होम /न्यूज /दिल्ली-एनसीआर /

राष्ट्रपति जिनपिंंग की अपील के बाद भी ये 7 चीनी नागरिक नहीं छोड़ सकेंगे भारत, जानें क्‍या है मामला

राष्ट्रपति जिनपिंंग की अपील के बाद भी ये 7 चीनी नागरिक नहीं छोड़ सकेंगे भारत, जानें क्‍या है मामला

चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग

चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग

दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की क्राइम ब्रांच (Crime Branch) ने यह मुकदमा दर्ज किया है. तब्लीगी जमात (Tablighi Jamaat) से जुड़े एक मामले में उनके खिलाफ कई आरोप लगाए गए हैं.

    नई दिल्ली. लद्दाख (Ladakh) में विवाद को देखते हुए चीनी (China) राष्ट्रपति ने भारत में रह रहे अपने नागरिकों से एक अपील की है. उन्होंने कहा है कि जो चीनी नागरिक भारत में रह रहे हैं और वापस अपने देश आना चाहते हैं तो ऐसे लोग 27 मई तक अपना रजिस्ट्रेशन करा दें. लेकिन चीन के 7 नागरिक ऐसे भी हैं जो अपने राष्ट्रपति की अपील के बाद भी चीन वापस नहीं जा सकेंगे.

    दरअसल, इन सातों पर पर भारत में मुकदमा चलेगा. उनके पासपोर्ट जब्त कर लिए गए हैं. कोर्ट में उनके खिलाफ चार्जशीट भी दाखिल हो चुकी है. दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की क्राइम ब्रांच (Crime Branch) ने यह मुकदमा दर्ज किया है. तबलीगी जमात (Tablighi Jamaat) से जुड़े एक मामले में उनके खिलाफ कई आरोप लगाए गए हैं. कुल 83 विदेशी जमातियों को आरोपी बनाया गया है.

    2041 में से 700 जमातियों के पासपोर्ट हुए जब्त

    गौरतलब रहे कि तबलीगी जमात के विदेशी सदस्य जो अपना क्वारंटाइन पीरियड खत्म कर चुके हैं, उनके पासपोर्ट सरकार ने जब्त कर लिए हैं. ऐसे 700 से ज्यादा जमातियों के पासपोर्ट जब्त किए गए हैं. ये वो लोग हैं जो कोरोना संकट के बीच दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज में मौलाना साद द्वारा आयोजित किए गए कार्यक्रम में शामिल हुए थे. जमात से जुड़े हजारों लोगों ने हाल ही में अपना क्वारंटाइन पीरियड पूरा कर लिया है.



    अब इनका वीजा और ट्रेवल डॉक्यूमेंट जब्त होने के बाद ये विदेश किसी भी सूरत में नहीं लौट सकते. जब तक कि इस केस की गुत्थी नहीं सुलझती और मौलाना साद पुलिस की गिरफ्त में नहीं आता. तब तक इन विदेशी जमातियों का देश छोड़कर जाना मुश्किल है. इस पूरे मामले में इनकी गवाही लेने की चर्चा है. चार्जशीट के मुताबिक मरकज़ में कुल 2041 विदेशी जमाती आए थे.



    यह है मुदकमे से जुड़ी चार्जशीट की खास बातें

    दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने निजामुदद्दीन मरकज मामले में मंगलवार को साकेत कोर्ट में 20 देशों के 83 जमातियों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल कर दी है. अलग-अलग धाराओं के तहत विदेशी जमातियों के खिलाफ 20 चार्जशीट दाखिल की गई हैं. 83 जमाती जिनके खिलाफ चार्जशीट दाखिल की गई है उनमें अमेरिका के 5, यूनाइटेड किंगडम के 3, सऊदी अरब के 10, फिलीपींस के 6, चीन के 7, ब्राजील के 8 , अफगानिस्तान के 4, सूडान के 6 और अन्य देशों के कुछ लोग शामिल हैं. सभी 20 चार्जशीट को मिला लें तो ये 15 हजार 449 पन्नों की चार्जशीट है.

    ये भी पढ़ें:-

    Lockdown Diary: पैदल घर जा रहे मजदूर को लूटने आए थे, तकलीफ सुनी और 5 हजार रुपए देकर चले गए

    Lockdown: केन्द्र सरकार ने प्रवासी मजदूरों को राशन देने के लिए किया यह बड़ा ऐलान

    Tags: China, Delhi police, Ladakh, Markaz, Tablighi Jamaat

    अगली ख़बर