गुरुग्राम में बिना फायर NOC के चल रहे हैं 20 स्कूल, नगर निगम ने 3 बार भेजा नोटिस
Delhi-Ncr News in Hindi

गुरुग्राम में बिना फायर NOC के चल रहे हैं 20 स्कूल, नगर निगम ने 3 बार भेजा नोटिस
हरियाणा दमकल विभाग

नगर निगम की फायर ब्रिगेड विंग ने मानक पूरे कर एनओसी लेने के लिए 3 बार नोटिस भेजा, लेकिन अभी तक स्कूलों ने एनओसी के लिए आवेदन नहीं किया है. बच्चों के लिए खतरा बने इन स्कूलों की मान्यता रद्द करने के लिए शिक्षा विभाग को नगर निगम ने पत्र लिखा है.

  • Share this:
हरियाणा के गुरुग्राम में 20 स्कूलों के पास फायर एनओसी नहीं है. ये 20 स्कूल आग के गोले पर बैठे हैं. पिछले दिनों देश के कई इलाकों में हुए हादसे के बाद भी स्कूल प्रबंधनों ने कोई सबक नहीं लिया है और यही कारण है कि स्कूल में जो फायर के मापदंड होने चाहिए, उनका उल्लंघन किया जा रहा है.

हाल ही में दिल्ली के होटल में लगी आग से हुए 17 मौत के बाद शहर के स्कूल और अस्पतालओं ने भी सबक नहीं लिया. गुरुग्राम के करीब 20 स्कूल ऐसे हैं, जिनके पास फायर एनओसी नहीं है. नगर निगम की फायर ब्रिगेड विंग ने मानक पूरे कर एनओसी लेने के लिए 3 बार नोटिस भेजा, लेकिन अभी तक स्कूलों ने एनओसी के लिए आवेदन नहीं किया है. बच्चों के लिए खतरा बने इन स्कूलों की मान्यता रद्द करने के लिए शिक्षा विभाग को नगर निगम ने पत्र लिखा है. अब शिक्षा विभाग पर निर्भर करता है कि वह इन स्कूलों पर क्या कार्रवाई करता है.

न्यू कॉलोनी, मानेसर, सेक्टर-4, डीएलएफ फेज 3, सिंधरावली पटौदी, पटौदी बस स्टैंड, मानेसर अर्बन कॉम्पलेक्स, पालम विहार, ओल्ड रेलवे रोड, साउथ सिटी वन, सेक्टर-14, गढ़ी हरसरू, बादशाहपुर, इस्लामपुर, मैफिल्ड गार्डन, सुशांत लोक फेज वन और हंस एन्क्लेव जैसे कई क्षेत्रों की स्कूलों के पास फायर एनओसी नहीं है. सीएम विंडों पर शिकायत के बाद नगर निगम एक्शन मोड़ में आया. फायर ब्रिगेड की ओर से जिले के 20 स्कूल संचालकों को तीन बार फायर एनओसी के लिए नोटिस जारी किया गया जा चुका है. इसके बाद ही शिक्षा विभाग को एक्शन टेकन रिपोर्ट भेजकर मान्यता रद्द करने की बात कही गई है.



इस मामले में सीनियर फायर ऑफिसर इश्मय सिंह कश्यप का कहना है कि जिले भर के 20 स्कूल बिना फायर एनओसी के चल रहे हैं, इनको तीन बार नोटिस दिए गए हैं. इसके बाद भी किसी ने एनओसी नहीं ली. अब शिक्षा विभाग को इनकी मान्यता रद्द करने के लिए लिखा गया है. इस मामले को काफी गंभीरता से लिया गया है.
यह भी पढ़ें-  लोकसभा चुनाव 2019: आचार संहिता लगते ही मेवात में बोर्ड फ्लेक्स हटाने में आई तेजी

यह भी पढ़ें-  लोकसभा चुनाव 2019: भाभी को हरा कर बने थे पार्षद, आदित्य चौटाला पर अब भाजपा खेल सकती है दांव

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज