लाइव टीवी

बांग्लादेश में जन्मीं और देश के सभी चुनाव देखने वालीं 111 साल की कलीतारा मंडल ने डाला वोट

भाषा
Updated: February 8, 2020, 1:28 PM IST
बांग्लादेश में जन्मीं और देश के सभी चुनाव देखने वालीं 111 साल की कलीतारा मंडल ने डाला वोट
111 साल की कलीतारा मंडल ने अपने मताधिकार का प्रयोग करने के बाद बड़े गर्व से अपनी स्याही लगी अंगुली फोटाग्राफर्स के सामने कर दी.

अविभाजित भारत (Undivided India) के बारीसाल (अब बांग्लादेश में है) में 1908 में जन्मीं मंडल ने 1947 का भारत-पाकिस्तान और 1971 का पाकिस्तान-बांग्लादेश विभाजन देखा है. साथ ही देश के लगभग सभी चुनाव देखने वालीं 111 साल की कलीतारा मंडल (Kalitara Mandal) ने भी दिल्ली विधानसभा चुनाव (Delhi Assembly Election) में वोट डाला.

  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली विधानसभा चुनाव (Delhi Assembly Election) में शनिवार को वोट डालने के बाद राजधानी की सबसे उम्रदराज महिला मतदाता कलीतारा मंडल (Kalitara Mandal) ने शनिवार को सभी से घरों से बाहर निकलने और पूरे उत्साह के साथ वोट डालने की अपील की. बेटे, पोते और परिवार के अन्य सदस्यों के साथ सीआर पार्क स्थित मतदान केंद्र पर पहुंचीं 111 साल की मंडल ने अपने मताधिकार का प्रयोग करने के बाद बड़े गर्व से अपनी स्याही लगी अंगुली फोटाग्राफर्स के सामने कर दी.

अपने परिवार के साथ दो बार शरणार्थी बनकर रहना पड़ा
उन्होंने न्यूज एजेंसी से कहा, ‘मुझे इस चुनाव में मतदान करके खुशी हो रही है. मुझे याद नहीं है कि मैंने कितने चुनावों में भाग लिया है, लेकिन जिम्मेदार नागरिक होने के नाते हमें वोट जरूर डालना चाहिए. मैं अन्य लोगों से भी घरों से निकलने और वोट डालने की अपील करती हूं.’ अविभाजित भारत के बारीसाल (अब बांग्लादेश में है) में 1908 में जन्मीं मंडल ने उपमहाद्वीप को कई बुरे दौरे से गुजरते हुए देखा हैं उन्होंने 1947 का भारत-पाकिस्तान और 1971 का पाकिस्तान-बांग्लादेश विभाजन भी देखा है. राष्ट्रीय राजधानी में बसने से पहले उन्हें अपने परिवार के साथ दो बार शरणार्थी बनकर भी रहना पड़ा है. राजधानी में 100 से ज्यादा आयु वाले मतदाताओं की संख्या करीब 150 है.

मंडल को मतपत्र और मतपेटियों वाले दिन भी याद हैं

भारत के करीब-करीब सभी चुनाव देखने और उनमें हिस्सा लेने वाली मंडल को मतपत्र और मतपेटियों वाले दिन बखूबी याद हैं. वह कहती हैं, ‘हां, मुझे याद है. वे लोग (मतदान अधिकारी) मेरे अंगूठे का निशान लेते और फिर मतपत्र को मोड़कर पेटी में डाला जाता था. मैंने बड़ी मशीनों (ईवीएम) पर भी मतदान किया है.’ मंडल को सीआर पार्क में के. ब्लॉक स्थित उनके आवास से मतदान केन्द्र तक लेकर आने वाले सहायक मतदान अधिकारी हरीश कुमार ने कहा, ‘मुझे बहुत अच्छा लगा कि उन्हें मतदान केंद्र तक लाने का काम मुझे सौंपा गया.’

ग्रेटर कैलाश में भी एक उम्रदराज व्यक्ति ने डाला वोट
सहायक मतदान अधिकारी ने कहा, ‘इस उम्र में भी वह आईं और वोट डाला. इससे हम सभी भारतीयों को अपने लोकतांत्रिक अधिकार का प्रयोग करने की प्रेरणा मिलनी चाहिए.’ कुमार ने बताया कि यहीं पास में ग्रेटर कैलाश में भी एक इतने ही उम्रदराज के व्यक्ति रहते हैं. दिल्ली विधानसभा की सभी 70 सीटों के लिए शनिवार को मतदान हो रहा है.ये भी पढ़ें - 

सपरिवार वोट डालकर अरविंद केजरीवाल ने महिलाओं से की यह खास अपील

Delhi Election 2020: कांग्रेस प्रत्याशी बोलीं- थोड़ा बहुत नर्वसनेस है

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 8, 2020, 1:27 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर