Home /News /delhi-ncr /

हरियाणा सरकार ने हुडा सिटी सेंटर से साइबर सिटी तक मेट्रो रेल परियोजना को दी मंजूरी

हरियाणा सरकार ने हुडा सिटी सेंटर से साइबर सिटी तक मेट्रो रेल परियोजना को दी मंजूरी

मनोहर लाल, मुख्यमंत्री (फाइल फोटो)

मनोहर लाल, मुख्यमंत्री (फाइल फोटो)

मुख्यमंत्री मनोहर लाल की अध्यक्षता में आयोजित गुरुग्राम महानगर विकास प्राधिकरण की चौथी बैठक में गुरुग्राम के हुडा सिटी सेंटर से साइबर सिटी/रैपिड मेट्रो तक मेट्रो रेल कनेक्टिविटी के लिए विस्तृत परियोजना रिपोर्ट को मंजूरी दे दी गई.

अधिक पढ़ें ...
हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल की अध्यक्षता में आयोजित गुरुग्राम महानगर विकास प्राधिकरण की चौथी बैठक में गुरुग्राम के हुडा सिटी सेंटर से साइबर सिटी/रैपिड मेट्रो तक मेट्रो रेल कनेक्टिविटी के लिए विस्तृत परियोजना रिपोर्ट को मंजूरी दे दी गई,  इस मार्ग पर मेट्रो रेल कनेक्टिविटी से सड़क़ों पर यातायात का दवाब कम होने के साथ- साथ वाहन संचालन की लागत और यात्रियों के समय में भी काफी बचत होगी.

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल की अध्यक्षता में आयोजित गुरुग्राम महानगर विकास प्राधिकरण की चौथी बैठक में सोमवार को गुरुग्राम के हुडा सिटी सेंटर से साइबर सिटी/रैपिड मेट्रो तक मेट्रो रेल कनेक्टिविटी के लिए विस्तृत परियोजना रिपोर्ट  को मंजूरी दे दी.  प्राधिकरण ने गुरुग्राम के लिए 160 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत की एक व्यापक ड्रेनेज प्लान को भी मंजूरी प्रदान की.

बैठक में बताया गया कि मेट्रो परियोजना हरियाणा मास रैपिड ट्रांसपोर्ट कॉरपोरेशन (एचएमआरटीसी) द्वारा लागू की जाएगी. मेट्रो रेल लाइन की कुल लंबाई 31.11 किलोमीटर है और इसमें 25 स्टेशन और 6 इंटरचेंज स्टेशन होंगे. इस मेट्रो लाइन के निर्माण पर अनुमानित लागत 5126 करोड़ रुपये होगी और इसके वर्ष 2023 में चालू किए जाने की संभावना है.

जिन मार्ग पर जिन मेट्रो स्टेशनों का प्रस्ताव किया गया है, उनमें हुडा सिटी सेंटर, सेक्टर 45, साइबर पार्क, सेक्टर 46, सेक्टर 47, सेक्टर 48, टेक्नोलॉजी पार्क, उद्योग विहार फेज 6, सेक्टर 10, सेक्टर 37, बसई, सेक्टर 9, सेक्टर 7, सेक्टर 4, सेक्टर 5, अशोक विहार, सेक्टर 3, कृष्णा चौक, पालम विहार एक्स्टेंशन, पालम विहार, सेक्टर 23 ए, सेक्टर 22, उद्योग विहार फेज-4 और 5 तथा साइबर सिटी शामिल है.

बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि निरंतर संचालन के लिए मेट्रो कॉरिडोर और रैपिड मेट्रो के बीच ट्रैक इंटीग्रेशन पर विचार किया जाएगा.  बैठक में बताया गया कि गुरुग्राम मेट्रोपॉलिटन सिटी बस लिमिटेड ने राज्य परिवहन प्राधिकरण को पीक आवर्स के दौरान गुरुग्राम से फरीदाबाद तक सेवाएं शुरू करने के लिए परमिट जारी करने के लिए लिखा है,  इसके अलावा, गुरुग्राम से दिल्ली (धौला कुआं और द्वारका) के लिए सेवा शुरू करने के लिए दो मार्गों की पहचान की गई है, इसके लिए 25 बसों की व्यवस्था की गई है. सिटी बस सेवा के तहत गुरुग्राम में 6 मार्गों पर 81 बसें चल रही हैं.

मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि बसों के लिए मार्गों को अंतिम रूप देते समय आम जनता से सुझाव लिए जाएं ताकि अधिकतम लोग इस बस सेवा का लाभ उठा सकें. मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे अधिकतम जल की स्टोरेज हेतु गुरुग्राम के लिए जीरो ड्रेन आउट सिस्टम को तैयार करें.

बैठक में यह भी बताया गया कि गुरुग्राम के लिए एक व्यापक ड्रेनेज योजना को चरणबद्ध तरीके से चलाया जाएगा. योजना में जल संचयन संरचनाएं, तालाब और क्रीक के चैनलाइजेशन और लेग-4 (वाटिका चौक, सोहना रोड पर रेलवे कल्वर्ट-61 तक) का निर्माण और एसपीआर से रेलवे कल्वर्ट 61 से रिचार्ज कुओं का निर्माण शामिल होगा. इस उद्देश्य के लिए अगले दो वर्षों में 160 करोड़ रुपये की राशि खर्च की जाएगी.

यह भी पढ़ें- हरियाणा सरकार ने दिया कर्मचारियों को तोहफा, महंगाई भत्ते में 3 प्रतिशत की बढ़ोतरी की

यह भी पढ़ें- पुराने गुरुग्राम को जल्द मिलेगी मेट्रो की सौगात, GMDA की 1,434 करोड़ का बजट पास

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

Tags: Gurgaon news, Haryana news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर