Home /News /delhi-ncr /

दिल्ली: दिवाली से ठीक पहले 15 अवैध पिस्टल और 30 कारतूस बरामद, दो सप्लायर गिरफ्तार

दिल्ली: दिवाली से ठीक पहले 15 अवैध पिस्टल और 30 कारतूस बरामद, दो सप्लायर गिरफ्तार

सप्लायर्स से 15 सेमी ऑटोमेटिक पिस्टल बरामद

सप्लायर्स से 15 सेमी ऑटोमेटिक पिस्टल बरामद

Delhi News: पकड़े गए सप्लायरों ने बताया कि वो एमपी से एक पिस्टल 8 से 10 हजार रुपये में लेता था और वह इसे जुनैद खान को 15 हज़ार रुपये में बेच देता था. जुनैद खान एक पिस्टल को दिल्ली एनसीआर और आसपास के राज्यों यूपी और हरियाणा में अपराधियों को 25 से 30 हजार रुपए में बेच देता था. यह भी पता चला है कि गिरफ्तार दोनों व्यक्तियों ने पिछले 3 वर्षों के दौरान दिल्ली एनसीआर में 400 से अधिक अवैध हथियारों की आपूर्ति की है.

अधिक पढ़ें ...

    दिल्ली. पुलिस की स्पेशल सेल ने दो मेवाती बदमाशों को गिरफ्तार (Arrest) किया है जो काफी समय से हथियारों की सप्लाई कर रहे थे. इन दोनों के नाम शाकिर और जुनैद हैं, जिनके पास से 15 सेमी ऑटोमेटिक पिस्टल (Automatic Pistol) बरामद हुई है और 30 कारतूस भी बरामद किए गए है. यह सभी हथियार मध्य प्रदेश से दिल्ली-एनसीआर और दूसरे राज्य में सप्लाई करने के लिए लाए जाते थे.

    25 अक्टूबर को एसआई देवेंद्र भाटी को एक इनपुट मिला था कि शाकिर शाम 4 बजे से शाम 5 बजे के बीच सूरजकुंड टर्निंग एमबी रोड दिल्ली के पास जुनैद खान को पिस्टल और कारतूस सप्लाई करने के लिए आएगा. जिसके बाद एसीपी अतर सिंह और इंस्पेक्टर ईश्वर सिंह ने टीम बनाई और सूरजकुंड टर्निंग एमबी रोड के पास जाल बिछाया गया.

    शाम करीब 5.25 बजे एक संदिग्ध व्यक्ति को बैग लेकर सूरजकुंड टर्निंग एमबी रोड की ओर आते देखा गया.  मुखबिर ने उसकी पहचान शाकिर के रूप में की.  5 मिनट के बाद एक दूसरा व्यक्ति (जुनैद खान के रूप में पहचाना गया) शाकिर के पास पहुंचा जिसने बैग सौंप दिया. दोनों व्यक्तियों को टीम के सदस्यों ने घेर लिया और उन पर काबू पा लिया.

    तलाशी में दोनों के पास से .32 की 15 सेमी-ऑटोमैटिक पिस्टल और 30 जिंदा कारतूस बरामद हुए. शाकिर के पास से 10 पिस्टल, 30 जिंदा कारतूस और जुनैद खान के पास से 5 पिस्टल बरामद हुए. इनके खिलाफ़ थाना में शस्त्र (संशोधन) अधिनियम 2019 की धारा 25(8) के तहत मामला दर्ज किया गया था.

    पूछताछ के दौरान शाकिर ने खुलासा किया है कि उसने बरामद पिस्टल और कारतूस मप्र के खरगोन के एक अवैध पिस्टल निर्माता से खरीदे थे.  उसने आगे खुलासा किया है कि वह जुनैद खान सहित अपने अन्य सहयोगियों के साथ पिछले 3 वर्षों से दिल्ली एनसीआर, हरियाणा, पंजाब और यूपी में अवैध आग्नेयास्त्रों और गोला-बारूद की आपूर्ति में लिप्त है. उसने यह भी खुलासा किया है कि करीब 7 साल पहले उसे पास के गांव के एक व्यक्ति ने अपने हथियारों की तस्करी सिंडिकेट से जोड़ने का लालच दिया था.शाकिर ने उसके लिए 3 साल तक सप्लायर के रूप में काम किया, लेकिन बाद में उसने हथियारों की तस्करी का अपना नेटवर्क विकसित किया.

    जुनैद खान ने खुलासा किया है कि शाकिर ने उसे अपने सिंडिकेट में शामिल होने और हथियारों की तस्करी गतिविधियों में मदद करने के लिए लालच दिया था. आसान पैसे के लालच में जुनैद खान को शाकिर के साथ उसकी अवैध हथियारों की तस्करी गतिविधियों में शामिल होना पड़ा. दोनों ने दिल्ली एनसीआर में गैंगस्टरों और कठोर अपराधियों और यूपी, हरियाणा, पंजाब और एमपी में हथियार तस्करों को हथियारों की आपूर्ति में शामिल होने का खुलासा किया है.

    शाकिर को पहले वर्ष 2013 में हरियाणा में उसके मूल पुलिस स्टेशन में हथियार अधिनियम के तहत एक मामले में गिरफ्तार किया गया था. गिरफ्तार दोनों आरोपितों से आगे की पूछताछ जारी है.  इस सिंडिकेट के सदस्यों और दूसरे सदस्यों की पहचान करने का प्रयास किया जा रहा है.

    Tags: Crime News, Delhi police

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर