लाइव टीवी

निजामुद्दीन मामलाः मनीष सिसोदिया बोले- 2361 लोगों को मरकज से निकाला, 36 घंटे चला ऑपरेशन
Delhi-Ncr News in Hindi

News18Hindi
Updated: April 1, 2020, 12:09 PM IST
निजामुद्दीन मामलाः मनीष सिसोदिया बोले- 2361 लोगों को मरकज से निकाला, 36 घंटे चला ऑपरेशन
मनीष सिसोदिया ने उन सभी लोगों का आभार जताया जो इस ऑपरेशन का हिस्सा बने. उन्होंने कहा कि 36 घंटे चले इस ऑपरेशन में जिन्होंने भी सहयोग दिया और अपनी जान जोखिम में डाली मैं उनका आभारी हूं.(फाइल फोटो)

डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने बताया कि 617 लोगों में कोरोना (Corona) के लक्षण मिलने पर उन्हें अस्पताल में ले जाया गया है, वहीं अन्य लोगों को क्वारेंटाइन में रखा गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 1, 2020, 12:09 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. राजधानी के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) ने बुधवार को निजामुद्दीन मामले में बताया कि इस पूरे अभियान में 2361 लोगों को मरकज़ से निकाला गया है. साथ ही उन्होंने बताया कि इस दौरान 617 लोगों में कोरोना (Corona) के लक्षण पाए गए जिन्हें अस्पताल भेजा गया है. वहीं अन्य लोगों को क्वारेंटाइन में रखा गया है. इस दौरान सिसोदिया ने उन सभी लोगों का आभार जताया जो इस ऑपरेशन का हिस्सा बने. उन्होंने कहा कि 36 घंटे चले इस ऑपरेशन में जिन्होंने भी सहयोग दिया और अपनी जान जोखिम में डाली मैं उनका आभारी हूं.

200 विदेशियों की जानकारी सरकार को दी
इससे पहले दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने मरकज में हिस्सा लेने वाले 200 विदेशियों के राजधानी की अलग अलग मस्जिदों में होने की जानकारी दिल्ली सरकार को दी थी. पुलिस ने बताया कि था कि इनमें से 100 लोगों की पहचान और ये किन मस्जिदों में ठहरे हैं, इसकी जानकारी जुटा ली गई है. वहीं, सात अन्य इंडोनेशियाई नागरिकों को भी आइसोलेशन सेंटर में भेजा गया है ये भी आयोजन में हिस्सा लेकर मंगोलपुरी इलाके में स्थित एक मस्जिद में रुके हुए थे.





अलग-अलग देशों से पहुंचे हैं सभी
जानकारी के अनुसार जिन 200 लोगों रिपोर्ट पुलिस ने दिल्ली सरकार को दी है वे आठ अलग-अलग देशों के नागरिक हैं. ये इंडोनेशिया, बेल्जियम, अल्जीरिया, मलेशिया, इटली, ट्यूनीशिया, बांग्लादेश और किर्गिस्तान से मरकज़ में शामिल होने के लिए भारत पहुंचे थे. पुलिस को आशंका है कि ये लोग कोरोना के संक्रमण की चपेट में हो सकते हैं और इनके चलते अन्य लोगों में भी संक्रमण का खतरा है. इसके बाद पुलिस ने अपनी जांच तेज की और 100 लोगों की पहचान व ठिकाने की जानकारी जुटा ली गई है.

दिल्ली पुलिस ने दर्ज की एफआईआर
वहीं मामले में दिल्ली पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर ली है. एफआईआर मौलाना साद और अन्य के खिलाफ लिखी गई है. अब इस मामले की दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच करेगी. गौरतलब है कि मंगलवार सुबह सीएम अरविंद केजरीवाल और सोमवार रात दिल्ली के हैल्थ मिनिस्टर सतेन्द्र जैन ने एलजी को एक खत लिखा था. खत में मरकज की इंतजामियां के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने की सिफारिश की गई थी.

ये भी पढ़ेंः मरकज में आए 200 विदेशी दिल्ली की अलग-अलग मस्जिदों में मौजूद
First published: April 1, 2020, 11:43 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading