• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • NCRB DATA: दिल्ली में पिछले साल दंगों के 689 मामले किए गए दर्ज

NCRB DATA: दिल्ली में पिछले साल दंगों के 689 मामले किए गए दर्ज

आप प्रमुख अरविंद केजरीवाल और मनीष सिसौदिया.

आप प्रमुख अरविंद केजरीवाल और मनीष सिसौदिया.

Riots in Delhi: कहीं न कहीं पिछले साल उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हुए दंगों ने इस ग्राफ को बढ़ाया है. इस वजह से राजधानी अपनी श्रेणी में दूसरे नंबर पर है.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    नई दिल्ली. राजधानी दिल्ली में पिछले वर्ष (2020 में) सीएए के खिलाफ हुए विरोध प्रदर्शनों और पूर्वोत्तर दिल्ली में हुए दंगों (Riots in Delhi) के साथ ही दंगों के 689 मामले दर्ज किए गए थे. एनसीआरबी के आंकड़ों के अनुसार, इसमें सांप्रदायिक दंगे, छात्रों की मौजूदगी वाले दंगे, मोर्चा/आंदोलन के तहत दंगे और पारिवारिक विवादों पर हुए दंगे शामिल हैं. इन दंगों में कम से कम 748 व्यक्ति घायल हो गए और उन्हें ‘पीड़ित’ के रूप में वर्गीकृत किया गया है.

    देश में पिछले साल राजद्रोह, यूएपीए, ओएसए और सार्वजनिक संपत्ति नुकसान के 5,612 मामले दर्ज किए गये, जिनमें से दिल्ली में केवल 18 मामले दर्ज हुए. वर्ष 2019 में ऐसे 26 मामले दर्ज किए गए थे. हालांकि, पिछले वर्षों से राजद्रोह, सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने और यूएपीए के कम से कम 28 मामलों की जांच लंबित है. पुलिस ने पिछले दो साल में ऐसे 16 मामलों में चार्जशीट दाखिल की है.

    35 लोगों को गिरफ्तार किया

    आंकड़ों के मुताबिक, छह लोगों को दोषी ठहराया गया है जबकि 35 लोगों को गिरफ्तार किया गया है और 21 के खिलाफ आरोपपत्र दाखिल किये गये हैं. एक प्रवक्ता ने कहा, “हम उन सभी अपराधों की जांच कर रहे हैं जो सरकार के खिलाफ किए गए थे और सार्वजनिक शांति को भंग करते थे. क्राइम ब्रांच और स्पेशल सेल जैसी हमारी विशेष टीमें इन मामलों को देख रही हैं.”

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज