खुशखबरी: दस अप्रैल तक 95 फीसदी पुरानी ट्रेनें हो सकती हैं शुरू, रेलवे कर रहा तैयारी

दस अप्रैल से 95 फीसदी पुरानी ट्रेन फिर पटरी पर लौट सकती हें. (File)

दस अप्रैल से 95 फीसदी पुरानी ट्रेन फिर पटरी पर लौट सकती हें. (File)

लॉकडाउन (Lockdown) में बंड हुईं ट्रेनों में करीब 95 प्रतिशत ट्रेनों (Train) को 10 अप्रैल से शुरू किया जा सकता है. इसके लिए भारतीय रेलवे (Indian Railways) तैयारी कर रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 22, 2021, 7:45 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारतीय रेलवे (Indian Railways) ने 10 अप्रैल तक 95 फ़ीसदी पुरानी ट्रेनों (Train) को फिर से चलाने की मंशा जाहिर की है. रेलवे बोर्ड की मीटिंग में फैसला लिया गया है कि कोविड-19 (Covid-19) से पहले जो ट्रेनें (Trains) रेलवे में चल रही थीं उनमें 95 फीसदी तक ट्रेनों को 10 अप्रैल तक फिर से चलाया जाये.

इस मीटिंग में प्रिंसिपल एक्जिक्यूटिव डायरेक्टर कोचिंग यानी ट्रेनों के लिए कोच मुहैया कराने वाले विभाग के प्रमुख ने कहा कि इन ट्रेनों को चलाने के लिए सारी तैयारी पूरी की जाएं. इसके लिए सभी जोनल रेलवे को भी सूचित किया गया है. साथ ही जोनल रेलवे से कहा गया है कि वो ट्रेन चलाने में इस बात का भी खयाल रखें कि इससे व्यस्त रूट पर मालगाड़ियों को चलाने में परेशानी न हो.

नोएडा से डबल-डेकर बस उड़ा ले गए चोर, मालिक के घर के बाहर से हुई चोरी

दरअसल रेलवे के लिए माल गाड़ियां कमाई का बड़ा जरिया हैं. कोविड की वजह से ज्यादातर ट्रेनों के बंद होने से रेलवे की माल गाड़ियां करीब 2 गुना स्पीड से चल रही हैं. इस दौरान माल गाडियों की स्पीड 23 kmph से बढ़कर 46 kmph हो गई हैं. साथ ही इस साल रेलवे ने रिकॉर्ड माल ढुलाई भी की है. ऐसे में मेल एक्सप्रेस या पैसेंजर ट्रेनों के चलने से रेलवे में माल ढुलाई पर असर पड़ने की भी आशंका है.
रेलवे सूत्रों के मुताबिक जिन ट्रेनों को 10 अप्रैल तक शुरू किया जाएगा उनमें मेल एक्सप्रेस ट्रेनें भी शामिल होंगी और जोनल रेलवे की मांग के मुताबिक पैसेंजर ट्रेनों को भी शुरू किया जाएगा. ये सारी ट्रेनें कोविड प्रोटोकॉल के अधीन चलाई जाएगी.

अगर पुराने रूट के हिसाब से करीब 95 फीसदी ट्रेन शुरू हो जाएंगी तो यात्रियों को फाफी सहूलित होगी और यात्रा के खर्च और समय दोनों में कमी आएगी. इसके साथ ही यात्री करने के लिए साधनों की उपलब्धता भी बढ़ेगी, जिसके कारण यात्रियों को परेशान नहीं होना पड़ेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज