Home /News /delhi-ncr /

दिल्ली में 71 साल का टूटा रिकॉर्ड, 1950 के बाद जनवरी में हुई सबसे अधिक बारिश, ये रहे आंकड़े

दिल्ली में 71 साल का टूटा रिकॉर्ड, 1950 के बाद जनवरी में हुई सबसे अधिक बारिश, ये रहे आंकड़े

बादल दिन के दौरान होने वाली गर्मी को अवशोषित कर लेते हैं, जिससे रात का तापमान सामान्य से ऊपर रहता है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

बादल दिन के दौरान होने वाली गर्मी को अवशोषित कर लेते हैं, जिससे रात का तापमान सामान्य से ऊपर रहता है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

Weather Update. बारिश के कारण शनिवार को राष्ट्रीय राजधानी में अधिकतम तापमान 14.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो इस मौसम में सामान्य से सात डिग्री कम थ. जनवरी के दूसरे सप्ताह से अधिकतम तापमान सामान्य से कम रहा है.

    नई दिल्ली. भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के अनुसार, शनिवार देर रात हुई बारिश (Rain) के बाद इस साल जनवरी में दिल्ली में कुल 88.2 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई, जो 1950 के बाद से इस महीने में हुई सबसे अधिक बारिश है. दिल्ली में रविवार को न्यूनतम तापमान (Minimum Temperature) सामान्य से तीन डिग्री अधिक 10.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. आईएमडी के एक अधिकारी ने कहा, ‘‘यह 1950-2022 की अवधि के दौरान जनवरी के महीने में हुई सबसे अधिक बारिश है. एक के बाद एक दो पश्चिमी विक्षोभों के प्रभाव से दिल्ली (Delhi) में 10 जनवरी तक 63 मिलीमीटर बारिश हुई थी.’’

    आईएमडी के आंकड़ों के अनुसार, इससे पहले राजधानी में 1989 में 79.7 मिलीमीटर और 1953 में 73.7 मिलीमीटर बारिश हुई थी. बारिश के कारण शनिवार को राष्ट्रीय राजधानी में अधिकतम तापमान 14.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो इस मौसम में सामान्य से सात डिग्री कम थ. जनवरी के दूसरे सप्ताह से अधिकतम तापमान सामान्य से कम रहा है. न्यूनतम तापमान सामान्य के करीब और अधिक रहा.

    दिन का तापमान फिर से गिर गया
    ‘स्काईमेट वेदर’ के उपाध्यक्ष (मौसम विज्ञान और जलवायु परिवर्तन) एम पलावत ने बताया कि नौ जनवरी से 19 जनवरी के बीच मुख्य रूप से बादल छाए रहने और बारिश के कारण अधिक समय तक धूप नहीं निकली. उन्होंने बताया कि सात जनवरी से नौ जनवरी के बीच हुई बारिश ने हवा में नमी बढ़ा दी जिसने कम तापमान के बीच कोहरे की स्थिति पैदा हो गई. उन्होंने कहा, ‘‘कोहरे और निचले बादलों के कारण राष्ट्रीय राजधानी और आसपास के इलाकों के बड़े हिस्से में 16 जनवरी तक सर्द परिस्थितियां बनी रहीं. 16 जनवरी से एक के बाद एक पश्चिमी विक्षोभ (डब्ल्यूडी) के प्रभाव से दिन का तापमान फिर से गिर गया.’’

    रात का तापमान सामान्य से ऊपर रहता है
    पलावत ने कहा कि दिल्ली में इस साल जनवरी में छह बार पश्चिमी विक्षोभ का प्रभाव देखा गया, जबकि महीने में तीन से चार बार पश्चिमी विक्षोभ का प्रभाव सामान्य है. उन्होंने कहा, ‘‘दिल्ली में एक जनवरी से नौ जनवरी के बीच तीन बार पश्चिमी विक्षोभ का प्रभाव देखा गया. सोलह जनवरी के बाद से तीन और पश्चिमी विक्षोभ ने राष्ट्रीय राजधानी को प्रभावित किया. इसका हालिया प्रभाव 21 जनवरी को देखा गया.’’ बादल छाए रहने और बारिश के कारण सूरज की किरणें धरती पर नहीं आ पातीं, जिससे दिन का तापमान कम हो जाता है. बादल दिन के दौरान होने वाली गर्मी को अवशोषित कर लेते हैं, जिससे रात का तापमान सामान्य से ऊपर रहता है.

    Tags: Delhi news, Delhi news update, Rain alert, Weather updates

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर