होम /न्यूज /दिल्ली-एनसीआर /MCD Elections 2022: चुनाव में करीब 50% मतदान, बीजेपी-आप कर रहीं अपनी-अपनी जीत के दावे

MCD Elections 2022: चुनाव में करीब 50% मतदान, बीजेपी-आप कर रहीं अपनी-अपनी जीत के दावे

Big Story: एमसीडी के चुनाव में 50 फीसदी वोटिंग हुई. इस चुनाव में सभी पार्टियां अपनी-अपनी जीत का दावा कर रही हैं. (Photo-News18)

Big Story: एमसीडी के चुनाव में 50 फीसदी वोटिंग हुई. इस चुनाव में सभी पार्टियां अपनी-अपनी जीत का दावा कर रही हैं. (Photo-News18)

MCD Polls 2022: एमसीडी के चुनाव में शाम 5 बजे तक 50 फीसदी वोटिंग हुई. इस चुनाव में बीजेपी और आप के बीच मुकाबला है. दोनो ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

चुनाव के दौरान ईवीएम में गड़बड़ी की कोई सूचना नहीं मिली
नई दिल्ली के 493 स्थानों पर थे 3360 संवेदनशील बूथ
25 हजार पुलिसकर्मी, 13 हजार होमगार्ड जवान थे तैनात

नई दिल्ली. दिल्ली में 250 नगर निगम वार्ड के चुनाव में रविवार को लगभग 50 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया. मुख्य प्रतिद्वंद्वियों भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) और आम आदमी पार्टी (आप) दोनों ने अपनी-अपनी जीत के दावे किए हैं. अधिकारियों ने बताया कि इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों (ईवीएम) में बड़ी गड़बड़ी की कोई सूचना नहीं मिली. 493 स्थानों पर 3,360 संवेदनशील बूथ थे. इन पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच मतदान शांतिपूर्वक संपन्न हुआ. उन्होंने बताया कि मतदान के लिए 25 हजार पुलिसकर्मियों, लगभग 13 हजार होमगार्ड और अर्धसैनिक बलों की 100 कंपनियों को तैनात किया गया था.

उत्तर-पूर्वी दिल्ली और कुछ अन्य इलाकों में कई लोगों ने शिकायत की थी कि उनके नाम मतदाता सूची से गायब हैं. कांग्रेस की दिल्ली इकाई के अध्यक्ष अनिल कुमार उन लोगों में शामिल थे, जो मतदान नहीं कर सके. बीजेपी ने कहा कि उसने मतदाता सूची से गायब नामों को लेकर राज्य निर्वाचन आयोग में शिकायत दर्ज कराई है. निर्वाचन अधिकारियों ने बताया कि मतदान का समय समाप्त होने पर शाम साढ़े पांच बजे तक लगभग 50 प्रतिशत मतदान होने की सूचना मिली है. हालांकि, यह आंकड़ा बढ़ने की संभावना है, क्योंकि शाम साढ़े पांच बजे से पहले मतदान केंद्रों पर पहुंचे लोगों को कतारों में खड़ा देखा गया.

परिणामों की घोषणा 7 दिसंबर को
चुनाव परिणामों की घोषणा सात दिसंबर को होगी. अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व वाली ‘आप’ और बीजेपी के बीच मुकाबले में कूड़े के पहाड़ (लैंडफिल) सबसे बड़े मुद्दों में से एक के रूप में उभरा. बीजेपी पिछले 15 वर्षों से नगर निगम की सत्ता में है. ‘आप’ और उसके नेता अरविंद केजरीवाल के लिए चुनाव महत्वपूर्ण हैं क्योंकि वे देश में 2024 के आम चुनावों से पहले पार्टी का विस्तार चाहते हैं. बीजेपी ने एमसीडी चुनाव के प्रचार के लिए अपने शीर्ष नेताओं को मैदान में उतारा था. इनमें पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और राजनाथ सिंह, नितिन गडकरी तथा पीयूष गोयल जैसे 19 केंद्रीय मंत्री और छह राज्यों के मुख्यमंत्री शामिल हैं.

विधानसभा चुनाव हारी थी बीजेपी
बीजेपी को 2020 के दिल्ली विधानसभा चुनावों में ‘आप’ के हाथों हार का सामना करना पड़ा था और उसने 70 में से सिर्फ आठ सीटें जीती थीं. राज्य निर्वाचन आयोग के अधिकारियों द्वारा साझा किए गए आंकड़ों के अनुसार, दिल्ली में मतदाताओं की कुल संख्या 1,45,05,358 है जिनमें 78,93,418 पुरुष, 66,10,879 महिलाएं और 1,061 ट्रांसजेंडर व्यक्ति हैं. नए परिसीमन के बाद यह पहला नगर निगम चुनाव है और यह मतदान गुजरात विधानसभा चुनाव के पहले चरण के कुछ दिन बाद और दूसरे चरण से एक दिन पहले हुआ. एमसीडी चुनाव में 1.45 करोड़ से अधिक मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग करने के पात्र हैं. कुल 1,349 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं.

सीएम केजरीवाल ने की थी भ्रष्टाचार के खिलाफ वोट की अपील
इससे पूर्व दिन में केजरीवाल ने लोगों से अपील की थी कि वे एमसीडी में एक ईमानदार और बेहतर शासन के लिए अपने मताधिकार का इस्तेमाल करें. उन्होंने ट्वीट किया था, ‘‘साफ-स्वच्छ और सुंदर दिल्ली बनाने के लिए आज मतदान है, नगर निगम में एक भ्रष्टाचार मुक्त सरकार बनाने के लिए मतदान है. सभी दिल्लीवासियों से मेरी अपील- दिल्ली नगर निगम में एक ईमानदार और काम करने वाली सरकार बनाने के लिए आज अपना वोट डालने जरूर जाएं.’’ बीजेपी की दिल्ली इकाई के अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने अपनी पत्नी के साथ वेस्ट पटेल नगर में वोट डाला. गुप्ता ने दावा किया कि बीजेपी लगातार चौथी बार एमसीडी में स्पष्ट बहुमत के साथ सत्ता में वापसी कर रही है. उन्होंने कहा, ‘‘लोगों ने केजरीवाल सरकार के घोटालों और झूठे प्रचार के खिलाफ मतदान किया है.’’

Tags: Arvind kejriwal, Delhi MCD Election 2022, Delhi news

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें