Delhi News: दिल्‍ली में कोरोना वैक्‍सीनेशन की रफ्तार बढ़ी, अब तक 20 लाख लोगों को लगा टीका, CM ने की ये अपील

दिल्‍ली में अब तक साढ़े तीन लाख से ज्यादा लोगों को दूसरी खुराक भी मिल चुकी है.

दिल्‍ली में अब तक साढ़े तीन लाख से ज्यादा लोगों को दूसरी खुराक भी मिल चुकी है.

दिल्‍ली सरकार (Delhi Government) के तमाम कोशिशों के बाद भी देश की राजधानी में कोरोना बेकाबू हो चुका है. हालांकि अब तक 20 लाख से अधिक लोगों को कोरोना वैक्‍सीन लग चुकी है. इस बीच सीएम अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने लोगों से बेवजह घर से बाहर न निकलने की अपील की है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 12, 2021, 8:50 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश की राजधानी दिल्ली (Delhi) में 17 लाख से ज्यादा लोगों को अब तक कोरोना वैक्‍सीनेशन (Corona Vaccination) की पहली खुराक दी जा चुकी है. वहीं, साढ़े तीन लाख से ज्यादा लोगों को दूसरी खुराक भी मिल चुकी है. स्वास्थ्य विभाग की ओर से रविवार को साझा किए गए आंकड़ों से यह जानकारी मिली है.

स्वास्थ्य विभाग के हालिया बुलेटिन में बताया गया कि अब तक 20,70,868 लोगों की टीके की खुराक दी जा चुकी है. इनमें से 17,12,109 लोगों की टीके की पहली खुराक, तो 3,58,759 लोगों को दूसरी खुराक भी दी जा चुकी है.

रविवार को शाम छह बजे तक 64,943 लाभार्थियों को कोविड-19 रोधी टीके लगाए गए हैं. आंकड़ों के अनुसार टीके की पहली खुराक 59,518 लोगों को दी गई है, तो 5,425 लोगों को टीके की दूसरी खुराक दी गई है. बता दें कि रविवार को 45-59 आयु वर्ग के 42,841 लोगों की टीके की खुराक दी गई है. आंकड़ों में बताया गया कि इस दौरान आंशिक प्रतिकूल प्रभाव के भी पांच मामले सामने आए.

दिल्ली में कोरोना बेकाबू
दिल्ली में रविवार को कोरोना ने सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं. राष्ट्रीय राजधानी में पिछले 24 घंटे में 10774 नए संक्रमित मिले हैं,तो 48 मरीजों की मौत हो गई है. दिल्ली में कुल टेस्ट 1 लाख 14 हजार 288 हुए थे, जिसमें पॉजिटिविटी रेट 9.43% रहा है.

अरविंद केजरीवाल ने लोगों से की ये अपील

इस बीच दिल्‍ली के सीएम अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने लोगों से अपील है कि घर से बाहर तभी निकले जब बहुत जरूरी हो. केजरीवाल ने कहा, ‘मैं लॉकडाउन के पक्ष में नहीं हूं. किसी भी सरकार को लॉकडाउन तब लगाना चाहिए जब अस्पतालों की व्यवस्था कोलैप्स कर जाए. आपका सहयोग चाहिए. अगर दिल्ली में अस्पताल कम पड़ गए तो हो सकता है कि दिल्ली में लॉकडाउन न लगाना पड़ जाए. अगर आप बिना लक्षण वाले हैं और अस्पताल चले गए तो आपने एक बेड को घेर लिया. इसलिए होम आइसोलेशन का प्रोग्राम का फायदा उठाइये और अस्पताल के बेड्स सीरियस मरीज़ों के लिए रखिये.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज