लाइव टीवी

छठ पर्व के मौके पर दिल्ली सरकार का तोहफा, 2 नवंबर को छुट्टी घोषित

News18Hindi
Updated: November 1, 2019, 7:40 PM IST
छठ पर्व के मौके पर दिल्ली सरकार का तोहफा, 2 नवंबर को छुट्टी घोषित
छठ को लेकर बिहार के लोगों में एक अलग ही उत्साह होता है. छठ भगवान सूर्य की उपासना का पर्व है.

छठ उत्सव मुख्यत: बिहार और पूर्वी उत्तर प्रदेश के लोग (पूर्वांचली) मनाते हैं. चार दिवसीय छठ उत्सव गुरुवार को शुरू हो गया और इसके अंतिम दो दिनों में श्रद्धालु पूजा करेंगे और सुबह तथा शाम में नदी या अन्य जल निकायों में डुबकी लगाकर भगवान सूर्य को अर्घ्य देंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 1, 2019, 7:40 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली: छठ पूजा (Chhath Puja 2019) के मौके पर दिल्ली सरकार (Delhi Government) की तरफ से शनिवार (Saturday) को छुट्टी (Holiday) का ऐलान किया गया है. आम आदमी पार्टी सरकार में मंत्री और पार्टी के नेता गोपाल राय ने अपने ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट से दिल्ली में 2 नवंबर की छुट्टी का ऐलान करते हुए छठ व्रतियों को बधाई दी.  उन्होंने लिखा 'छठ महापर्व' के शुभ अवसर पर कल दिनांक 2 नवंबर को दिल्ली सरकार द्वारा अवकाश घोषित. दिल्ली के सभी छठ व्रतियों को छठ महापर्व की हार्दिक शुभकामनाएं.



सीएम अरविंद केजरीवाल ने दी बधाई
वहीं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को पूर्वांचल के लोगों को छठ पूजा के लिए राष्ट्रीय राजधानी के कालकाजी में घाट बनाए जाने की अनुमति मिलने पर बधाई दी. इससे पहले कालकाजी में दिल्ली नगर निगम के पार्क में घाट बनाने की अनुमति नहीं दी गई थी. आप के वरिष्ठ नेता संजय सिंह ने पार्टी के अन्य नेताओं के साथ गुरुवार को थोड़ी देर के लिए दक्षिण दिल्ली के ग्रेटर कैलाश में धरना दिया था. जिसके बाद अधिकारियों ने घाट बनाने की अनुमति दे दी थी.इस बीच आप नेताओं ने भाजपा पर घाट निर्माण को लेकर गंदी राजनीति करने का आरोप भी लगाया था. केजरीवाल ने ट्वीट किया, 'पहले, जीके (ग्रेटर कैलाश) में कुछ लोग पूर्वांचल भाइयों को छठ के लिए घाट नहीं बनाने दे रहे थे. पूर्वांचली भाइयों ने साथ संघर्ष किया और अंत में आपकी जीत हुई, और अहंकार की हार. घाट अब बन रहा है. बधाई.'



छठ उत्सव मुख्यत: बिहार और पूर्वी उत्तर प्रदेश के लोग (पूर्वांचली) मनाते हैं. चार दिवसीय छठ उत्सव गुरुवार को शुरू हो गया और इसके अंतिम दो दिनों में श्रद्धालु पूजा करेंगे और सुबह तथा शाम में नदी या अन्य जल निकायों में डुबकी लगाकर भगवान सूर्य को अर्घ्य देंगे. पूजा के लिए गड्ढे खोदने के बाद इनमें पानी भर कर अस्थायी घाट बनाए गए हैं.

ये भी पढ़ें:

दिल्ली में वायु प्रदूषण के लिये पंजाब, हरियाणा को दोष देना ठीक नहीं : जावड़ेकर
बढ़ते प्रदूषण के चलते 5 नवंबर तक दिल्ली के स्कूल बंद, केजरीवाल सरकार का निर्णय

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 1, 2019, 7:40 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर