Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    COVID-19: दिल्ली में कोरोना का कहर जारी, 24 घंटे में 6715 नए मामले, 66 लोगों की मौत

    दिल्‍ली में अब तक कोरोना की वजह से 6769 लोगों की मौत हो चुकी है.(सांकेतिक तस्वीर)
    दिल्‍ली में अब तक कोरोना की वजह से 6769 लोगों की मौत हो चुकी है.(सांकेतिक तस्वीर)

    दिल्‍ली (Delhi) में कोरोना वायरस (Coronavirus) लगातार पैर पसार रहा है. जबकि गुरुवार को 6715 नए मामले सामने आने से हड़कंप मच गया है.

    • News18Hindi
    • Last Updated: November 6, 2020, 4:31 PM IST
    • Share this:
    नई दिल्ली. देश की राष्ट्रीय राजधानी दिल्‍ली (Delhi) में गुरुवार को कोरोना वायरस के संक्रमण (Coronavirus Infection) के 6715 नए मामले सामने आने से हड़कंप मच गया है. इसके साथ दिल्‍ली में कोरोना  संक्रमितों की संख्या 4.16 लाख से अधिक हो गई है. देश की राजधानी में पिछले कई दिनों से कोविड-19 के 6000 से अधिक नए मामले सामने आ रहे हैं. इसके पहले बुधवार को कोरोना संक्रमण के रिकॉर्ड 6842 नए मामले सामने आए थे. यह जानकारी दिल्‍ली सरकार के अधिकारियों ने दी है.

    दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण से अब तक 6769 की मौत
    कोविड-19 संक्रमण की वजह से पिछले 24 घंटे में 66 और मरीजों ने दम तोड़ा है. इसके साथ दिल्‍ली में कोरोना वायरस की महामारी की वजह से मृतकों की कुल संख्या 6769 पहुंच गई है. इससे पहले कोरोना की वजह से बुधवार को 51 और मंगलवार को 48 मरीजों की मौत हुई थी.

    6,715 new #COVID cases, 5,289 recoveries, and 66 deaths recorded in Delhi today.





    संक्रमित होने की दर 12.84 प्रतिशत
    दिल्ली के स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी एक बुलेटिन के अनुसार, राष्ट्रीय राजधानी में 6715 नये मामलों की पुष्टि हुई है. जबकि त्योहारों के दौरान और बढ़ते प्रदूषण के बीच संक्रमित होने की दर 12.84 प्रतिशत है. यह लगातार तीसरा दिन है जब मामलों की संख्या छह हजार के पार दर्ज की गई है. जबकि बुलेटिन के अनुसार, गुरुवार को दिल्‍ली में इलाजरत मरीजों की संख्या 38729 रही, जो कि बुधवार को 37,379 थी. वहीं, दिल्ली में कोरोना वायरस के मामलों की कुल संख्या 4,16,653 हो गई है.

    दिल्‍ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कही थी ये बात
    दिल्ली में लगातार बढ़ रहे मामलों पर बुधवार को दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन का कहना था है कि इसका कारण दिल्ली में हो रही एग्रेसिव टेस्टिंग हैं. अब अगर परिवार में एक व्यक्ति भी कोरोना पॉज़िटिव होता है तो उसके तमाम क्लोज़ कॉन्टैक्ट्स का टेस्ट किया जाता है. भले ही उसमें कोई लक्षण हों या न हों. साथ ही सत्येंद्र जैन ने ये भी माना कि दिल्ली में कोरोना की तीसरी वेव शुरू हो गई है, जिसकी वजह से लगातार मामले बढ़ रहे हैं.



    वायु प्रदूषण ने बिगाड़ा खेल
    इससे दिल्ली सरकार के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय (Gopal Rai) ने कहा था कि वायु प्रदूषण के साथ कोविड-19 ने स्थिति को ‘घातक’ बना दिया है और नए आयोगों के गठन से अधिक जरूरी जमीनी स्तर पर ठोस कार्रवाई करना है. देश में पर्यावरण प्रदूषण लगातार बढ़ रहा है. दिल्‍ली-एनसीआर सहित अन्‍य राज्‍यों के कई शहरों में हवा की गुणवत्‍ता बहुत खराब श्रेणी में पहुंच गई है. जबकि कई जगहों पर हालात गंभीर हैं. जिससे इन शहरों में सांस लेना भी मुश्किल होता जा रहा है. हवा की गुणवत्‍ता को सुधारने के लिए केंद्र सरकार सहित राज्‍य सरकारें तमाम हथकंडे अपना रही हैं साथ ही फंड भी जारी कर रही हैं. इसी सोमवार को केंद्रीय वित्‍त मंत्रालय ने पांचवें वित्‍त आयोग की सिफारिशों को स्‍वीकार करते हुए हवा की गुणवत्‍ता सुधारने के लिए राज्‍यों के लिए 2200 करोड़ रुपये की राशि मंजूर की है. इस राशि से फंड पाने वालों में 15 राज्‍यों के 42 शहरों को शामिल किया गया है.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज