दीपा BAR की चकाचौंध से JAIL के अंधेरे तक तरन्नुम का सफ़र

आईपीएल में सट्टेबाज़ी के एक आॅनलाइन रैकेट से जुड़े होने के मामले में मुंबई और ठाणे में एक एक्स बार डांसर की तलाश जारी है. एक दशक पहले क्रिकेट में सट्टेबाज़ी के आरोप में जेल भेजी गई मुंबई की बार डांसर तरन्नुम की विरासत क्या अब तक ज़िंदा है?

Bhavesh Saxena | News18Hindi
Updated: June 6, 2018, 7:18 PM IST
दीपा BAR की चकाचौंध से JAIL के अंधेरे तक तरन्नुम का सफ़र
सांकेतिक चित्र.
Bhavesh Saxena | News18Hindi
Updated: June 6, 2018, 7:18 PM IST
क्या आप भूल चुके हैं तरन्नुम की कहानी? मुंबई की एक करोड़पति बार डांसर थी तरन्नुम, जिसे कभी मुंबई की नाइटलाइफ की मलिका कहा जाता था. बॉलीवुड एक्टर आदित्य पंचोली ने क्रिकेटर मुरलीधरन को तरन्नुम से मिलवाया था या अंडरवर्ल्ड से तरन्नुम के रिश्ते थे, ऐसी खबरें मीडिया में रही थीं. खासकर जब क्रिकेट में सट्टेबाज़ी के आरोपों में तरन्नुम को जेल भेजा गया था. आईपीएल में सट्टेबाज़ी से जुड़ी एक हालिया खबर के बहाने तरन्नुम की याद ताज़ा हुई है और लग रहा है जैसे उसकी यादें मुंबई में ज़िंदा है.

Version-1 : तरन्नुम की कहानी

92 के दंगों में सब कुछ बरबाद हो जाने के बाद मुश्किल हालात से समझौता करते हुए तरन्नुम अपनी इच्छा के खिलाफ बार डांसर बनी. शुरुआती दिनों में इस नये माहौल में उसका दम घुटता था लेकिन जब उसे पैसे मिलने शुरू हुए तब उसकी जान में जान आई. मुंबई के इन बारों में एक अनकहा कायदा चलता था कि देखने की छूट है लेकिन छूने की नहीं. लेकिन यह कायदा कुछ लोग कुछ बंद कमरों में तोड़ते ज़रूर थे.

धीरे-धीरे तरन्नुम को इन बारों के कायदे और अंदर की बातों के बारे में सब खबर लगती चली गई. उसे यह भी पता चल चुका था कि उसकी अदाएं कातिलाना हैं. इन अदाओं की भरपूर कीमत वसूलने के लिए उसने सब कुछ मंज़ूर किया. नेटवर्क बनाया और फिर मुंबई के उस समय के सबसे मशहूर दीपा बार में उसका दाखिला हो गया. यहां नोटों की बारिश हुई तो तरन्नुम को दौलत कमाने का एक चस्का सा हो गया. इतना पैसा तरन्नुम के सपनों में भी नहीं था.

बार डांसर, मुंबई की बार डांसर, क्रिकेट सट्टेबाज़ी, आईपीएल सट्टेबाज़ी, बार डांसर की कहानी, bar dancer, bar dancer of Mumbai, betting on cricket matches, betting in IPL, story of bar dancer
सांकेतिक चित्र.


दीपा बार में उस वक्त के तमाम अमीर, मशहूर और कामयाब लोगों का आना—जाना था. पुलिस वालों के लिए इन बारों में सब कुछ फ्री में मुहैया होता था. बॉलीवुड सितारे हों, क्रिकेटर, राजनीतिक, बड़े अपराधी या उद्योगपति, सभी नोट लुटाने आते थे और तरन्नुम की एक—एक अदा पर फिदा हुए जाते थे. तरन्नुम को तोहफे मिलने का सिलसिला भी ज़ोरों पर चल पड़ा. यहां कई तरह के लोगों से तरन्नुम के संपर्क भी बनने लगे.

किसी मलिका से कम नहीं रह गई थी तरन्नुम. लोखंडवाला में एक बड़ा घर तरन्नुम का हो चुका था. फिर हुआ तरन्नुम के घर पर आईटी रेड का कांड जिसमें तरन्नुम ने अपने सीए पर अंधेरे में रखने का आरोप लगाया और खुद को मासूम बताया. बहरहाल, इस कुछ वक्त की कानूनी कार्रवाई से जूझने के बाद वापस आई तरन्नुम. जैसा पहले ज़िक्र हुआ कि तमाम मशहूर लोगों के साथ तरन्नुम के कॉंटेक्ट्स बन रहे थे.

इसी बीच, तरन्नुम उन लोगों के संपर्क में भी आई जो क्रिकेट के मैचों पर सट्टे के धंधे में बड़े नाम थे. इस धंधे में तरन्नुम को काफी दौलत दिखी तो वह खुद को रोक नहीं पाई. दूसरी तरफ, इस धंधे में क्रिकेटरों को आॅफर करने के लिए तरन्नुम के पास पैसों के अलावा भी बहुत कुछ था. उसका हुस्न ऐसा आॅफर हुआ करता था जिसे ठुकरा पाना अच्छे-अच्छों के लिए मुश्किल होता था.


Gallery: इस बार डांसर के ठुमके की कीमत के आगे करीना-कैटरीना भी फेल

तरन्नुम यह सब खुद कर रही थी या धंधे के खिलाड़ी उसे इस्तेमाल कर रहे थे? सितंबर 2005 में क्रिकेट में सट्टे के धंधे के आरोप में तरन्नुम को दो और बुकीज़ के साथ सलाखों के पीछे भेज दिया गया. उस पर इल्ज़ाम लगा कि उसने एशेज़ सीरीज़ पर हुई सट्टेबाज़ी के लिए इस धंधे में बड़ी भूमिका निभाई है. हालांकि तरन्नुम क्रिकेट के सट्टे से किसी भी तरह जुड़े होने से हमेशा इनकार करती रही और इस तरह की खबरों के लिए मीडिया को कोसती रही.

Version-2 : यही कहानी तरन्नुम की ज़ुबानी

मेरा नाम है तरन्नुम खान. ज़फ़र उल्ला मेरे पिता हैं और मैं मुंबई में पैदा हुई थी. मां—बाप के अलावा चार भाई बहनों के साथ 6 लोगों का परिवार था हमारा. 1992 एक ऐसा साल था जब ठीक चल रहा सब कुछ बरबाद हो गया और फिर शुरू हुआ सड़कछाप लड़की से मेरा कामयाब बार डांसर बनने तक का सफ़र.

92 के दंगों में हमारा घर फूंक दिया गया और सब कुछ लूट लिया गया. एक ही रात में हम बेघर हो गए. बिना फूटी कौड़ी और सर पर छत के हम यहां—वहां भटकने को मजबूर थे. अंधेरी के मिल्लत नगर में एक राहत कैंप में एक महीने तक हमारा परिवार रहा और इस मुश्किल के वक्त में दो बार दिल का आॅपरेशन करवा चुके मेरे पिता की हालत बहुत नाज़ुक हो गई और वह परिवार को पालने में नाचार हो गए.

वो तीन रातें भयानक थीं जब मेरा पूरा परिवार लोखंडवाला की गलियों में बिना एक दाने और आसरे के भूख से मरने की कगार पर आ चुका था. अपने बच्चों की भूख के लिए इंतज़ाम करने की खातिर मेरी मां कुछ भी करने के लिए तैयार हो चुकी थी. इसी वक्त एक औरत इत्तफाक से हमसे टकराई और उसने कहा कि अगर मैं चाहूं तो अच्छे पैसे कमा सकती हूं.


उस औरत ने एक डांस बार में डांसर के तौर पर मुझे काम दिलाने की बात कही जो मेरे खानदानी मुस्लिम परिवार के लिए बेहद शर्म की बात थी. 16 साल की उम्र थी मेरी और मैं 12वीं तक पढ़ी थी और पूरे परिवार का पेट पालने के लिए ऐसी लड़की को कोई सम्मानजनक काम मिलना बहुत मुश्किल हो रहा था. हालात बिगड़ते हुए देख काफी शर्म और अफसोस के बाद मेरे परिवार के पास इस आॅफर को मंज़ूर कर लेने के सिवा चारा न था.

बार डांसर, मुंबई की बार डांसर, क्रिकेट सट्टेबाज़ी, आईपीएल सट्टेबाज़ी, बार डांसर की कहानी, bar dancer, bar dancer of Mumbai, betting on cricket matches, betting in IPL, story of bar dancer
सांकेतिक चित्र.


अब मैं बार में थी. पहला दिन उस बार में मेरा जिस तरह गुज़रा, वह मैं बयान नहीं कर सकती. हर तरफ शराब की महक, सिगरेट का धुआं और भेड़ियों जैसी नज़रें मुझे घूर रही थीं. कभी उल्टी आती तो कभी रूह कांप जाती मेरी. लेकिन जब पैसे मिले तो जान में जान आई. ख़ैर, पहले कुछ दिनों के बाद मुझे ठीकठाक पैसे मिलने शुरू हो गए. एक साल बाद मेरी ज़िंदगी करवट लेने वाली थी.

एक साल बाद मुझे दीपा बार में काम मिला. दीपा बार उस वक्त मुंबई के सबसे रईस लोगों की आवाजाही वाला बार था और यहां मेरी ज़िंदगी सुनहरी होती चली गई. सुबह 6 बजे मैं घर पहुंचती थी और कुछ खाने के बाद 7 बजे तक सो पाती थी. शाम 4 बजे उठती थी और बार जाने के लिए तैयार होती थी. फिर 14 घंटे अपने पैर के अंगूठों पर एक कठपुतली की तरह नाचती रहती थी.

कुछ ही दिनों में पैसों की बारिश होने लगी. अच्छी खासी रकम कमाने लगी थी मैं. तभी किसी ने मुझे इनकम टैक्स भरने की सलाह दी थी लेकिन मैं इस सबके बारे में कुछ जानती नहीं थी. दीपा बार के बही खाते देखने वाले सीए को मैंने इस काम के लिए राज़ी किया लेकिन मेरी नासमझी का फायदा उठाकर उसने मेरे साथ धोखा किया.

बार डांसर, मुंबई की बार डांसर, क्रिकेट सट्टेबाज़ी, आईपीएल सट्टेबाज़ी, बार डांसर की कहानी, bar dancer, bar dancer of Mumbai, betting on cricket matches, betting in IPL, story of bar dancer

उस सीए ने मुझे धोखे में रखा कि सब ठीक चल रहा है. एक दिन अचानक आईटी अफसरों ने मेरे घर पर छापेमारी कर दी और मुझे फरेबी और जालसाज़ कहकर जेल में डाल दिया गया. बाद में मैंने माफी मांगते हुए कहा कि टैक्स नु चुकाने का जुर्म मेरी नासमझी की वजह से हुआ है, इरादतन नहीं. यह कहानी तरन्नुम में कोर्ट को लिखी एक चिट्ठी के ज़रिये बयान की थी.

अब भी हैं तरन्नुम के नक़्शे-क़दम

अब किसी को नहीं पता कि तरन्नुम कहां है. कोई कहता है वह दुबई में सैटल हो चुकी है तो कोई कुछ और कहानी सुनाता है. लेकिन करीब डेढ़ दशक पहले तक मुंबई की रातों की मलिका कही जाने वाली तरन्नुम की कहानियां अब भी मुंबई के गलियारों में गूंजती हैं. उसकी विरासत बची हुई है. इन दिनों ठाणे की पुलिस एक एक्स बार डांसर काजल की तलाश कर रही है.

पुलिस को शक है कि पहले बार डांसर रह चुकी काजल आईपीएल मैचों पर सट्टे के आॅनलाइन रैकेट से जुड़ी हुई है. काजल के एक साथी कुशल और कथित तीन कर्मचारियों गौतम, निखिल और नीतीश को गिरफ्तार किया गया जा चुका है लेकिन काजल अंडरग्राउंड हो गई है. काजल उन बार डांसरों में से एक है जो बेरोज़गारी की मार झेल रही हैं. इनमें से कुछ मुश्किल हालात के चलते और अपने संपर्कों की मदद से सट्टे जैसे जुर्मों की दुनिया में शामिल हुई हैं. काजल की कहानी इस तरह सामने आ रही है कि तरन्नुम की याद ताज़ा होती है.

ये भी पढ़ेंः
FB Friend से 5 लाख रुपये लेने के बाद बोली 'Rape Case कर दूंगी'
रात के 2 बजे सुनसान जगह पर कौन सुनता लड़की की चीखें?
खूबसूरत Actresses थीं उसका शिकार, Film Festivals थे शिकारगाह
Movie और Dinner के बाद माशूका को सुनसान Park में ले गया आशिक
150 करोड़ की लॉटरी के चक्कर में बदमाश बन गया 'शरीफ'

Gallery - झूठ से शुरू हुई दोस्ती ने छीना कामयाब HEROINE बनने का ख़्वाब
News18 Hindi पर Jharkhand Board Result और Rajasthan Board Result की ताज़ा खबरे पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें .
IBN Khabar, IBN7 और ETV News अब है News18 Hindi. सबसे सटीक और सबसे तेज़ Hindi News अपडेट्स. Crime News in Hindi यहां देखें.

और भी देखें

पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर