होम /न्यूज /crime /Trilokpuri Murder: बरामद नहीं हो सका है हत्या और शव के टुकड़े करने में इस्तेमाल हथियार

Trilokpuri Murder: बरामद नहीं हो सका है हत्या और शव के टुकड़े करने में इस्तेमाल हथियार

Trilokpuri Murder: हत्या में उपयोग किया गया हथियार बरामद नहीं कर सकी है पुलिस  (ANI)

Trilokpuri Murder: हत्या में उपयोग किया गया हथियार बरामद नहीं कर सकी है पुलिस (ANI)

Trilokpuri Murder: पांडव नगर में एक शख्स की हत्या के बाद शव के टुकड़े करने में इस्तेमाल किए गए हथियार को पुलिस अभी तक ब ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

पांडव नगर में हत्या और शव के टुकड़े करने में इस्तेमाल हथियार बरामद नहीं हो सका.
आरोपी महिला ने अपने बेटे के साथ मिलकर पति की हत्या की और शव के 10 टुकड़े करके फेंक दिया.
आरोपी महिला इलाके में घरेलू सहायिका के तौर पर काम करती थी.

नई दिल्ली. पूर्वी दिल्ली के पांडव नगर इलाके में अपने पति की कथित रूप से हत्या करने और उसके शव के टुकड़े करने के लिए एक महिला और उसके बेटे ने जिन हथियारों का इस्तेमाल किया था, दिल्ली पुलिस अब तक उनका पता नहीं लगा पाई है. दिल्ली पुलिस के अधिकारियों ने मंगलवार को यह जानकारी दी. श्रद्धा वालकर हत्याकांड की तरह ही पांडव नगर में एक महिला द्वारा अपने बेटे के साथ मिलकर अपने पति की कथित तौर पर हत्या करके उसके शव के 10 टुकड़े करने का मामला सामने आया है.

पुलिस ने इस मामले का खुलासा करते हुए आरोपी महिला तथा उसके बेटे को सोमवार को गिरफ्तार कर लिया था. पुलिस ने बताया कि अंजन दास (45) की कल्याणपुरी निवासी उसकी पत्नी पूनम (48) और सौतेले बेटे दीपक (25) ने 30 मई को हत्या कर दी. इसके बाद दोनों ने शव के 10 टुकड़े किए और उन्हें एक फ्रिज में रख दिया. पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने मंगलवार को बताया कि हत्या में इस्तेमाल किया गया हथियार अभी बरामद नहीं किया गया है और मामले की जांच जारी है. दोनों आरोपी इस समय पुलिस की हिरासत में हैं.

त्रिलोकपुरी हत्याकांड: आरोपी पूनम ने की हैं 3 शादियां, घर में हो चुकी हैं कई संदिग्ध मौतें, पहला पति आज तक है गायब

पुलिस के मुताबिक इस जघन्य अपराध का कारण यह था कि दास अपनी सौतेली बेटी और दीपक की पत्नी के प्रति कथित तौर पर गलत इरादे रखता था. पुलिस के अनुसार साथ ही वह पूनम की कमाई बिहार में अपनी दूसरी पत्नी और आठ बच्चों को भी भेज रहा था. पूनम इलाके में घरेलू सहायिका के तौर पर काम करती थी. जबकि अंजन दास एक लिफ्टमैन था और उसकी कुछ खास कमाई नहीं थी. पैसों की खातिर भी परिवार में लगातार कलह होती रहती थी. उनके झगड़े की आवाजें अक्सर पड़ोसियों को सुनाई देती थी.

Tags: Brutal Murder, Crime News, Delhi Crime, Delhi Crime Branch

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें