फिल्मी स्क्रिप्ट निकली झूठी, Villain नहीं Hero मारा गया

नवी मुंबई से कुछ ही दूर पनवेल से माथेरान के बीच जिस नौजवान की हत्या की गई, वह पुणे के येरवडा का रहने वाला था और फिल्मों में एक्टिंग के लिए बड़ा मौका तलाश रहा था. ज़िंदगी ने मोड़ लिया तो इस नौजवान की ज़िंदगी और मौत ही फिल्मी कहानी बनकर रह गई.

Bhavesh Saxena | News18Hindi
Updated: May 24, 2018, 8:12 PM IST
फिल्मी स्क्रिप्ट निकली झूठी, Villain नहीं Hero मारा गया
ओंकार कुंदन आरणे.
Bhavesh Saxena | News18Hindi
Updated: May 24, 2018, 8:12 PM IST
“एक स्ट्रगलिंग एक्टर कहानी का हीरो है जिसे एक फिल्म प्रोड्यूसर बड़ा मौका देने का वादा करता है. इस उम्मीद में खुश हीरो को एक दिन अचानक झटका लगता है जब उसे पता चलता है कि इस प्रोड्यूसर के शारीरिक संबंध उसकी गर्लफ्रेंड के साथ हैं और वह उसे पाने की फिराक में है. प्रेमिका की बेवफाई और शराफत की आड़ में प्रोड्यूसर की साज़िश से मुकाबला करने के लिए हीरो दोनों के कत्ल की साज़िश रचता है और कामयाब हो जाता है.” ऐसी कहानी ओंकार को कुछ समय पहले एक स्ट्रगलिंग राइटर ने सुनाई थी.

पुणे के येरवडा में रहने वाले और फिल्मों में बतौर एक्टर बड़ा मौका तलाश रहे ओंकार को बीते अप्रेल के शुरुआती दिनों में यह कहानी याद आ रही थी. उसे दुख भी था और गुस्सा भी कि एक काल्पनिक कहानी उसकी ज़िंदगी में घट रही है. ओंकार को हैरानी भी थी कि उसकी अस्ल ज़िंदगी में यह प्रोड्यूसर रिश्ते में उसका मौसा है जिसका उसकी बीवी के साथ संबंध है. ओंकार को खयाल आया कि जब आधी कहानी हकीकत बन ही गई है तो वह कहानी को खत्म भी उसी तरह करे लेकिन जब गुस्सा और नशा उतरा तो उसने तय किया कि वह एक कोशिश तो करेगा इस मामले को शराफत से सुलझाने की.

होनी को कुछ और ही मंज़ूर था

मुंबई हत्याकांड, फिल्म एक्टर की हत्या, एक्टर प्रोड्यूसर विवाद में हत्या, अवैध संबंधों के चलते हत्या, पुणे हत्याकांड, mumbai murder case, pune murder case, film actor murder, murder in actor producer dispute, murder in illicit relationship
ओंकार कुंदन आरणे


पुणे से उसने अपने प्रोड्यूसर मौसा नहुश को फोन किया और कहा कि उसे राज़ पता चल चुका है और वह उनकी करतूत का पर्दाफाश मौसी के सामने कर देगा. नहुश थोड़ा घबराया और उसने ओंकार से कहा कि यह पूरा सच नहीं है, उसे गलतफहमी हुई है. मिलकर बात करने पर नहुश ने ओंकार को राज़ी कर लिया और उसे अपने पास पनवेल बुलाया. पुणे से पनवेल पहुंचा ओंकार तो नहुश ने कहा कि एक फिल्म के शूट के सिलसिले में उसे माथेरान जाना है इसलिए वह भी साथ चले, रास्ते में बात कर लेंगे.

अपनी कार में ओंकार को लेकर नहुश बॉडीगार्ड्स के साथ रवाना हुआ. रास्ते में ओंकार ने गुस्सा भी जताया और खुलासा करने की धमकी दी. नहुश को नीच भी कहा कि वह अपनी ही बहू के साथ ऐसा कैसे कर सकता है. इस पर नहुश ने शांति से उसको समझाने की कोशिश की और अपनी अगली फिल्म में ओंकार को बड़ा रोल देने का लालच भी दिया. कुछ देर में ओंकार कुछ शांत था. इतने में कार रुकी.

ड्राइवर ने फ्रेश होने के कारण देहरंग तालाब के पास कार रोकी तो सभी उतर गए. ओंकार भी फ्रेश होने कुछ दूर झाड़ियों के पास गया. यही मौका था, नहुश ने पिस्तौल निकाली और गोली मारी जो ओंकार की पीठ पर लगी. ओंकार पलटा तो दूसरी गोली उसके पेट में लगी लेकिन खून नहीं निकला. ओंकार ने इरादा भांपकर नहुश को पकड़ने के लिए उसकी तरफ दौड़ शुरू की तभी नहुश ने बॉडीगार्ड की गन से ओंकार को और गोलियां मारीं. अब ओंकार ज़मीन पर गिर पड़ा था और नहुश और उसके बॉडीगार्डों ने मिलकर पांच गोलियां ओंकार के सिर में मार दी थीं. ओंकार आखिरी घड़ियों में सोच रहा था कि कहानी पलट गई और हकीकत में हीरो ही ढेर हो गया.
Loading...

मुंबई हत्याकांड, फिल्म एक्टर की हत्या, एक्टर प्रोड्यूसर विवाद में हत्या, अवैध संबंधों के चलते हत्या, पुणे हत्याकांड, mumbai murder case, pune murder case, film actor murder, murder in actor producer dispute, murder in illicit relationship

अब यह लाश बन गई पहेली

कत्ल के बाद उस वीरान सुनसान जगह से नहुश अपने लोगों के साथ वहां से चला गया. 28 अप्रेल को किसी ने वहां एक लाश के पड़े होने की खबर पुलिस को दी तो पुलिस वहां पहुंची लेकिन उस लाश की शिनाख़्त नहीं हो सकी. पोस्टमॉर्टम के बाद ओंकार की लाश की पहचान नहीं हो पा रही थी तो जांच के लिए दस्ते बनाए गए. मुंबई, पुणे और ठाणे में लापता लोगों की डिटेल्स खंगाले गए. तकरीबन 20 दिन तक ओंकार की लाश मुर्दाघर में लावारिस पड़ी रही.

तभी एक पुलिस अफसर ने पुणे स्टेशन पर एक मिसिंग पोस्टर देखा तो पोस्टर के नीचे लिखे नंबर पर संपर्क किया. तब जाकर पुलिस को पता चला कि यह लाश किसकी है. अब ओंकार का भाई अनिकेत लाश की शिनाख़्त कर पुलिस में बयान दे चुका था. यह भी पता चल चुका था कि ओंकार की गुमशुदगी की रिपोर्ट उसकी पत्नी ने येरवडा में दर्ज कराई थी. आगे की पूछताछ से मिले इशारों के बाद पुलिस नहुश तक पहुंच गई थी.

मुंबई हत्याकांड, फिल्म एक्टर की हत्या, एक्टर प्रोड्यूसर विवाद में हत्या, अवैध संबंधों के चलते हत्या, पुणे हत्याकांड, mumbai murder case, pune murder case, film actor murder, murder in actor producer dispute, murder in illicit relationship
ओंकार कुंदन आरणे


ओंकार को पहली गोली लगी तो खून क्यों नहीं निकला?

पहली दो गोलियां अस्ल में नकली थीं और दिखावे की पिस्तौल से चलाई गई थीं इसलिए ओंकार को उनसे कोई खास नुकसान नहीं हुआ. अस्ल में नहुश दो गन रखता था. एक फिल्मों में काम आने वाली नकली जो वह केवल रौब दिखाने के लिए रखा करता था. हड़बड़ी में उसे ध्यान ही नहीं रहा कि उसने इसी नकली पिस्तौल से गोली चला दी. दो गोलियां मारने के बाद जब ध्यान आया तो उसने बॉडीगार्ड की गन का इस्तेमाल किया. इसी नकली गन और गोलियों ने पुलिस को अहम सुराग दिया. पुणे के रहने वाले ओंकार कुंदन आरणे के कत्ल के इल्ज़ाम में नहुश कुमार कोली पुलिस की हिरासत में आ चुका है. उसके दो बॉडीगार्डों को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.

ये भी पढ़ेंः
Teacher के दिए उस अनुभव से रोमांचित भी होता था Student और शर्मिंदा भी
गर्लफ्रेंड के लिए Wife को छोड़ा फिर किया मां-बाप का Murder
Inside Story : उस कातिल की तलाश जिसका कोई चेहरा ही नहीं था
पति-पत्नी के बीच था करार: 'जिसके साथ हुआ Extra Marital Affair उसे मार डालेंगे'
प्रेमिका ने लिखा मैसेज : 'मैं तुम्हारे खून में नहाना चाहती हूं'
ब्राज़ील से दिल्ली तक पानी भी न पिया तो पकड़ी गई ड्रग्स तस्कर

Gallery - आरुषि हत्याकांड के 10 साल, 10 अहम किरदार
Loading...

और भी देखें

पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...

वोट करने के लिए संकल्प लें

बेहतर कल के लिए#AajSawaroApnaKal
  • मैं News18 से ई-मेल पाने के लिए सहमति देता हूं

  • मैं इस साल के चुनाव में मतदान करने का वचन देता हूं, चाहे जो भी हो

    Please check above checkbox.

  • SUBMIT

संकल्प लेने के लिए धन्यवाद

काम अभी पूरा नहीं हुआ इस साल योग्य उम्मीदवार के लिए वोट करें

ज्यादा जानकारी के लिए अपना अपना ईमेल चेक करें

Disclaimer:

Issued in public interest by HDFC Life. HDFC Life Insurance Company Limited (Formerly HDFC Standard Life Insurance Company Limited) (“HDFC Life”). CIN: L65110MH2000PLC128245, IRDAI Reg. No. 101 . The name/letters "HDFC" in the name/logo of the company belongs to Housing Development Finance Corporation Limited ("HDFC Limited") and is used by HDFC Life under an agreement entered into with HDFC Limited. ARN EU/04/19/13618
T&C Apply. ARN EU/04/19/13626