• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • रोह‍िणी के कोर्ट रूम 207 के अंदर पहले से वकील बनकर बैठे थे बदमाश, जितेंद्र गोगी के आते ही शुरू हो गई फायर‍िंग और फ‍िर...

रोह‍िणी के कोर्ट रूम 207 के अंदर पहले से वकील बनकर बैठे थे बदमाश, जितेंद्र गोगी के आते ही शुरू हो गई फायर‍िंग और फ‍िर...

दिल्ली में कोर्ट परिसरों की सुरक्षा व्यवस्था को और कैसे बेहतर किया जा सकता है?

दिल्ली में कोर्ट परिसरों की सुरक्षा व्यवस्था को और कैसे बेहतर किया जा सकता है?

Shootout at Delhi's Rohini Court : रोहिणी कोर्ट में गोगी गैंग के सरगना जितेंद्र गोगी (Jitendra Gogi) की पेशी के दौरान दो बदमाशों की फायरिंग में मौत होने से हड़कंप मच गया है. हालांकि पुलिस ने वकील की ड्रेस में कोर्ट आए दोनों बदमाशों को ढेर कर दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    नई दिल्‍ली. राजधानी दिल्‍ली के रोहिणी कोर्ट (Rohini Court) में गोगी गैंग के सरगना जितेंद्र गोगी (Jitendra Gogi) की पेशी के दौरान कोर्ट रूम संख्‍या 207 में पहले से वकील की ड्रेस में बैठे दो बदमाशों ने हमला कर दिया. इस दौरान जितेंद्र गोगी गंभीर रूप से घायल हो गया और अस्‍पताल जाते-जाते उसकी मौत हो गयी. वहीं,  पुलिस ने जवाबी कार्रवाई करते हुए दोनों बदमाशों को ढेर कर दिया. पुलिस सूत्रों के मुताबिक, गोगी गैंग के सरगना जितेंद्र गोगी पर यह हमला उसके विरोधी सुनील मान उर्फ टिल्लू ताजपुरिया गैंग के दो हमलावरों ने किया है.

    जितेंद्र गोगी की पेशी एएसजे गगन दीप सिंह (Additional Session Judge Gagan Deep Singh) के कोर्ट में हो रही थी. जबकि कोर्ट रूम में पेशी के दौरान गैंगस्‍टर पर हमला होने से हड़कंप मच गया है. इस पर दिल्‍ली पुलिस के आयुक्‍त राकेश अस्‍थाना ने कहा कि यह गैंगवार नहीं है बल्कि हमला है. जबकि पुलिस ने जवाबी कार्रवाई करते हुए दोनों हमलावरों को ढेर कर दिया है. हालांकि कोर्ट रूम में वकील की ड्रेस में बदमाशों के पहुंचने से सुरक्षा व्‍यवस्‍था पर सवाल उठ रहे हैं. दिल्ली की रोहिणी कोर्ट में फायरिंग की घटना पर वकील ललित कुमार ने कहा कि घटना गोगी की सुनवाई के दौरान हुई. जज, स्टॉफ और वकील भी मौजूद थे. सुनने में आया है कि हमारी एक इंटर्न के पैर में भी गोली लगी है. घटना आज दोपहर लगभग 1 बजे की है. सुबह ठीक से चेकिंग नहीं हो पाती है, जो कि बहुत बड़ी लापरवाही है.

    इसके अलावा वकील ने कहा कि हमलावर वकील की ड्रेस में आए थे. उन्होंने गोगी को लगातार 3 गोलियां मारीं. गोगी की सुरक्षा में जो दिल्ली पुलिस के लोग थे उन्होंने 25-30 गोलियां चलाई हैं, जिसमें अपराधियों की मौत घटनास्थल पर हो गई. जबकि गोगी की अस्पताल में मौत हुई.

    एक साल पहले पुलिस के हत्‍थे चढ़ा था जितेंद्र गोगी
    बता दें कि करीब 1 साल पहले दिल्ली पुलिस ने गुप्त सूचना मिलने के बाद कुख्यात गैंगस्टर जितेंद्र गोगी की गिरफ्तारी के लिए गुड़गांव के सेक्टर 83 में छापा मारा था. इस दौरान गोगी के साथ उसके गैंग के तीन साथी कुलदीप मान उर्फ फज्जा, रोहित उर्फ मोई और कपिल उर्फ गौरव भी फ्लैट में थे. पुलिस से घिरने के बाद जितेंद्र गोगी ने फोन पर वीडियो बनाकर वायरल कर दिया था. उसका आरोप था कि पुलिस उसका एनकाउंटर कर देगी और वो सरेंडर करना चाहता है. साथ ही उसने कहा था कि मैं अपने साथियों कुलदीप और मोई के साथ सरेंडर करना चाहता हूं. हमारे पास कोई हथियार नहीं है.दिल्ली के अलीपुर के रहने वाले गैंगस्टर जितेंद्र गोगी पर गिरफ्तारी के समय लगभग 8 लाख रुपये का इनाम घोषित था. गोगी बेहद कुख्यात बदमाश था, जिस पर हत्या, जबरन उगाही और पुलिस पर हमला करने जैसे तमाम मामले दर्ज थे. बता दें कि कुछ महीने पहले जितेंद्र गोगी के खास माने जाने वाले कुलदीप मान उर्फ फज्जा का दिल्‍ली पुलिस ने एनकाउंटर कर दिया था. यह एनकाउंटर रोहिणी के एक फ्लैट में हुआ था.

    बहुत पुरानी है टिल्लू और जितेंद्र की दुश्मनी
    पुलिस सूत्रों के मुताबिक, टिल्लू ताजपुरिया और जितेंद्र गोगी दोनों ही दिल्ली यूनिवर्सिटी के श्रद्धानंद कॉलेज के स्टूडेंट थे.जबकि कॉलेज के समय से ही दोनों के बीच दुश्मनी शुरू हो गई. यही नहीं, गोगी गैंग और टिल्लू ताजपुरिया गैंग के बीच पिछले 3-4 वर्षों में 20 से ज्यादा गैंगवार हुई हैं, जिसमें कई लोगों की जान चली गई. इससे पहले दिल्ली के बुराड़ी इलाके में भी इन दोनों गैंग के बीच फायरिंग हुई थी, जिसमें तीन लोगों की जान चली गई थी.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज