विदेशियों से करोड़ों की धोखाधड़ी करने वाले 3 फर्जी कॉल सेंटरों का पर्दाफाश, 37 कर्मचारी गिरफ्तार

दिल्ली पुलिस ने तीन फर्जी कॉल सेटरों पर छापा मारकर 37 लोगों को गिरफ्तार किया है.

दिल्ली पुलिस ने तीन फर्जी कॉल सेटरों पर छापा मारकर 37 लोगों को गिरफ्तार किया है.

दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की स्पेशल साइबर सेल ने तीन ऐसे कॉल सेंटरों (Call Centers) का पर्दाफाश किया है, जो विदेशी लोगों से करोड़ों की ठगी (Fraud) कर चुके हैं. पुलिस (Police) ने कॉल सेंटर में काम करने वाले 37 लोगों को गिरफ्तार किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 23, 2021, 9:11 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की स्पेशल सेल की साइबर यूनिट ने तीन ऐसे कॉल सेंटरों (Call Centers) का भंडाफोड़ किया है, जिनके द्वारा विदेशी लोगों को ठगा जा रहा था. पुलिस (Police) ने इन कॉल सेंटरों पर काम करने वाले 37 लोगों को गिरफ्तार भी किया है. जिनमें मैनेजर, सुपरवाइजर और ऑपरेटर शामिल हैं. इनमें 9 बिंदापुर कॉल सेंटर से बाकी 28 जनकपुरी के 2 कॉल सेंटरों से गिरफ्तार किए गए हैं.

इनके पास से 56 डेस्कटॉप और 41 फोन बरामद किए गए हैं. जो विदेशी नागरिकों को फर्जी सोशल सिक्योरिटी नंबर स्कैम, अमेजॉन टेक्निकल सपोर्ट स्कैम और एप्पल टेक्निकल सपोर्ट स्कैम की फर्जी प्रोसेसिंग का झांसा देकर जालसाजी को अंजाम देते थे. दो अवैध कॉल सेंटर जनकपुरी इलाके में और एक बिंदापुर में चलाया जा रहा था. आरोपी विदेशी नागरिकों को वॉइस रिकॉर्डिंग भेजकर यूएस ड्रग्स एन्फोर्समेंट की जांच के नाम पर डराकर पेमेंट वसूलते थे. इनमें से जनकपुरी सेंटर के कर्मचारियों को बिल्डिंगों के आसपास ज्यादा भीड़ और पार्किंग में गाड़ियां खड़ा करने से भी मना किया गया था ताकि किसी को इन पर शक न हो.

लंगड़े चोर ने दुकान से उड़ाये 49 मोबाइल फोन, पुलिस ने इस तरह पहचान कर किया गिरफ्तार

आरोपियों ने खुलासा किया कि ये हजारों लोगों से करोड़ों से ज्यादा वसूल कर चुके हैं. ये विदेश में अलग- अलग देशों के नागरिकों को फंसाते थे कि उनके खातों के जरिये ड्रग्स के लिए पैसा गया है और उनकी डिटेल अपराध में शामिल है.
उन्हें जल्द एजेंसियों के द्वारा गिरफ्तार कर लिया जाएगा. अगर कोर्ट या जांच एजेंसियों से बचना है तो जल्दी से पैसा देकर समझौता कर लो. टेली कॉलर्स को 25 हज़ार हर महीने दिए जाते थे. बिंदापुर कॉल सेंटर ने एक हज़ार लोगों को धोखाधड़ी से 10 करोड़ की जालसाजी की है. वहीं जनकपुरी सेंटरों में एक हजार से ज्यादा लोगों से 5 करोड़ की जालसाजी को अंजाम दिया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज