भारत रत्न से सम्मानित दो पूर्व राष्ट्रपतियों के लिए 10 राजा जी मार्ग का बंग्ला रहा अशुभ, जानें इसका इतिहास
Delhi-Ncr News in Hindi

भारत रत्न से सम्मानित दो पूर्व राष्ट्रपतियों के लिए 10 राजा जी मार्ग का बंग्ला रहा अशुभ, जानें इसका इतिहास
भारत के दो पूर्व राष्ट्रपतियों के लिए 10 राजा जी मार्ग का यह बंग्ला अशुभ साबित हुआ है.

देश के दो पूर्व राष्ट्रपतियों के लिए 10 राजा जी मार्ग का यह बंग्ला (10 Rajaji Marg bungalow) अशुभ साबित हुआ है. इस बंग्ले में देश के सबसे लोकप्रिय पूर्व राष्ट्रपति, प्रसिद्ध वैज्ञानिक और भारत रत्न डा. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम (Dr. APJ. Abdul kalam) और अब एक और भारत रत्न से सम्मानित पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी (Pranab Mukherjee) का निधन हुआ है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 31, 2020, 9:33 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश के पूर्व राष्ट्रपति (President) और भारत रत्न प्रणब मुखर्जी (Pranab Mukherjee) अब नहीं रहे. सोमवार को उनका निधन हो गया. पिछले कई दिनों से मुखर्जी दिल्ली स्थित आर्मी अस्पताल में गहन कोमा में थे. प्रणब मुखर्जी राष्ट्रपति का कार्यकाल खत्म करने के बाद दिल्ली स्थित 10 राजा जी मार्ग के बंग्ला (10 Rajaji Marg bungalow) में रहा करते थे. बता दें कि इस बंग्ला में भारत के एक और पूर्व राष्ट्रपति और भारत रत्न से ही सम्मानित डा. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम (Dr. APJ. Abdul kalam) भी रहा करते थे. भारत के दो पूर्व राष्ट्रपतियों के लिए 10 राजा जी मार्ग का यह बंग्ला अशुभ साबित हुआ है. इस बंग्ले में देश के सबसे लोकप्रिय पूर्व राष्ट्रपति, प्रसिद्ध वैज्ञानिक और भारत रत्न डा. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम और अब एक और भारत रत्न से सम्मानित पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का निधन हुआ है.

10 राजाजी मार्ग बंगला का रहस्य
दोनों पूर्व राष्ट्रपति अपनी विनम्रता, सरलता, ज्ञान, मानवीय भावनाओं के लिए जाने जाते थे. दोनों के जीवन में अध्यात्म तथा विज्ञान का सुंदर समन्वय था. राष्ट्रपति का कार्यकाल समाप्त करने के बाद प्रणब मुखर्जी ने 10 राजा जी मार्ग बंग्ला में रहने की इच्छा जताई थी. इस बंग्ले में तब केंद्रीय मंत्री और गौतमबुद्ध नगर से बीजेपी सांसद महेश शर्मा रहा करते थे. प्रणब मुखर्जी की इस बंग्ला में रहने की इच्छा के बाद ही शहरी विकास मंत्रालय ने महेश शर्मा को बंग्ला खाली करने का अनुरोध किया था. महेश शर्मा ने प्रणब मुखर्जी के लिए यह बंग्ला खाली कर दिया था.

pranab mukherjee died, pranab mukherjee death, 10 Rajaji Marg bungalow, 10 Rajaji Marg, pranab mukherjee passed away, 10 raja ji marg, Meena Bagh, Krishna Manon Lane Area, New Delhi, Delhi 11001110, former President Pranab Mukherjee, allotted government house, APJ Abdul Kalam, Dr. APJ. Abdul kalam, BJP MP Mahesh Sharma,प्रणब मुखर्जी, प्रणब मुखर्जी का निधन, प्रणब मुखर्जी की ताजा खबरें, प्रणव मुखर्जी, भारत के पूर्व राष्ट्रपति, पीएम मोदी भारत रत्न, पीएम मोदी से था विशेष लगाव, मोदी और प्रणब मुखर्जी में दोस्ती कैसी थी, डा. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम, 10 राजा जी मार्ग, 10 राजा जी मार्ग बंग्ला, भारत रत्‍न, अशुभ लोग उन्हें प्रणब दा के नाम से जानते हैं. उनकी पैनी बुद्धि का लोहा हर कोई मानता रहा है.
लोग उन्हें प्रणब दा के नाम से जानते हैं. उनकी पैनी बुद्धि का लोहा हर कोई मानता रहा है.

दो पूर्व राष्ट्रपतियों के लिए बंग्ला रहा अशुभ


बता दें कि महेश शर्मा के साथ अजीब संयोग है. शर्मा ने 16वीं लोकसभा चुनाव जीतने के बाद भी यही बंग्ला मिला था. तब उन्होंने पूर्व राष्ट्रपति ए.पी.जे. अब्दुल कलाम के लिए यह बंग्ला खाली किया था. इस बंग्ला में रहते ही पूर्व राष्ट्रपति कलाम का भी निधन हुआ था. प्रणब मुखर्जी का भी पार्थिव शरीर इस बंग्ला में लाने की बात हो रही है. वहीं पर लोग उनका अंतिम दर्शन कर सकेंगे. पूर्व राष्ट्रपति कलाम की पार्थिव शरीर भी इसी बंग्ला में रखा गया था, जहां पर लोगों ने उनका अंतिम दर्शन किया था.

pranab mukherjee died, pranab mukherjee death, 10 Rajaji Marg bungalow, 10 Rajaji Marg, pranab mukherjee passed away, 10 raja ji marg, Meena Bagh, Krishna Manon Lane Area, New Delhi, Delhi 11001110, former President Pranab Mukherjee, allotted government house, APJ Abdul Kalam, Dr. APJ. Abdul kalam, BJP MP Mahesh Sharma,प्रणब मुखर्जी, प्रणब मुखर्जी का निधन, प्रणब मुखर्जी की ताजा खबरें, प्रणव मुखर्जी, भारत के पूर्व राष्ट्रपति, पीएम मोदी भारत रत्न, पीएम मोदी से था विशेष लगाव, मोदी और प्रणब मुखर्जी में दोस्ती कैसी थी, डा. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम, 10 राजा जी मार्ग, 10 राजा जी मार्ग बंग्ला, भारत रत्‍न, अशुभ पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम का निधन भी इसी बंग्ला में रहते हुआ था.
पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम का निधन भी इसी बंग्ला में रहते हुआ था. (फाइल फोटो)


प्रणब मुखर्जी और एपीजे कलाम रहा करते थे
प्रणब मुखर्जी साल 2012 में भारत के राष्ट्रपति निर्वाचित हुए. 2017 तक वह इस पद पर बने रहे. 2019 में प्रणब मुखर्जी को भारत रत्न दिया गया. राष्ट्रपति के तौर पर दो साल मनमोहन सिंह और तकरीबन तीन साल पीएम मोदी के साथ उन्होंने काम किया. पीएम मोदी के विशेष लगाव और मुखर्जी के 60 सालों तक देश की सेवा का ईनाम भारत रत्न के तौर पर मिला.

ये भी पढ़ें: राजनीतिक मतभेदों के बावजूद प्रणब मुखर्जी का PM modi से था विशेष लगाव

प्रणब मुखर्जी के निधन की जानकारी सोमवार को उनके बेटे अभिजीत मुखर्जी ने ट्वीट कर दी. पूर्व राष्ट्रपति के निधन के बाद देश में सात दिनों के लिए राष्ट्रीय शोक की घोषणा की गई है. मुखर्जी के निधन पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, पीएम मोदी, उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू सहित देश के तमाम बड़े नेता, मुख्यमंत्रियों और मंत्रियों ने गहरा दुख जताया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज