लाइव टीवी

Amazon और Flipkart के खिलाफ 16 साल के छात्र ने दायर की याचिका, जानें क्या है मामला
Delhi-Ncr News in Hindi

News18Hindi
Updated: October 14, 2019, 3:17 PM IST
Amazon और Flipkart के खिलाफ 16 साल के छात्र ने दायर की याचिका, जानें क्या है मामला
राष्ट्रीय हरित अधिकरण (NGT) ने केंद्र सरकार को अक्षरधाम मंदिर प्रबंधन की एक याचिका पर स्थिति रिपोर्ट दाखिल करने को कहा है.

NGT में दाखिल अर्जी में दिग्‍गज ई-कॉमर्स कंपनियों अमेजन (Amazon) और फ्लिपकार्ट (Flipkart) द्वारा प्लास्टिक (Plastic) की पैकिंग पर रोक लगाने की मांग की गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 14, 2019, 3:17 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश की दो दिग्गज ई-कॉमर्स शॉपिंग कंपनियां अमेजन (Amazon) और फ्लिपकार्ट (flipkart) के खिलाफ नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (NGT) में एक याचिका दाखिल की गई है. दिल्ली (Delhi) के मॉडर्न स्कूल में पढ़ने वाले 16 साल के एक छात्र आदित्य दुबे ने यह याचिका दाखिल की है. याचिका में मांग की गई है कि दिग्‍गज ई-कॉमर्स कंपनियां अमेजन और फ्लिपकार्ट द्वारा प्लास्टिक पैकेजिंग पर रोक लगाई जाए. याचिका में कहा गया है कि ये कंपनियां अपने प्रोडक्ट की डिलवरी करने के लिए प्लास्टिक की पैकिंग का इस्तेमाल करती हैं, जिससे पर्यावरण को काफी नुकसान हो रहा है.

बीते 2 अक्टूबर से देश में सिंगल यूज प्लास्टिक(Single use plastic) को लेकर एक मुहिम चलाई जा रही है. देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM MODI) के आह्वाण पर देश में सिंगल यूज प्लास्टिक को खत्म करने की दिशा में कई कदम भी उठाए जा रहे हैं.

याचिकाकर्ता के वकील मीनिष दुबे के मुताबिक, 'ये याचिका 11वी में पढ़ने वाले एक स्टूडेंट ने दायर किया है. जब भी हम फ्लिपकार्ट और अमेजन पर कोई आर्डर करते हैं तो जो समान की पैकिंग होती है वो प्लास्टिक के कई लेयर से की जाती है. इसके खिलाफ हमने याचिका दायर की है. इसी सप्ताह याचिका पर सुनवाई आ जायेगी.'



Single Use Plastic Ban
देैश में सिंगल यूज प्लास्टिक को लेकर बीते 2 अक्टूबर से मुहिम शुरू की गई है




बता दें कि बीते कुछ दिनों से दिल्ली में प्रदूषण ने फिर विकराल रूप धारण कर लिया है. प्रदूषण को रोकने के लिए कई तरह के उपाए किए जा रहे हैं. केंद्र सरकार से लेकर दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने भी प्रदूषण के रोकथाम के लिए कई जरूरी कदम उठाए हैं.

वायु प्रदूषण भी खतरनाक स्‍तर पर

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (CPCB) लगातार चेतावनी दे रही है कि दिल्ली (Delhi) की हवा एक बार फिर प्रदूषित (Air Pollution) हो सकती है, जिससे आने वाले दिनों में लोगों को सांस लेने के लिए साफ हवा के लिए परेशान होना पड़ सकता है.

delhi polution how epca and grap plan for clean air
इस बार प्रदूषण को लेकर एजेंसियां पहले से ही सचेत हैं


दिल्ली में 15 अक्टूबर से प्रदूषण से निपटने के लिए कड़े प्रावधान लागू हो जाएंगे. दिल्ली और पूरे एनसीआर में ग्रेडेड रिस्पॉन्स एक्शन प्लान (GRAP) लागू होगा. यह पिछले दो वर्षों से दिल्ली और एनसीआर में लागू है. केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड इस बार दिल्ली के साथ पूरे एनसीआर में प्रदूषण से निपटने वाले सख्त प्रावधान लागू करेगी. पूरे एनसीआर में भी डीजल जेनरेटर को प्रतिबंधित किया जा सकता है.

ये भी पढ़ें. 

हरियाणा विधानसभा चुनाव 2019: इस चुनाव में किसकी नैया पार लगाएगी जाट बिरादरी?

First published: October 14, 2019, 2:43 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading