जब चापो मारा गया! फिर उसकी फैमिली और कार्टेल का क्या हुआ?

मेक्सिकन नार्को टेररिज़्म यानी अमेरिका में ड्रग्स अंडरवर्ल्ड का दूसरा नाम बन चुके एल चापो की मौत के बाद उसकी फैमिली, कार्टेल और मेक्सिको व अमेरिका में क्या हालात बने? इन सवालों के जवाब देती एक अनसुनी कहानी.

Bhavesh Saxena | News18Hindi
Updated: February 22, 2019, 8:50 PM IST
जब चापो मारा गया! फिर उसकी फैमिली और कार्टेल का क्या हुआ?
एल चापो
Bhavesh Saxena | News18Hindi
Updated: February 22, 2019, 8:50 PM IST
'हकीकत ये है कि आपराधिक संगठनों की संरचना किसी वेडिंग केक की तरह है, कई परतें हैं और इसमें कोई शक नहीं कि चापो सबसे ऊपर की परत पर था, लेकिन अकेले नहीं, दूसरों के साथ.'
- डॉन विंस्लो, उपन्यासकार



तो हुआ ये कि चापो के खिलाफ अमेरिकी अदालत में जो ट्रायल चला, उसके बाद उसे एक ऐसी जेल में भेज दिया गया, जहां परिंदा भी पर नहीं मार सकता था. पहले कई बार जेल से भाग चुका चापो को इस कैद से भागने का कोई रास्ता समझ नहीं आया. चापो जेल से भागने के लिए हर तरह से हाथ पैर मार रहा था. अपने खास लोगों से बात कर रहा था, सरकारी मशीनरी को रिश्वत का लालच दे रहा था और साथ ही, इस जेल के भीतर अपना सपोर्ट सिस्टम तैयार कर रहा था. लेकिन, इस बार क्या उसकी कोई चाल चलने वाली थी?

'गॉडफादर' के गैंग में 'गेम ऑफ थ्रोन्स'

इधर, कुछ और हालात बन रहे थे. चापो के दुश्मन गैंग्स चापो के प्रभावशाली गिरोह यानी सीनालोआ कार्टेल पर कब्ज़े के लिए बेताब हो उठे थे. चापो की फैमिली में चापो का कोई वारिस इतना लायक नज़र नहीं आ रहा था जो उसकी सत्ता को संभाल सके. एक गैंगवॉर बेतहाशा जारी थी जिसमें कई लोग लगातार मारे जा रहे थे. इतना ही नहीं, दुश्मन गैंग्स ने चापो की वापसी को नामुमकिन कर देने के लिए जेल के अंदर ही कत्ल कर देने तक की साज़िश रच ली थी.

READ: दुश्मनों को ज़िंदा दफनाता था चापो!

दूसरी तरफ, सिस्टम भी पूरी तरह चापो के खिलाफ हो चुका था. चापो को सज़ा के बाद ड्रग एन्फोर्समेंट एजेंसी के एक अफसर का प्रमोशन इस तरह हुआ कि उसके हाथ में पूरे डिपार्टमेंट की बागडोर आ गई. अब एक तरह से वह चापो का नसीब लिख सकता था. सिस्टम और चापो के दुश्मन गैंग्स ने चोरी छुपे हाथ मिला लिया था ताकि सालों तक दहशत बरपाता रहा चापो नेस्तनाबूद हो सके.
Loading...

el chapo guzman, chapo guzman, escobar, pablo escobar, el chapo prison, एल चापो की कहानी, Drugs mafia, underworld of America, story of underworld don, mexican mafia, story of el chapo, ड्रग्स माफिया, अमेरिका का अंडरवर्ल्ड, अंडरवर्ल्ड डॉन की कहानी, मैक्सिकन माफिया

जेल के अंदर एक शूटआउट हुआ और चापो पर जानलेवा हमला हुआ. परिंदा भी पर नहीं मार सकता था इसलिए जेल के भीतर की कोई खबर बाहर नहीं निकली. चापो को दौड़ा दौड़ाकर जेल के भीतर ही कुत्ते की मौत मारा गया. लेकिन, चापो के सूत्र तो जेल में भी सक्रिय थे इसलिए चापो के कुछ खास लोगों को चापो के हत्याकांड की खबर मिल गई.

READ: बीवियों, महबूबाओं की जासूसी करता था 'बौना'

चापो की फैमिली और कार्टेल में एक डरावना सन्नाटा और मातम फैल गया. फैमिली और कार्टेल के कुछ लोग इस कदर डर गए कि कुछ मेक्सिको छोड़कर अमेरिका भाग गए तो कुछ कहीं और. कुछ लोगों ने मिलकर दुश्मन गैंग्स के साथ समझौते का सिलसिला शुरू किया और कुछ लोग गैंग वॉर में मारे जाते रहे. अब चापो के सीनालोआ कार्टेल के खत्म होने और नार्को अंडरवर्ल्ड यानी ड्रग्स के फैले हुए कारोबार में किसी और गैंग के वर्चस्व हासिल करने का दौर शुरू हुआ.

गैंग्स यानी धंधे का जो वेडिंग केक था, अब उसके टॉप पर चापो या उसकी फैमिली नहीं बल्कि उसके दुश्मन थे. चेहरा बदल चुका था लेकिन धंधा, दहशतगर्दी और अपराध का सिलसिला जारी था. चापो की फैमिली और कार्टेल के कुछ लोग इस धंधे में अब भी बने हुए थे लेकिन दुश्मनों से हाथ मिलाकर उनके साथियों की हैसियत से. मौका और वक्त आने पर पलटवार या भितरघात करने के उनके इरादे एक राज़ की तरह उन्हीं के सीनों में दफ्न थे.

READ: कितनी लाशों पर खड़ा है बौना?

फिर क्या हुआ? अगले कुछ सालों में ऊंट किस करवट बैठा? किस किरदार का क्या अंजाम हुआ? इन तमाम सवालों के जवाब लेखक डॉन विंस्लो के आगामी उपन्यास 'द बॉर्डर' में पढ़ने को मिल सकते हैं. डॉन का यह उपन्यास उनके पिछले दो उपन्यासों 'पावर ऑफ द डॉग' और 'द कार्टेल' की सीरीज़ में तीसरा उपन्यास है, जिसमें चापो की भूमिका निभाने वाले किरदार को मार दिया जाता है और उसके बाद मेक्सिको व अमेरिका में बनने वाले हालात की कहानी ऊपर लिखी गई संक्षिप्त कहानी की तरह कही गई है.

el chapo guzman, chapo guzman, escobar, pablo escobar, el chapo prison, एल चापो की कहानी, Drugs mafia, underworld of America, story of underworld don, mexican mafia, story of el chapo, ड्रग्स माफिया, अमेरिका का अंडरवर्ल्ड, अंडरवर्ल्ड डॉन की कहानी, मैक्सिकन माफिया

अपने इस आगामी उपन्यास के बारे में डॉन ने एक वेबसाइट से बातचीत करते हुए बताया कि कैसे उन्होंने पिछले करीब 20 सालों से ड्रग्स गैंग की दुनिया को समझा और जोखिमों का सामना करते हुए उपन्यास के लिए तथ्य जुटाए. डॉन पहले एक प्राइवेट जांचकर्ता रह चुके हैं और उन्होंने अपने उपन्यासों के लिए दुनिया भर में ड्रग्स का धंधा करने वाले मेक्सिको के बदनाम गिरोहों के भीतर तक पैठ बनाई. ड्रग्स संबंधी अपराधों को अपने उपन्यासों व कहानियों का सब्जेक्ट बनाने वाले डॉन मेक्सिको के हालात के बारे में कहते हैं -

हमेशा ये खतरा बना हुआ है कि कहीं ये मुल्क एक 'नार्को रिपब्लिक' न बन जाए. मैं हर बार कहता हूं कि इस समस्या का हल हमेशा ग्राहकों के पास है. आप चाहें तो सीनालोआ या डूरंगो में बेतहाशा अफीम पैदा करते रहें लेकिन अगर उसकी खपत न हो यानी लोग उसे इस्तेमाल न करें तो आपका धंधा चौपट होने से भगवान भी नहीं बचा सकता. कुल मिलाकर पूरा मुद्दा यही है.


गौरतलब है कि मैक्सिकन माफिया एल चापो के खिलाफ ट्रायल पूरा हो चुका है और पिछले दिनों उसे दोषी करार दिया जा चुका है. अदालती कार्यवाही जारी है और चापो के खिलाफ सज़ा का ऐलान होना बाकी है.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

अपराध की और कहानियों के लिए क्लिक करें

स्कूल में दोस्ती थी, कॉलेज में प्यार हुआ, फिर एक शक में गईं दो जानें
नींद की गोलियां खाने में मिलाती, पति के सोने के बाद आशिक को घर बुलाती थी
मेक्सिको में तबाही का नाम है 'ड्रग वॉर', कोई गैंग चापो का दोस्त तो कोई दुश्मन

PHOTO GALLERY : इस बार चापो खोज पाएगा जेल से भागने का रास्ता?
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...