हाथरस गैंगरेप केसः पीड़िता को ले जाने आई बिना नंबर की एम्बुलेंस का क्या है राज? AAP विधायक ने उठाया सवाल

हाथरस की घटना के बाद से जगह-जगह विरोध-प्रदर्शन शुरु हो गए हैं.
हाथरस की घटना के बाद से जगह-जगह विरोध-प्रदर्शन शुरु हो गए हैं.

AAP के विधायक अजय दत्त ने लगाए आरोप- सफदरजंग अस्पताल में बिना नम्बर प्लेट की एम्बुलेंस से हाथरस गैंगरेप केस (Hathras Gangrape Case) की पीड़िता को ले जाने पर उठाया सवाल तो पुलिस ने की मारपीट. दिल्ली पुलिस (Delhi Police) के खिलाफ कमिश्नर से की शिकायत.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 30, 2020, 4:27 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. हाथरस गैंगरेप केस (Hathras Gangrape Case) की पीड़िता को दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल (Safdarjung hospital) से ले जाने को पहुंची बिना नंबर की एम्बुलेंस (Ambulance) का क्या राज था? अगर वह सरकारी एंबुलेंस थी तो उस पर नंबर क्यों नहीं था? आम आदमी पार्टी (AAP) के विधायक अजय दत्त ने गैंगरेप पीड़िता की मौत को लेकर मची हलचल के बीच ये सवाल उठाए हैं. विधायक अजय दत्त ने आरोप लगाते हुए कहा कि जब ये बात हमने अधिकारियों से पूछनी चाही तो उन्होंने मारपीट शुरू कर दी. AAP विधायक ने कहा कि वे कल सफदरजंग अस्पताल में पीड़ित परिवार के पास गए थे.

विधायक ने कहा कि हाथरस गैंगरेप केस के पीड़ित परिवार को लगातार धमकी मिल रही थी. हमने वहां बिना नम्बर प्लेट की एंबुलेंस को देखा. तब हमने पुलिस अधिकारियों से पूछा तो उन्होंने मेरी पिटाई कर दी. थप्पड़, लात, घूंसे मारे. अजय दत्त ने कहा, 'दो बार के विधायक (MLA) के साथ दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ऐसे पेश आती है. पीड़िता हमारे समाज से है. हम तो उनकी मदद के लिए जाएंगे. हमने पुलिस कमिश्नर को शिकायत दे दी है.'

यह भी पढ़ें- क्यों हाथरस जा रहा है निर्भया के दोषियों को फांसी पर लटकाने वाला पवन जल्लाद!



पीड़िता के परिवार को मिलें 2 करोड़ रुपए
इधर, दिल्ली सरकार के कैबिनेट मंत्री राजेन्द्र पाल गौतम ने मांग की है कि हाथरस गैंगरेप केस के पीड़ित परिवार को तुरन्त 2 करोड़ रुपए दिया जाए. साथ ही परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी भी दी जाए. पूरे घटनाक्रम की सीबीआई जांच हो, क्योकि उन्हें यूपी पुलिस पर भरोसा नही है.



यह भी पढ़ें-हाथरस कांड: डॉक्टर बोले- इन दो कारणों के चलते हुई पीड़िता की मौत

क्योंकि जिस तरीके से उनके अधिकारी बोल रहे है इससे यही साफ झलकता है. रात के अंधेरे में दाह संस्कार, पीड़ित परिवार को धमकी मिलना. जब हमने पुलिस से बिना नम्बर प्लेट की एम्बुलेंस के बारे में पूछा तो हमसे बदतमीजी हुई. हमारे विधायक को भी पीटा गया.

सत्ता, जाति और वर्दी के अहंकार के आगे इंसानियत तार तार हुई

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश के हाथरस में दलित युवती के साथ कथित गैंगरेप और हत्या के मामले में देश में सियासत गरमाई हुई है. विपक्ष लगातार योगी सरकार पर हमलावर है. दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने भी यूपी सरकार और पुलिस पर हमला किया है. मनीष सिसोदिया ने ट्वीट किया है, “उत्तर प्रदेश में कल रात पुलिस ने जिस तरह पीड़िता का अंतिम संस्कार किया वह भी बलात्कारी मानसिकता का ही प्रतीक है. सत्ता, जाति और वर्दी के अहंकार के आगे इंसानियत तार तार हो रही है.”
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज