अपना शहर चुनें

States

Farmers Protest: फिर हुई किसान की मौत, सिंघु बार्डर पर 75 साल के बुजुर्ग ने तोड़ा दम

किसान रत्‍न सिंह की मौत हुई है. (File Pic)
किसान रत्‍न सिंह की मौत हुई है. (File Pic)

Farmers Protest: मरने वाले किसान का नाम रत्न सिंह है. वह 75 साल के थे. वह गांव कोटली ढोले शाह के रहने वाले थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 25, 2021, 6:49 PM IST
  • Share this:
अमृतसर. कृषि कानूनों (Farm Laws) के खिलाफ दिल्‍ली के सिंघु बार्डर (Singhu Border) पर हो रहे किसान आंदोलन (Kisan Andolan) में शामिल एक और किसान की मौत हो गई है. मरने वाले किसान का नाम रत्न सिंह है. वह 75 साल के थे. वह गांव कोटली ढोले शाह के रहने वाले थे. वह किसान मजदूर संघर्ष समिति पंजाब के सदस्य थे. उनकी मौत की खबर जब अमृतसर के उनके गांव कोटली ढोले शाह पहुंची तो पूरे गांव में शोक की लहर दौड़ गई. रत्न सिंह कई दिनों से किसान आंदोलन में शामिल थे.

बता दें कि कृषि कानूनों को रद्द करवाने के लिए पंजाब सहित पूरे देश के किसान दिल्ली की सरहदों पर डटे हुए हैं. किसान कृषि कानून (Agricultural law) रद्द करने की मांग कर रहे हैं लेकिन सरकार संशोधन की ज़िद्द पर अड़ी हुई है. दिल्ली बार्डर से आए दिन किसानों की मौत की खबरें आ रही हैं. किसान रत्न सिंह भी संघर्ष का हिस्सा बन कर सिंघु बार्डर पर डटे हुए थे.





केंद्रीय कृषि कानूनों के खिलाफ किसान संगठनों का आंदोलन दिल्ली बॉर्डर पर जारी है. कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का आंदोलन 55 से ज्यादा दिनों से जारी है. कृषि कानूनों के मामले में केंद्र सरकार और किसान संगठनों के बीच 11वें दौर की वार्ता भी विफल हो चुकी है. कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर (Agriculture Minister Narendra singh Tomar) ने कहा है कि वार्ता विफल होने का उन्हें दुख है.

किसान संगठन चाहते हैं कि तीनों कृषि कानून वापस लिए जाएं. लेकिन सरकार संशोधन का प्रस्ताव दे रही है. हमने 2 साल तक कानूनों को रोकने का भी विकल्प दिया है लेकिन किसानों ने उसे भी नकार दिया. वहीं, गणतंत्र दिवस के मौके पर किसान संगठनों ने दिल्ली में ट्रैक्टर रैली निकालने की बात कही है. किसान दिल्ली की रिंग रोड पर रैली निकालने को अड़े हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज