Home /News /delhi-ncr /

रंजीत नगर रेप केसः एक फोटो ने खोल दिया आरोपी सूरज का राज, कसा पुलिस का शिकंजा

रंजीत नगर रेप केसः एक फोटो ने खोल दिया आरोपी सूरज का राज, कसा पुलिस का शिकंजा

सूरज की गिरफ्तारी ख्याला थाना पुलिस के द्वारा पोस्को एक्ट में की गई थी.

सूरज की गिरफ्तारी ख्याला थाना पुलिस के द्वारा पोस्को एक्ट में की गई थी.

डीसीपी सेंट्रल जिला श्वेता चौहान (DCP Central District Shweta Chauhan) ने बताया कि आरोपी सूरज पहले भी इस तरह के मामले में गिरफ्तार हो चुका है. ऐसे वह रघुबीर नगर का रहने वाला है. वह एक बर्तन बेचने का काम करता है. उसके निशाने पर छोटी बच्चियां ही होती हैं.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. दिल्‍ली के रंजीत नगर (Ranjit Nagar) इलाके में शुक्रवार को सात साल की बच्‍ची के साथ हुए रेप (Minor Girl Rape in Delhi) के मामले में दिल्ली पुलिस 20 वर्षीय आरोपी सूरज को गिरफ्तार (Accused Suraj Arrested) कर लिया है. उसे गिरफ्तार करने के लिए पुलिस को काफी मशक्कत करनी पड़ी. डीसीपी सेंट्रल डिस्ट्रिक्ट श्वेता चौहान (DCP Central District Shweta Chauhan) ने बताया कि सिर्फ एक फोटो के आधार पर उसे ढूंढना बहुत मुश्किल था. लेकिन फिर भी हमारी पुलिस ने अन्य जगहों से आरोपी सूरज के बारे में सूचनाएं एकत्रित कर उसे हरियाणा के कलानौर से गिरफ्तार कर लिया. उन्होंने बताया कि जैसे ही आरोपी को मालूम पड़ा कि उसके पीछे पुलिस लगी है तो भागने लगा, लेकिन फिर भी उसे गिरफ्तार कर लिया गया.

डीसीपी सेंट्रल जिला श्वेता चौहान ने बताया कि आरोपी सूरज 20 साल का है और रघुबीर नगर का रहने वाला है. वह एक बर्तन विक्रेता है. उसने पहले भी इस तरह का अपराध किया था. उसके खिलाफ ख्याला पुलिस स्टेशन में प्राथमिकी दर्ज की गई है. सीसीटीवी फुटेज में उसे दूसरे बच्चों को भी लुभाने की कोशिश करते देखा जा सकता है, लेकिन वे उसके साथ नहीं गए. वहीं, दुष्कर्म पीड़िता बच्ची की हालत अभी भी बेहद गंभीर बनी हुई है ,जिसका फिलहाल अस्पताल में इलाज चल रहा है. इसी मामले के विरोध में शनिवार को रंजीत नगर थाना परिसर के बाहर स्थानीय लोगों ने गुस्से में काफी विरोध प्रदर्शन और पोस्टर लेकर नारेबाजी की थी.

उससे जुड़े तमाम इनपुट को खंगाला जाएगा
डीसीपी श्वेता चौहान ने बताया कि जब आरोपी को गिरफ्तार किया गया और उससे पूछताछ की गई तब पता चला यह पहले भी इसी तरह के मामले को अंजाम देने के जुर्म में गिरफ्तार हो चुका है. इसकी गिरफ्तारी ख्याला थाना पुलिस के द्वारा पोस्को एक्ट में की गई थी. यानी ये इस तरह के मामलों को अंजाम देने में ये शातिर अपराधी है. लिहाजा अब इस आरोपी से दूसरे कई अन्य मामलों में भी विस्तार से पूछताछ की जा रही है. इसके लिए दिल्ली पुलिस के डेटा सेंटर से तमाम दुष्कर्म से जुड़े मामलों की पड़ताल और उससे जुड़े तमाम इनपुट को खंगाला जाएगा कि ये आरोपी की भूमिका कहीं और अन्य केस में तो नहीं है ?

100 से भी ज्यादा CCTV के फुटेज की हुई पड़ताल
डीसीपी श्वेता चौहान के मुताबिक, आरोपी की पहचान करने के लिए तकरीबन 36 घंटे के अंदर ही करीब एक सौ से ज्यादा सीसीटीवी के फुटेज की पड़ताल की गई और आरोपी को पहचानने का प्रयास किया गया. उसके बाद आरोपी की तस्वीर हाथ लगी, जिसके आधार पर हमलोग आरोपी तक पहुंच सके. श्वेता चौहान ने कहा कि हालांकि, तस्वीर मिलने के बाद हमारी मुश्किलें कम नहीं हुई, क्योंकि उस आरोपी के बारे में नाम ,पता , मोबाइल नम्बर सहित अन्य कोई जानकारी हमारे पास नहीं थी. आरोपी की तस्वीर के आधार पर पीड़िता के परिजनों से भी पुलिस की टीम ने जब ये सवाल किया कि क्या इसे आप लोग जानते हो. लेकिन परिजनों ने नहीं पहचानने की बात कही तो तब पुलिस टीम की परेशानी और ज्यादा बढ़ गयी. क्योंकि उस आरोपी से संबंधित कोई इनपुट पुलिस को मिल नहीं पा रही थी. लेकिन सेंट्रल दिल्ली की स्पेशल स्टाफ की टीम ने इस ऑपरेशन को बेहद कम समय में सतर्कता के साथ उस आरोपी को गिरफ्तार कर लिया.

Tags: Arrest, Big crime, Delhi news, Delhi police, Rape

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर