दिल्लीः बत्रा हॉस्पिटल में ऑक्सीजन की कमी से मरने वालों की संख्या 12 हुई

दिल्ली के अस्पतालों में ऑक्सीजन का संकट.

दिल्ली के अस्पतालों में ऑक्सीजन का संकट.

दिल्ली में कोरोना संक्रमण की खबरों के बीच आज बत्रा हॉस्पिटल में ऑक्सीजन की कमी से 12 मरीजों ने दम तोड़ दिया, जिसमें एक डॉक्टर भी शामिल है. दिल्ली हाईकोर्ट में सुनवाई के दौरान बत्रा अस्पताल के एमडी ने लगाई गुहार.

  • Share this:
नई दिल्ली. बत्रा हॉस्पिटल में ऑक्सीजन की कमी के चलते जान गंवाने वालों की संख्या बढ़कर बारह हो गई है. अस्पताल प्रशासन को आशंका है कि ये संख्या और भी बढ सकती है क्योंकि जिन 45 मिनट ऑक्सीजन नहीं रही, उस बीच कई मरीजों का भी ऑक्सीजन प्रेशर काफ़ी लो हो गया. अब उसे रिटेन करने की कोशिश की जा रही है.  बत्रा हॉस्पिटल के एमडी एससीएल गुप्ता ने बताया, "अभी ऑक्सीजन भेजी गई है. ज्यादा से ज़्यादा एक घंटा ही चलेगी. हम लगातार प्रशासन को बताते रहे हैं. मिनट दर मिनट की अपडेट दी."

दिल्ली हाईकोर्ट में आज इस मामले की सुनवाई के दौरान बत्रा हॉस्पिटल की तरफ से बताया गया कि अस्पताल में ऑक्सीजन का संकट गहरा गया है, जिसकी वजह से 12 मरीजों की जान चली गई. इसमें अस्पताल के एक डॉक्टर भी शामिल है. हाईकोर्ट में सुनवाई के दौरान अदालत ने दिल्ली सरकार से ऑक्सीजन, मेडिसिन और बेड की उपलब्धता के मामले पर सुनवाई के दौरान कई सवाल पूछे. हाईकोर्ट ने दिल्ली सरकार से पूछा- संकट के इस वक़्त में आर्मी की सहायता लेने से गुरेज क्यों?

बत्रा हॉस्पिटल में ऑक्सीजन की सप्लाई में देरी के चलते 12 मरीजों की मौतों पर हाई कोर्ट ने संज्ञान लिया है. दिल्ली हाईकोर्ट ने केंद्र को निर्देश दिया कि वह दिल्ली को तुरंत 490 एमटी ऑक्सीजन दे या कोर्ट की अवमानना की करवाई का सामना करें. हाई कोर्ट ने केंद्र सरकार को कहा कि अब बहुत हो चुका.

कोर्ट ने फटकार लगाते हुए कहा, "आप कहना चाहते है कि हम अपनी आंखे बंद कर लें और लोग दिल्ली में मरते रहे. आपने दिल्ली को 490MT ऑक्सीजन देने का वादा किया है आप उसे पूरा करें."
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज