होम /न्यूज /दिल्ली-एनसीआर /COVID-19 Update: दिल्‍ली में कोरोना के 1007 नए मामले, 24 घंटे में 17 लोगों की मौत

COVID-19 Update: दिल्‍ली में कोरोना के 1007 नए मामले, 24 घंटे में 17 लोगों की मौत

राज्य में इस संक्रमण से मरने वालों की कुल संख्या 611 हो गयी है. (सांकेतिक फोटो)

राज्य में इस संक्रमण से मरने वालों की कुल संख्या 611 हो गयी है. (सांकेतिक फोटो)

दिल्‍ली में पिछले 24 घंटों में 1007 नए मामले सामने आने से अरविंद केजरीवाल सरकार (Arvind Kejriwal Government) की परेशानी ...अधिक पढ़ें

    नई दिल्‍ली. राष्‍ट्रीय राजधानी दिल्‍ली में कोरोना वायरस (Coronavirus) का कहर जारी है. जबकि पिछले 24 घंटों में 1007 नए मामले सामने आने से अरविंद केजरीवाल सरकार (Arvind Kejriwal Government) की परेशानी और बढ़ गयी है. इसके साथ दिल्ली में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा बढ़कर 29943 पहुंच गया है. हालांकि शहर में किसी एक दिन में सर्वाधिक मामले 3 जून को सामने आये थे और यह संख्या 1513 थी.

    पिछले 24 घंटे में 17 की मौत
    यही नहीं, दिल्‍ली सरकार के मुताबिक पिछले 24 घंटे 17 मौत हुई हैं. इसके चलते मरने वालों का आंकड़ा 874 पर पहुंचा गया है. जबकि 358 मरीज ठीक होकर अपने घर लौट गए हैं.

    दिल्‍ली में 17712 मरीजों का चल रहा है इलाज
    दिल्‍ली में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों का आंकड़ा 29943 तक पहुंच गया है. वहीं, इस समय राष्‍ट्रीय राजधानी में वायरस के 17712 एक्टिव मरीज हैं, जिनका विभिन्‍न अस्‍पतालों में इलाज चल रहा है. जबकि अब तक कुल 11357 मरीज ठीक होकर अपने घर लौट चुके हैं. इसके अलावा 874 लोगों की जान जा चुकी है.




    अनिल बैजल ने पलटा केजरीवाल सरकार का फैसला
    राष्‍ट्रीय राजधानी दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने मुख्‍यंमत्री अरविंद केजरीवाल के उस फैसले को एक दिन बाद ही पलट दिया, जिसमें कहा गया था कि दिल्ली के सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों में सिर्फ दिल्ली वालों का ही इलाज होगा. साफ है कि अब दिल्ली में कोई भी अपना इलाज करा सकेगा.

    शायद भगवान की मर्जी है कि हम पूरे देश के लोगों की सेवा करें: केजरीवाल
    अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा है, 'LG साहिब के आदेश ने दिल्ली के लोगों के लिए बहुत बड़ी समस्या और चुनौती पैदा कर दी है. देशभर से आने वाले लोगों के लिए कोरोना महामारी के दौरान इलाज का इंतज़ाम करना बड़ी चुनौती है. शायद भगवान की मर्ज़ी है कि हम पूरे देश के लोगों की सेवा करें. हम सबके इलाज का इंतज़ाम करने की कोशिश करेंगे.' अरविंद केजरीवाल के इस ट्वीट में लाचरगी और बेचारगी नजर आ रही है.

    वर्मा कमेटी की सिफारिश के बाद लिया था फैसला
    सीएम अरविंद केजरीवाल ने रविवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान कहा कि कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण और स्‍वास्‍थ्‍य संबंधी सुविधाओं पर सलाह देने के लिए उनकी सरकार ने एक कमेटी गठित की थी. उन्‍होंने बताया कि कमेटी ने जून के अंत तक 15,000 बेड उपलब्‍ध कराने की सिफारिश की है. इसके अलावा वर्मा कमेटी ने दिल्‍ली के अस्‍पतालों के बेड को दिल्‍ली के निवासियों के लिए सुरक्षित करने की भी सिफारिश की है. सीएम ने बताया कि कैबिनेट बैठक में इन सभी मसलों पर विचार विमर्श किया गया. उन्‍होंने बताया कि दिल्‍ली सरकार ने लोगों से भी इस बारे में राय मांगी थी. केजरीवाल की मानें तो दिल्‍ली की जनता ने भी राज्‍य की अस्‍पतालों में मौजूद बेड को यहां के स्‍थानीय निवासियों के लिए रिजर्व करने की राय व्‍यक्‍त की है. उन्‍होंने साफ कर दिया कि कोरोना संकट तक दिल्‍ली के निजी अस्‍पतालों के बेड भी दिल्‍ली वालों के लिए सुरक्षित रहेंगे. हालांकि, उन्‍होंने यह भी कहा कि कुछ स्पेशल निजी अस्पताल में लोग देशभर से आकर सर्जरी करवाते हैं वो सभी के लिए खुले रहेंगे.

    ये भी पढ़ेे

    LG अनिल बैजल ने पलटा सरकार का फैसला, अब कोई भी करा सकता है दिल्ली में इलाज

    Tags: Aam aadmi party, Arvind kejriwal, BJP, Corona patient in Delhi, Coronavirus Epidemic, Delhi news, Delhi news updates, Lockdown 5.0, Unlock 1.0

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें