• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • कोरोना वायरस से तेलंगाना में 6 लोगों की मौत, दिल्‍ली के निजामुद्दीन में धार्मिक समारोह में लिया था हिस्‍सा

कोरोना वायरस से तेलंगाना में 6 लोगों की मौत, दिल्‍ली के निजामुद्दीन में धार्मिक समारोह में लिया था हिस्‍सा

निजामुद्दीन इलाके में की जारी है छानबीन.

निजामुद्दीन इलाके में की जारी है छानबीन.

तेलंगाना (Telangana) के कम से कम 20 लोगों ने दिल्‍ली के निजामुद्दीन (Nizamuddin) क्षेत्र में आयोजित धार्मिक समारोह में शिरकत की थी. सोमवार को कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus) से 6 लोगों की मौत हुई है.

  • Share this:
    नई दिल्‍ली. तेलंगाना (Telangana) में सोमवार को कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus) के कारण मरने वाले 6 लोगों को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है. इन सभी की मौत कोरोना वायरस के संक्रमण के कारण हुई है. तेलंगाना के मुख्‍यमंत्री कार्यालय के अनुसार, इन सभी ने 13 से 15 मार्च के बीच दिल्‍ली के निजामुद्दीन इलाके (Nizamuddin) के मरकज में आयोजित हुए धार्मिक समारोह (तब्लीगी जमात) में हिस्‍सा लिया था. इनमें से कुछ लोगों में कोरोना वायरस का संक्रमण फैल गया है.’ वहीं इस मामले में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इस तब्लीगी जमात का नेतृत्व करने वाले एक मौलाना के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने का सोमवार को आदेश दिया. सूत्रों ने कहा कि दिल्ली सरकार कोरोना वायरस के मामलों का पता लगाने के लिए मंगलवार को पास की कॉलोनियों में घर-घर एक अभियान शुरू करेगी.

    दरअसल तेलंगाना के अधिकारियों के अनुसार राज्‍य के कम से कम 20 लोगों ने दिल्‍ली के निजामुद्दीन क्षेत्र में आयोजित धार्मिक समारोह में शिरकत की थी. आधिकारिक विज्ञप्ति के अनुसार, इस सभा में भाग लेने वालों में तेलंगाना के कुछ लोग भी शामिल थे.

    बयान में बताया गया है कि जिन छह लोगों की मौत हुई है, उनमें से दो की मौत गांधी अस्पताल में हुई, एक-एक व्यक्ति की मौत दो निजी अस्पतालों में और एक व्यक्ति की मौत निजामाबाद और एक व्यक्ति की मौत गडवाल शहर में हुई. बयान में ये भी कहा गया है कि कलेक्टरों के नेतृत्व में विशेष दलों ने मृतकों के संपर्क में आए लोगों का पता लगा लिया है और उन्हें अस्पतालों में भर्ती कराया गया है.




    इससे पहले दिल्ली पुलिस और अर्द्धसैनिक बल के जवानों ने कुछ दिन पहले आयोजित एक धार्मिक कार्यक्रम में शामिल होने के बाद कई लोगों में कोरोना वायरस के लक्षण दिखने के कारण सोमवार को निजामुद्दीन पश्चिम में एक प्रमुख इलाके की घेराबंदी कर दी.





    स्‍वास्‍थ्‍य विभाग के मुताबिक वे सभी लोग सरकार को अपनी जानकारी दें, जो धार्मिक आयोजन में शामिल हुए थे. सरकार उनका कोरोना टेस्‍ट करवाएगी और साथ ही उनका इलाज निशुल्‍क किया जाएगा. इसलिए जो भी लोग दिल्‍ली गए थे वे सामने आएं. साथ ही अगर किसी व्‍यक्ति के पास इन लोगों की जानकारी हो तो वह सरकार को अलर्ट करे.

    दिल्ली सरकार का कहना है कि उन्हें जानकारी मिली है कि निजामुद्दीन मरकज के प्रशासकों ने कोरोना के खतरे को देखते हुए लागू लॉकडाउन की शर्तों का उल्लंघन किया और यहां कोरोना पॉजिटिव के कई मामले सामने आए हैं. दिल्ली सरकार ने निजामुद्दीन मरकज के प्रबंधन के खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई करने की बात कही है.  द हिंदू के अनुसार राष्ट्रीय राजधानी के निजामुद्दीन इलाके के लगभग 200 लोगों को कई अस्पतालों में भर्ती कराया गया है. इनमें से कुछ लोगों के कोरोना संक्रमित होने की जानकारी मिली थी.
    अधिकारियों ने बताया कि इंडोनेशिया और मलेशिया समेत कई देशों के 2000 से अधिक प्रतिनिधियों ने एक से 15 मार्च तक तबलीग-ए-जमात में भाग लिया था. हालांकि, स्थानीय लोगों ने कहा कि इस अवधि के बाद भी बड़ी संख्या में लोग जमात के मरकज में ठहरे रहे. पुलिस ने बताया कि कोविड-19 के लक्षण के साथ 200 से अधिक लोगों को दिल्ली के स्वास्थ्य विभाग ने विभिन्न अस्पतालों में भर्ती कराया.

    बयान के अनुसार तेलंगाना सरकार ने कार्यक्रम में भाग लेने वाले लोगों से प्राधिकारियों को इसकी जानकारी देने को कहा है. सरकार उनकी मुफ्त जांच और इलाज कराएगी. (PTI इनपुट के साथ)

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज