बीवियों, महबूबाओं, दोस्तों, दुश्मनों सबकी जासूसी करता था 'बौना'

अमेरिका में नार्को टेररिज़्म का दूसरा नाम बन चुके मैक्सिकन ड्रग माफिया एल चापो के बारे में यह भी खुलासा हुआ कि उसने टैक्नोलॉजी के सहारे वायरटैपिंग और स्पायवेयर के ज़रिये खास लोगों की जासूसी की. लेकिन कैसे और क्यों? पूरी कहानी.

Bhavesh Saxena | News18Hindi
Updated: February 10, 2019, 4:42 AM IST
बीवियों, महबूबाओं, दोस्तों, दुश्मनों सबकी जासूसी करता था 'बौना'
न्यूज़18 हिंदी क्रिएटिव.
Bhavesh Saxena | News18Hindi
Updated: February 10, 2019, 4:42 AM IST
ड्रग्स तस्करी की दुनिया के सबसे खतरनाक आपराधिक गिरोह सीनालोआ कार्टेल के बॉस एल चापो के खिलाफ चल रहे ट्रायल के दौरान उसके कई चौंकाने वाले खुलासों में एक है, उसका जासूस होना. जासूसी के लिए खास तकनीक का सहारा लेना. मैक्सिकन माफिया चापो उर्फ बौने ने न केवल अपनी बीवियों, महबूबाओं की जासूसी करवाई बल्कि अपने कई खास लोगों और दुश्मनों की भी.

READ : ये है 'बौने' का 'लॉलीपॉप'

21वीं सदी में जब तकनीक की दुनिया में क्रांति आ रही थी और इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी अपने पूरे उफान पर आ रही थी, तब चापो को ये तरकीब सूझी. उसने अपने खास लोगों को एक आईटी जीनियस और हैकर की तलाश करने को कहा. जल्द ही क्रिश्चियन रॉड्रिग्ज़ नाम का लड़का चापो के सामने खड़ा था और चापो उसे अपना मकसद समझा रहा था.



READ: कितनी लाशों पर खड़ा है बौना?

मैं चाहता हूं कि तुम मेरे लिए वायरटैपिंग का बंदोबस्त करो. मेरी ज़िंदगी में कुछ लोग हैं, जिनके पल-पल की खबर मुझे चाहिए. वो किससे, क्या और कब बात करते हैं, कहां जाते हैं... सब कुछ मैं जानना चाहता हूं. एक ऐसा सिस्टम बनाओ कि मुझे इनके बारे में हर बात पता चले, लेकिन ये सब सीक्रेट हो यानी उन्हें पता नहीं चलना चाहिए कि उनका हर एक्शन मेरी नज़र में है...


एक स्पायवेयर से 'स्पेशल 50' की जासूसी
रॉड्रिग्ज़ एक शातिर आईटी फिक्सर था. उसने अपनी कीमत ली और सीनालोआ कार्टेल में तकनीकी काम संभालने वाली टीम का हिस्सा बनकर चापो के इस प्रोजेक्ट को अंजाम देना शुरू किया. रॉड्रिग्ज़ ने एक स्पायवेयर 'फ्लेक्सीस्पाय' के सहारे चापो को जासूसी सुविधा मुहैया करवाने का प्लैन बनाया और चापो ने उसे 'स्पेशल 50' फोन नंबर दिए, जिनकी वह जासूसी करना चाहता था.
Loading...

Drugs mafia, underworld of America, story of underworld don, mexican mafia, story of el chapo, ड्रग्स माफिया, अमेरिका का अंडरवर्ल्ड, अंडरवर्ल्ड डॉन की कहानी, मैक्सिकन माफिया, एल चापो की कहानी

READ : चापो ने ऐसे खड़ा किया नार्को अंडरवर्ल्ड

रॉड्रिग्ज़ ने इन पचासों नंबरों पर एक एक कर एहतियात के साथ ये स्पायवेयर इंस्टॉल कर दिया और अब उन नंबरों पर आने-जाने वाले कॉल्स और मैसेज चापो जान सकता था. चापो के लिए टैक्नोलॉजी एक मज़ेदार चीज़ भी थी और काम की भी. अब उसने रॉड्रिग्ज़ से कहा कि वो फोन के साथ लोगों के कंप्यूटरों और लैपटॉप्स पर भी नज़र रखना चाहता था.

हर आदमी की कामयाबी के पीछे औरत होती है लेकिन आदमी की बर्बादी के पीछे भी औरत ही होती है. तुम जिस जिसके सामने अपने कपड़े उतारते हो, हर वो औरत तुम्हारे कई राज़ जानती है. इसलिए, उसके मन को समझने की हर कोशिश करो ताकि तुम बचे रहो.


उस औरत को पता चल जाता तो क्या होता?
रॉड्रिग्ज़ ने चापो के लिए ये इंतज़ाम भी किया. लेकिन, उस दिन का संकट रॉड्रिग्ज़ को भुलाए नहीं भूलता. अगर उस दिन कुछ गड़बड़ हो गई होती, तो चापो की जासूसी का राज़ खुल गया होता और चापो का गुस्सा रॉड्रिग्ज़ पर कैसे उतरता? ये खयाल रॉड्रिग्ज़ के लिए हर बार सनसनी पैदा कर देता है.

'उस दिन चापो ने मुझे एक औरत के लैपटॉप पर जासूसी वाला बग इंस्टॉल करना था. वो अपना लैपटॉप हमेशा अपने साथ ही रखती थी इसलिए ये काम मुझे उसकी मौजूदगी में ही करना था. उस दिन जैसे ही कुछ पलों का मौका मिला, मैंने अपना काम शुरू किया. लेकिन, उस औरत के कदमों की आहट बता रही थी कि वो मेरे अंदाज़े से जल्दी ही अपने लैपटॉप की तरफ लौट रही थी. तभी, वहां मौजूद चापो ने उस औरत को रोक लिया और उसका ध्यान लैपटॉप पर न जाए, ऐसा कुछ किया. मेरा दिल तब ज़ोरों से धड़क रहा था!'

Drugs mafia, underworld of America, story of underworld don, mexican mafia, story of el chapo, ड्रग्स माफिया, अमेरिका का अंडरवर्ल्ड, अंडरवर्ल्ड डॉन की कहानी, मैक्सिकन माफिया, एल चापो की कहानी

अपने हैकर की जासूसी करना भूल गया चापो
इस पूरी तकनीक से चापो को फायदा कितना हुआ, ये तो चापो ही बता सकता है लेकिन वो वक्त निकालकर इस जासूसी के ज़रिये सबके मैसेज और कॉल्स पढ़ा सुना करता था. लेकिन वक्त गुज़रता रहा और सेर पर सवा सेर वाली कहावत चापो भूल गया. रॉड्रिग्ज़ सारा बंदोबस्त करने के बाद अपने दूसरे कामों में भी मुब्तला था और सब पर नज़र रखने वाला चापो सिर्फ रॉड्रिग्ज़ पर नज़र रखना भूल गया.

नीदरलैंड में रॉड्रिग्ज़ जब एक ट्रिप पर था, तब कुछ खास लोगों के ज़रिये रॉड्रिग्ज़ से एक रशियन माफिया ने मुलाकात की.

रूसी अंडरवर्ल्ड में चार्ल्स का नाम एक खौफ है रॉड्रिग्ज़. तुम एक खौफ के सामने खड़े हो लेकिन घबराओ मत. अगर तुमने मेरा काम किया तो तुम्हें कोई खतरा नहीं, बल्कि मुंहमागी कीमत मिलेगी. मुझे इसी मुल्क में इंटरनेट प्रोटोकॉल के तहत कम्युनिकेशन के लिए कुछ सीक्रेट कोडिंग का काम तुमसे लेना है. और मुझे पता है कि इस तरह का काम तुम होशियारी से कर चुके हो.


रॉड्रिग्ज़ ने कुछ सवालों और अपनी कीमत के बारे में बात करने के बाद चार्ल्स का काम करने की शुरूआत की. जैसे ही, रॉड्रिग्ज़ ने एक गैर कानूनी सीक्रेट कोडिंग यानी हैकिंग का काम चार्ल्स के कहने पर किया, चार्ल्स और उसके कुछ साथियों ने रॉड्रिग्ज़ को अपनी गिरफ्त में ले लिया. रॉड्रिग्ज़ कुछ समझ पाता, इससे पहले ही चार्ल्स ने उसे बताया कि वह फंस चुका है.

"तुम किसी रूसी माफिया के सामने नहीं बल्कि एफबीआई एजेंट के सामने हो रॉड्रिग्ज़! अब तुम्हारे बचने की एक ही सूरत है कि तुम हमें चापो के बारे में वो सब बताओ, जो हम जानना चाहते हैं और जो हमारे जानने लायक है."

Drugs mafia, underworld of America, story of underworld don, mexican mafia, story of el chapo, ड्रग्स माफिया, अमेरिका का अंडरवर्ल्ड, अंडरवर्ल्ड डॉन की कहानी, मैक्सिकन माफिया, एल चापो की कहानी

रॉड्रिग्ज़ को एफबीआई एक ऐसी गुप्त जगह पर ले गई और कुछ ही देर में रॉड्रिग्ज़ समझ गया था कि अगर उसने एफबीआई की मदद नहीं की तो उसकी जान को खतरा हो सकता है. उसने सब कुछ बताया कि चापो कैसे लोगों की जासूसी करता था और इसमें रॉड्रिग्ज़ ने उसकी कैसे मदद की थी. अब अमेरिकी अफसरों ने चापो की इस जासूसी पर जासूसी के लिए रॉड्रिग्ज़ की मदद ली और चापो के कॉल्स व मैसेज पर नज़र रखी.

कुछ मैसेज और कॉल्स जो पकड़े गए
1. चापो अपनी हालिया बीवी एमा से एक कॉल पर अपनी छह महीने की बच्ची मारिया के बारे में कह रहा था - 'हमारी किक्की बहुत बेखौफ है डार्लिंग, मैं उसे जल्द ही उसके हाथों में क्लाशनिकोव (AK-47) दूंगा ताकि वो मेरे काम में मेरा साथ दे.'

2. चापो और उसकी एक मेहबूबा अकॉस्टा की 2012 की एक चैट इस तरह थी -
चापो : कारोबार कैसा चल रहा है?
अकॉस्टा : हमेशा की तरह नॉनस्टॉप, माय लव.
चापो : और जो काम तुम्हें कहा था, उसके लिए मीटिंग ठीक रही?
अकॉस्टा : हां. क्या तुम मुझ पर नज़र रख रहे हो? मुझे कई बार लगता है कि..
चापो : नहीं मेरी 'जंगली बिल्ली'. मुझे क्या तुम्हारे पंजों से मरना है? ये सब तुम्हारा वहम है.

Drugs mafia, underworld of America, story of underworld don, mexican mafia, story of el chapo, ड्रग्स माफिया, अमेरिका का अंडरवर्ल्ड, अंडरवर्ल्ड डॉन की कहानी, मैक्सिकन माफिया, एल चापो की कहानी

3. चापो के कार्टेल के एक मैनेजर और एक शूटर इवान के बीच बातचीत इस तरह थी कि मैनेजर उसे कह रहा था कि 'चापो का हुक्म है कि जिन्हें किडनैप किया है, उन्हें मारना नहीं है. हमें ये मैसेज देना है कि हम बेगुनाहों की जान नहीं लेते.' इस पर इवान ने पुलिस अफसरों पर गुस्सा उतारा और उन्हें पीटा. फिर चापो की इवान से बात हुई. 'इससे क्या फायदा इवान? ये वो लोग हैं, जो हमारी मदद करते हैं. पुलिस के साथ संबंध बनाना बेहतर है. वैसे भी, तुमने उन पर गुस्सा उतार लिया है इसलिए अब वो बात सुनेंगे. टेक इट ईज़ी.'

फोन पर इंटिमेट बातें करता था चापो
इस तरह के और भी बहुत से मैसेज और कॉल्स की रिकॉर्डिंग पुलिस अफसरों के हाथ लगे. हथियारों, ड्रग्स की तस्करी को लेकर कार्टेल के गैंगस्टरों और चापो की बातचीत के ये मैसेज कोर्ट के सामने पढ़े और रखे गए. वायरटैपिंग के ज़रिये मिले इन संदेशों में यह भी खुलासा हुआ कि चापो फोन के ज़रिये बेहद कामुक बातें भी कई औरतों के साथ करता था. ये सब बातें भी जब कोर्ट के सामने आईं तो माना गया कि इससे पहले किसी डॉन की इस कदर कामुकता पहले कभी कोर्ट में नहीं खुली.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

अपराध की और कहानियों के लिए क्लिक करें

ये है 'बौने' का 'लॉलीपॉप', अंडरवर्ल्ड में 20 साल चला जिसके नाम का सिक्का!
'शायद मरना ही आसान है' - डॉक्टर को लिखे वो ख़त सुसाइड नोट्स थे?
कितनी लाशों पर खड़ा होकर ऊंचा उठता गया ये 'बौना' उर्फ एल चापो?

PHOTO GALLERY : तीन कत्ल, जिनकी मास्टरमाइंड थी एक हसीना!
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...