकि वह डील कामयाब नहीं हो सकी थी.

READ: कितनी लाशों पर खड़ा है बौना?

चापो का यह जिगरी साल 2009 में पकड़ा गया था और अमेरिका के हवाले कर दिया गया था. अमेरिका में ड्रग्स तस्करी और साज़िश के इल्ज़ाम पर उस पर मुकदमा चला और उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया. जिगरी किस कद का मुजरिम था, इसका अंदाज़ा उसे मिली सज़ा से लगता था. उसके खिलाफ सज़ा तय नहीं हुई लेकिन दस साल जेल के बाद उम्र कैद तक की संभावना बनी रही. साथ ही, उस पर 1.37 बिलियन डॉलर का जुर्माना उस पर ठोका गया.

'अगर तुम चापो के खिलाफ कोर्ट में गवाही देकर कानून का साथ दो, तो तुम्हारी सज़ा में रियायत हो सकती है.' अमेरिकी सिस्टम के इस दिलासे के बाद जिगरी यानी विसेंट ज़ंबाडा ने कोर्ट में चल रहे चापो के खिलाफ ट्रायल में चापो से जुड़े ये सब खुलासे किए कि कैसे उसने पूरे सिस्टम को दौलत के बल पर अपनी जागीर बना रखा था.

प्रेसिडेंट को 100 मिलियन डॉलर की रिश्वत का खुलासा
इसी ट्रायल के दौरान चापो के गैंग के एक और खास रहे एलेक्स ने कोर्ट में ऐसे खुलासे किए जिसने पूरे अमेरिका और मैक्सिको को चौंका दिया. पूरे सिस्टम पर सवाल खड़े हो गए. एलेक्स ने कहा कि चापो ने एक प्रेसिडेंट को 100 मिलियन डॉलर की रिश्वत दी थी. यही नहीं, चापो की पहुंच सिस्टम के सबसे आला हलके में थी और सालों से वह कई प्रेसिडेंट्स को रिश्वत देकर अपना कारोबार चला रहा था.

READ : ये है 'बौने' का 'लॉलीपॉप'

साल 2012 से 2018 तक मैक्सिको के राष्ट्रपति रहे एनरिक पीनो ने चापो से 250 मिलियन डॉलर की रिश्वत मांगी थी. डील ये थी कि अगर पीनो को ये रकम मिलेगी तो चापो के खिलाफ सरकार ने जो मुहिम छेड़ रखी थी, उसे बंद कर दिया जाएगा और उसके कारोबार को खतरा नहीं होगा. फिर डील में कई समझौते हुए और आखिर में बात 100 मिलियन डॉलर यानी 700 करोड़ से ज़्यादा रुपयों पर तय हुई.

Drugs mafia, underworld of America, story of underworld don, mexican mafia, story of el chapo, ड्रग्स माफिया, अमेरिका का अंडरवर्ल्ड, अंडरवर्ल्ड डॉन की कहानी, मैक्सिकन माफिया, एल चापो की कहानी

मीडिया में वो तस्वीरें भी सामने आईं जिनमें 100 मिलियन डॉलर की रिश्वत कैश दी गई थी. इस पूरी रकम का भंडार मैक्सिको में कई दिनों तक सुर्खियों में रहा. हालांकि पीनो के प्रवक्ताओं ने इस आरोप को बेबुनियाद करार दिया. लेकिन, फिर चापो के गैंग के खास इस्माल के एक और बेटे जीसस ज़ंबाडा ने भी कोर्ट में जो खुलासे किए, उससे ये भी सुर्खियां बनीं कि सिर्फ पीनो ही नहीं बल्कि मैक्सिको के अन्य राष्ट्रपति भी भ्रष्ट थे या चापो ने उन्हें भी खरीद रखा था.

मैक्सिको के वर्तमान राष्ट्रपति एंड्रेस मैनुएल लोपेज़ ने भी चापो से 2006 में कई मिलियन डॉलर की रिश्वत ली थी. साल 2006 से 2012 तक मैक्सिको के राष्ट्रपति रहे फेलिप कैल्डेरॉन को भी चापो ने रिश्वत देकर अपने हक में कर लिया था. ये सारे आरोप अमेरिकी अदालत में जीसस और एलेक्स जैसे चापो के कभी खास रहे गैंगस्टरों ने लगाए तो मैक्सिको के पूरा तंत्र कठघरे में आ गया.


हालांकि तीनों राष्ट्रपतियों ने इन इल्ज़ामों को खारिज किया लेकिन मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो चापो ने इतना बड़ा गिरोह और कारोबार खड़ा किया और सालों तक चलाया तो इस बात को नकारा नहीं जा सकता कि पूरे सिस्टम पर उसकी पकड़ थी. ऐसे ही गवाहों के बयानों में जो खुलासे हुए हैं उनमें, ये बातें भी खुलीं कि सेना, पुलिस और लॉ इन्फोर्समेंट के कुछ अफसर तो चापो के लिए ड्रग पैडलर या तस्कर के तौर पर भी काम करते थे. कुछ ड्रग्स की खेप महफूज़ कहीं डिलिवर करते थे तो कुछ इसके लिए हर तरह का इंतज़ाम.

अर्जेंटीना से मैक्सिको के बीच ड्रग्स की तस्करी के लिए फेडरल पुलिस के अफसरों के कुछ फोटो भी अदालत में गवाहों ने पहचाने और बताया कि कस्टम से माल आसानी से क्लियर हो सके, इसलिए पुलिस अफसरों के ज़रिये तस्करी की जाती थी. इन गवाहों ने पूरे तंत्र के भ्रष्टाचार को निर्वस्त्र करते हुए ये भी माना कि ड्रग्स अंडरवर्ल्ड में उनकी ज़िंदगी सालों तक चापो की सरपरस्ती में बहुत अय्याशी और मौज के साथ कटती रही.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

अपराध की और कहानियों के लिए क्लिक करें

बाप, बेटे और बहू के बीच लव ट्राएंगल, आखिरकार मिले एक लाश के टुकड़े
भगोड़े चापो ने 'वनवास' को ड्रग्स के 'जंगलराज' में ऐसे तब्दील किया था
वेलेंटाइन डे मर्डर: प्यार के इन्जेक्शन में भर चुका था तनाव का सायनाइड

PHOTO GALLERY : चापो की आशिकी, अय्याशियों और रेप के किस्से
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज