• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • दिल्ली: फर्जी मैरिज वेबसाइट बना 100 महिलाओं से ठगे 25 करोड़, दो नाइजीरियाई समेत 3 जालसाज गिरफ्तार

दिल्ली: फर्जी मैरिज वेबसाइट बना 100 महिलाओं से ठगे 25 करोड़, दो नाइजीरियाई समेत 3 जालसाज गिरफ्तार

Cyber Criminals Arrested: आरोपी 35 साल अधिक उम्र की महिलाओं को टारगेट करते थे.(सांकेतिक तस्‍वीर)

Cyber Criminals Arrested: आरोपी 35 साल अधिक उम्र की महिलाओं को टारगेट करते थे.(सांकेतिक तस्‍वीर)

Delhi Cyber Crime Case: आरोपी फर्जी मैरिज वेबसाइटों पर नकली प्रोफाइल बनाते थे और और खुद को एक योग्य, शिक्षित और NRI बताते हैं. उनका निशाना 35 या उससे अधिक आयु वाली वे विधवा, परित्यकता या अन्य महिलाएं होती थीं, जो मैरिज वेबसाइट पर अपने लिए दूल्हे की तलाश करती थीं.

  • Share this:

नई दिल्ली. शाहदरा जिले के साइबर सेल ने दो नाइजीरियाई नागरिकों समेत 3 ऐसे जालसाजों को गिरफ्तार किया है, जो शादी की फर्जी वेबसाइट के जरिए लोगों को धोखाधड़ी का शिकार बनाते थे. अब तक इन जालसाजों ने 100 से ज्यादा पीड़ितों को अपना शिकार बनाकर 25 करोड़ की जालसाजी को अंजाम दिया है. इन आरोपियों की कहानी पर विश्वास करके अपने रिश्ते को बचाने के लिए अपनी सारी बचत खो देने वाली और अपने सोने के गहने बेचने वाली एक पीड़िता से 15 लाख रुपये की धोखाधड़ी की. इनके साथ कमीशन के जरिये जालसाजी में साथ देने के आरोप में एक भारतीय नागरिक भी पकड़ा गया है.

आरोपियों के पास से 6 बैंक डेबिट कार्ड, 5 POS स्वाइप मशीन, 3 मोबाइल फोन, एक लैपटॉप और एक सैमसंग टैबलेट बरामद किया गया है. पूछताछ के दौरान यह पता चला है कि आरोपी एलेक्स और लॉरेंस दूसरे नाइजीरियाई लोगों की तरह भारत में घोटाला कर रहे हैं. वैवाहिक वेबसाइटों पर नकली प्रोफाइल बनाते हैं. और खुद को एक योग्य, शिक्षित और NRI बताते हैं. वे खुद को डॉक्टर, इंजीनियर या व्यवसायी के रूप में दिखाते हैं.

भावनात्मक रूप से उलझाकर देते थे शादी का प्रस्ताव

भारतीय एजेंसियों के रडार से बचने के लिए अंतरराष्ट्रीय नंबर का इस्तेमाल करके नकली प्रोफ़ाइल बनाते हैं. वे अविवाहित या विधवा महिलाओं को टारगेट करते हैं, जिनकी उम्र 35 वर्ष से अधिक है और जिसे वैवाहिक वेबसाइटों के माध्यम से दूल्हे की सख्त तलाश है.

डीसीपी शाहदरा सत्य सुन्दरम ने बताया कि वे सोशल मीडिया मैसेंजर ऐप यानी व्हाट्सएप, फेसबुक आदि के माध्यम से चैट करना शुरू करते हैं. ऐसी महिलाओं के साथ अंतरराष्ट्रीय नंबर को दिखाकर उनका विश्वास जीतने के लिए उन्हें भावनात्मक रूप से उलझाकर शादी का प्रस्ताव देते हैं. समय के साथ वे एक या दूसरे बहाने से उनसे पैसे मांगना शुरू कर देते है.

कैसे देते थे ठगी को अंजाम

वह कहते हैं कि मेडिकल सहायता के लिए सीरिया या अफगानिस्तान में युद्ध क्षेत्र में है. इससे बाहर निकलने के लिए मदद की आवश्यकता है. ये जालसाज धोखाधड़ी के पैसे नाइजीरियाई बैंक खातों में स्थानांतरित करते हैं, जो उनके गिरोह के सदस्यों, परिवार और रिश्तेदारों से संबंधित होते हैं और स्वाइप मशीनों के माध्यम से पैसे निकालते हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज