ट्रक में छिपकर दिल्ली से हरियाणा जा रहे थे 37 मजदूर, पुलिस ने किया मामला दर्ज

अब पुलिस फरार हुए नाबालिगों की तलाश कर रही है. (प्रतीकात्मक फोटो)
अब पुलिस फरार हुए नाबालिगों की तलाश कर रही है. (प्रतीकात्मक फोटो)

मामला पुल पहलाद पुर थाना (Pul Pahlad Pur Police Station) इलाके का है. सभी मजदूरों को हरियाणा के पलवल मंडी के लिए ले जाया जा रहा था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 17, 2020, 11:51 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश की राजधानी दिल्ली (Delhi) में एक बड़ी खबर सामने आई है. कहा जा रहा है कि दक्षिण पूर्वी दिल्ली (South East Delhi) में बीती रात पुलिस ने चेकिंग के दौरान एक ट्रक से 37 मजदूरों को पकड़ा है. ये सभी मजदूर हरियाणा जा रहे थे. ट्रक पर मजदूरों के साथ-साथ ठेकेदार भी बैठा था. पुलिस ने उसे भी पकड़ ले लिया है.

जानकारी के मुताबिक, मामला पुल पहलाद पुर थाना (Pul Pahlad Pur Police Station) इलाके का है. जानकारी के मुताबिक, हरियाणा नंबर का ट्रक था. सभी मजदूरों को हरियाणा के पलवल मंडी के लिए ले जाया जा रहा था. इसी ट्रक पर ठेकेदार ब्रजेश भी मौजूद था. पूछताछ के दौरान ठेकेदार ब्रजेश ने माना कि इन सभी को ओखला मंडी और छतरपुर इलाके से लाया गया है. सभी मजदूर बिहार के रहने वाले हैं. फिलहाल, ये लोग छतरपुर में रह रहे थे. पुलिस ने आईपीसी की धारा 188 /269/ 270 और 3 महामारी अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर किया है. सभी मजदूरों को छतरपुर में रखा गया है.

बता दें कि बीते 26 मार्च को ऐसा ही एक मामला बिहार के भोजपुर जिले में सामने आया था. तब जिले के कोईलवर थाना की पुलिस ने एक ट्रक में छिपकर जा रहे 62 मजदूरों को पकड़ा था. पकड़े गए मजदूर कोलकाता से ट्रक में छिपकर छपरा जा रहे थे. पकड़े गए मजदूरों को पुलिस तत्काल लेकर पीएचसी पहुंची जहां उनकी स्क्रीनिंग की गई.



शक के आधार पर रोका ट्रक
दरअसल, कोईलवर पुलिस ने लॉकडाउन के मद्देनजर वाहन चेकिंग लगाया था, जिसमे सभी गाड़ियों की चेकिंग की जा रही थी. इसी दौरान एक ट्रक को देख पुलिस को शक हुआ जिसमें जांच के दौरान ट्रक में तिरपाल के नीचे छिपे 62 मजदूरों को पकड़ लिया. तिरपाल के भीतर छिपे लोगों को देख पुलिस के होश फाख्ता हो गए लेकिन पुलिस को मामला समझते देर नहीं लगी और तत्काल पुलिस सभी को लेकर कोईलवर पीएचसी पहुंची और बारी-बारी से सबका स्क्रीनिंग कराया गया.

तिरपाल के नीचे छिपे थे मजदूर
कोईलवर एसएचओ ब्रजेश कुमार के मुताबिक पकड़े गए मजदूरों ने कोलकाता से छपरा जाने की बात कहते हुए कोई गाड़ी या ट्रेन न मिलने की वजह से ट्रक बुक करने की बात कही और बताया कि त्रिपाल के नीचे छिपकर हम छपरा जा रहे थे ताकि सुरक्षित अपने घर पहुंच सकें. थानेदार ने बताया कि पकड़े गए मजदूर कोलकाता की एक फैक्ट्री में काम करते हैं जो लॉकडाउन की वजह से बंद हो गया है.

ये भी पढ़ें- 

बिहार में मुस्लिम संगठनों का ऐलान- रमजान के महीने में घर में ही पढ़ें नमाज

तेजप्रताप ने पटना में शुरू की लालू की रसोई, रोजाना 500 लोगों को खिलाएंगे खाना
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज