• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • दिल्ली: रेलवे में नौकरी दिलवाने के नाम पर 40 लोगों से ठगे 2 करोड़ 44 लाख, मास्टरमाइंड गिरफ्तार 

दिल्ली: रेलवे में नौकरी दिलवाने के नाम पर 40 लोगों से ठगे 2 करोड़ 44 लाख, मास्टरमाइंड गिरफ्तार 

आरोपी सूरजपुर ग्रेटर नोएडा का रहने वाला है

आरोपी सूरजपुर ग्रेटर नोएडा का रहने वाला है

Crime in Delhi: मुख्य आरोपी फरार था और उसकी तलाशी के लिए लगातार सर्च किया जा रहा था. जिसके बाद ग्रेटर नोएडा में उसके होने की जानकारी मिली. आरोपी का नाम मोहम्मद रागिब फिरोज है जो सूरजपुर ग्रेटर नोएडा का रहने वाला है

  • Share this:

दिल्ली. पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा ने सरकारी नौकरी दिलवाने के नाम पर धोखाधड़ी में शामिल एक जालसाज को गिरफ्तार (Arrest) किया है. इस मामले में दो आरोपी पहले ही गिरफ्तार किए जा चुके हैं. भारतीय रेलवे में नौकरी दिलाने के बहाने 40 पीड़ितों से 2.44 करोड़ रुपये ठगे गए. पीड़ितों से ये गैंग रेलवे में सरकारी नौकरी (Government Job) के नाम पर 5 से 6 लाख रुपए लेता था. पीड़ितों को फर्जी नियुक्ति और ट्रेनिंग पत्र जारी कर दिए गए थे. पीड़ितों की फर्जी मेडिकल जांच भी कराई गई और पीड़ितों के लिए देहरादून में तीन महीने का फर्जी ‘जॉब ट्रेनिंग’ कैम्प भी लगाया गया. पीड़ितों को कभी भी शक नहीं हुआ.

वर्तमान मामले में लगाए गए आरोपों के अनुसार पीड़ितों को भारतीय रेलवे में नौकरी दिलाने के बहाने कथित व्यक्तियों द्वारा ठगा गया था. इन आरोपियों में से एक ने खुद को एक वरिष्ठ आईएएस अधिकारी के रूप में प्रस्तुत किया, जबकि दूसरों ने फर्जी नियुक्ति पत्र जारी करके पीड़ितों के लिए फर्जी नौकरी प्रशिक्षण आयोजित किया. इन जालसाजों ने नौकरी के इच्छुक 40 पीड़ितों से 2.44 करोड़ रुपये लिए.

रकम मिलने के बाद पीड़ितों को नकली ‘नियुक्ति सह प्रशिक्षण पत्र’ जारी किए गए. फर्जी चिकित्सा परीक्षा आयोजित की गई और उनका विश्वास अर्जित करने के लिए देहरादून में तीन महीने का नौकरी प्रशिक्षण आयोजित किया गया. जब पीड़ित डीआरएम कार्यालय, टाटा नगर, जमशेदपुर ‘रिपोर्टिंग कार्यालय’ पहुंचे, तो उन्हें अंततः पता चला कि रेलवे बोर्ड ने कभी भी ऐसी कोई रिक्तियां जारी नहीं की हैं. एफआईआर आईपीसी की धाराएं 419, 420, 406, 467, 468, 471, 120बी के तहत आर्थिक अपराध शाखा में मामला दर्ज किया गया था. पीड़ितों के पास उनके फोन नंबरों को छोड़कर बाकी ठिकाने के बारे में कोई जानकारी नहीं थी. वे उनसे पहाड़गंज होटल और रेलवे भवन दिल्ली के पास मिलते थे.

आरोपी का नाम मोहम्मद रागिब फिरोज

इस मामले में ज्यादातर पीड़ित आगरा हाथरस और पटना के आसपास के गांवों के बेहद गरीब परिवारों से ताल्लुक रखते हैं. इस मामले में उनसे उनके गांवों में ही पूछताछ की गई थी. इससे पहले दो आरोपी बृज किशोर और सचिन कुमार को गिरफ्तार किया गया था. जबकि मुख्य आरोपी फरार था और उसकी तलाशी के लिए लगातार सर्च किया जा रहा था. जिसके बाद ग्रेटर नोएडा में उसके होने की जानकारी मिली. आरोपी का नाम मोहम्मद रागिब फिरोज है जो सूरजपुर ग्रेटर नोएडा का रहने वाला है. आरोपी मनोविज्ञान में पोस्टग्रेजुएट हैं और पत्रकारिता और जनसंचार में डिप्लोमा हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज