हाथिनी कुंड बैराज से छोड़ा गया 13433 क्यूसेक पानी, दिल्ली में बढ़ा यमुना का जलस्तर
Delhi-Ncr News in Hindi

हाथिनी कुंड बैराज से छोड़ा गया 13433 क्यूसेक पानी, दिल्ली में बढ़ा यमुना का जलस्तर
ऐसे में दिल्ली में यमुना नदी के आसपास के इलाकों में बाढ़ का खतरा बढ़ गया है.

हाथिनी कुंड बैराज (Hathini Kund Barrage) से मंगलवार सुबह 8 बजे 13433 क्यूसेक पानी छोड़ा गया है. इससे यमुना नदी (Yamuna River) का जलस्तर बढ़ गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 26, 2020, 10:59 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश की राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली (Delhi) में बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है. हरियाणा के हाथिनी कुंड बैराज (Hathini Kund Barrage) से मंगलवार सुबह 8 बजे 13433 क्यूसेक पानी छोड़ा गया है. इससे यमुना नदी (Yamuna River) का जलस्तर बढ़ गया है. खास बात यह है कि दिल्ली के ओल्ड यमुना ब्रिज में यमुना नदी का जलस्तर 203.78 मीटर दर्ज किया गया है. ऐसे में दिल्ली में यमुना नदी के आसपास के इलाकों में बाढ़ का खतरा बढ़ गया है.

बता दें कि पिछले साल अगस्त महीने में ही हथनीकुंड बैराज से एक लाख 43 हजार क्यूसेक पानी छोड़ा गया था. इसके बाद दिल्ली में यमुना नदी के पानी का जलस्तर बढ़ गया था. जलस्तर बढ़ने से यमुना के किनारे खेत पानी में डूब गए थे. हथनीकुंड बैराज से पानी छोड़ने के बाद यमुना नदी के आस-पास इलाकों में पानी भर गया था. वहीं, यमुना का जलस्तर बढ़ने से निचले इलाकों में बाढ़ का खतरा मंडराने लगा था. इसकी वजह से यमुना के तट पर बसे लोगों को अपना घर छोड़ना पड़ा था.


2017 में 94 हजार क्यूसेक पानी छोड़ा गया था
वहीं, इससे पहले अगस्त 2017 में हरियाणा के हथनीकुंड से यमुना नदी में 94 हजार क्यूसेक पानी छोड़ा गया था. जिसके बाद राजधानी में यमुना का जलस्तर चेतावनी के निशान (204.00 सेमी) को पार कर गया था. यमुना का जलस्तर बढ़ने से पुराने लोहे के पुल के आसपास बने घरों में यमुना का पानी पहुंच गया था. यमुना का जलस्तर बढ़ते ही सिंचाई एवं बाढ़ नियंत्रण विभाग ने यमुना के आसपास के क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को घर खाली करके सुरक्षित स्थानों पर चले जाने के लिए कहा था. विभाग के अधिकारी ने कहा था कि यमुना का जलस्तर बढ़ने की जानकारी पहले से ही थी, इसलिए विभिन्न माध्यमों से लोगों को पहले ही घर खाली करने की चेतावनी जारी कर दी गई थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज