Home /News /delhi-ncr /

3 workers fall into sewer in delhi rescue efforts underway nodvm

दिल्ली में 3 कर्मचारी सीवर में गिरे, बचाव कार्य जारी, गटर में दम तोड़ चुकी हैं कई जानें

उत्तरी-पश्चिमी दिल्ली के संजय गांधी ट्रांसपोर्ट नगर में तीन कर्मचारी सीवर में गिर गए.
(सांकेतिक तस्वीर)

उत्तरी-पश्चिमी दिल्ली के संजय गांधी ट्रांसपोर्ट नगर में तीन कर्मचारी सीवर में गिर गए. (सांकेतिक तस्वीर)

Noida News: उत्तरी-पश्चिमी दिल्ली के संजय गांधी ट्रांसपोर्ट नगर में मंगलवार को तीन कर्मचारी सीवर में गिर गए. पुलिस ने बताया कि बचाव कार्य जारी है. उन्होंने बताया कि कर्मचारियों की मदद करने गया एक व्यक्ति भी सीवर में फंस गया है. पुलिस के अनुसार, समयपुर बादली थाने को शाम करीब साढ़े छह बजे (6:30) घटना की सूचना मिली. पुलिस दल तत्काल मौके पर पहुंचा और इलाके की घेराबंदी की. दमकल विभाग के अधिकारी भी बचाव कार्य में जुटे हैं. बाहरी दिल्ली के पुलिस उपायुक्त बृजेन्द्र कुमार यादव बचाव कार्य जारी है, लेकिन अभी तक चारों में से किसी को बाहर नहीं निकाला जा सका है.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. उत्तरी-पश्चिमी दिल्ली के संजय गांधी ट्रांसपोर्ट नगर में मंगलवार को 3 कर्मचारी सीवर में गिर गए. पुलिस ने बताया कि बचाव कार्य जारी है. उन्होंने बताया कि कर्मचारियों की मदद करने गया एक व्यक्ति भी सीवर में फंस गया है. पुलिस के अनुसार, समयपुर बादली थाने को शाम करीब साढ़े छह बजे (6:30) घटना की सूचना मिली. पुलिस दल तत्काल मौके पर पहुंचा और इलाके की घेराबंदी की. दमकल विभाग के अधिकारी भी बचाव कार्य में जुटे हैं.

बाहरी दिल्ली के पुलिस उपायुक्त बृजेन्द्र कुमार यादव बचाव कार्य जारी है, लेकिन अभी तक चारों में से किसी को बाहर नहीं निकाला जा सका है. अभी पता नहीं चला है कि कर्मचारी सीवर में कैसे फंसे.

सीवर में कई लोगों ने तोड़ा दम

इससे पहले यूपी के रायबरेली और लखनऊ में भी मंगलवार को सीवर की सफाई के दौरान 4 लोगों की मौत हो गई जबकि एक अन्य अस्पताल में है. रायबरेली में अमृत योजना के तहत डाली गई सीवर लाइन की टेस्टिंग के लिए उतरे आगरा की एक कंस्ट्रक्शन कंपनी के दो सफाई कर्मचारियों की मौत हो गई.दोनों का शव बरामद कर लिया गया है. मृतकों में एक मथुरा और दूसरा राजस्थान के धौलपुर का रहने वाला बताया जा रहा है.

वहीं लखनऊ में बिना सुरक्षा उपकरण गहरे मैनहोल में उतरकर सीवर साफ कर रहे दो कर्मचारियों की दम घुटने से मौत हो गई. एक कर्मचारी को गंभीर हालत में भर्ती कराया गया है। जानकारी के मुताबिक, तीनों कर्मचारी निजी कंपनी सुएज इंडिया के हैं. लापरवाही के आरोप में कंपनी के खिलाफ केस दर्ज हुआ है.

सालभर के आंकड़े चौंकाने वाले 

केंद्र के राष्ट्रीय सफाई कर्मचारी आयोग (एनसीएसके) ने आरटीआई के तहत बताया कि राज्यों द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक देश के 20 राज्यों ने 1993 से लेकर अब तक के सीवर सफाई के दौरान कुल 814 लोगों की मौत होने की जानकारी दी है और इसमें से सिर्फ 455 मामलों में ही पूरे 10 लाख का मुआवजा दिया गया है.

गौरतलब है कि 27 मार्च 2014 को सुप्रीम कोर्ट ने सफाई कर्मचारी आंदोलन बनाम भारत सरकार मामले में आदेश दिया था कि साल 1993 से सीवरेज कार्य (मैनहोल, सेप्टिक टैंक) में मरने वाले सभी व्यक्तियों के परिवारों की पहचान करें और उनके आधार पर परिवार के सदस्यों को 10-10 लाख रुपये का मुआवजा प्रदान किया जाए.

 (भाषा इनपुट के साथ)

Tags: Delhi news, Sewer Worker

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर