• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • Air Pollution: दिल्ली के लिए विंटर एक्शन प्लान बनाएगी सरकार, निजी एजेंसियों को दी हिदायत

Air Pollution: दिल्ली के लिए विंटर एक्शन प्लान बनाएगी सरकार, निजी एजेंसियों को दी हिदायत

सर्दियों में दिल्‍ली में बढ़ जाता है वायु प्रदूषण, इसे रोकने के उपायों पर आप सरकार ने काम शुरू कर दिया है.

सर्दियों में दिल्‍ली में बढ़ जाता है वायु प्रदूषण, इसे रोकने के उपायों पर आप सरकार ने काम शुरू कर दिया है.

Delhi Air Pollution : दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने कहा कि शहर में कई निजी एजेंसियां निर्माण कार्य कर रही हैं. उन्होंने एलएंडटी, शापूरजी, एनबीसीसी, सहित 50 से अधिक ऐसी कंपनियों के साथ बैठक की.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    नई दिल्ली. दिल्ली की आम आदमी पार्टी (AAP) की सरकार ने सर्दियों में राजधानी में बढ़ते वायु प्रदूषण (Air Pollution) पर नियंत्रण करने के उपायों पर काम शुरू कर दिया है. इसके तहत सभी निजी कंस्ट्रक्शन साइट्स (Private Construction Sites) को धूल से प्रदूषण रोकने के लिए 14 सूत्री दिशा-निर्देशों का पालन करने को कहा है. दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने शुक्रवार को कहा कि दिल्ली सरकार ने दिल्ली में निर्माण कार्य में लगी सभी सरकारी और निजी एजेंसियों के साथ एक समीक्षा बैठक की है.

    सरकार ने कंपनियों को 21 सितंबर तक धूल प्रदूषण को रोकने के लिए अपना एक्शन प्लान प्रस्तुत करने के लिए कहा गया है. राय ने कहा कि सभी विभागों के एक्शन प्लान के आधार पर राजधानी में वायु प्रदूषण से निपटने के लिए ‘विंटर एक्शन प्लान’ बनाया जाएगा. मंत्री गोपाल राय ने कहा कि शहर में कई निजी एजेंसियां निर्माण कार्य कर रही हैं. उन्होंने एलएंडटी, शापूरजी, एनबीसीसी, सहित 50 से अधिक ऐसी कम्पनियों के साथ बैठक की. मंत्री ने कहा कि इन निजी कंस्ट्रक्शन साइट्स को 15 दिनों में धूल प्रदूषण रोकने के लिए 14 सूत्री दिशा-निर्देशों का पालन करने को कहा गया है.

    20 हजार वर्ग मीटर की निर्माण साइटों पर एंटी स्मॉग गन तैनात होगी

    14 सूत्री दिशा-निर्देशों के तहत निर्माण स्थलों को टिन शेड का उपयोग करके चारों ओर से कवर किया जाना चाहिए. 20,000 वर्ग मीटर से अधिक क्षेत्रफल वाली साइटों को एंटी-स्मॉग गन तैनात करनी होगी. वहीं, निर्माण सामग्री ले जाने वाले वाहनों को भी कवर किया जाए. सड़क किनारे निर्माण और विध्वंस (C&D) कचरे का कोई संग्रह नहीं होना चाहिए. दिशानिर्देशों में कहा गया है कि खुले में पत्थरों को पीसने की अनुमति नहीं दी जाएगी.

    इस बार भी पटाखों पर लगा बैन

    बता दें कि इस बार भी दिल्ली सरकार ने दिवाली पर हर तरह के पटाखों के भंडारण, बिक्री एवं उपयोग पर पूरी तरह से रोक लगा दी है. दिल्ली में हर साल दीपावली के दौरान प्रदूषण खतरनाक स्तर तक पहुंच जाता है. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल बुधवार को बताया था कि पिछले 3 साल से दिवाली के समय दिल्ली के प्रदूषण की खतरनाक स्थिति को देखते हुए पिछले साल की तरह इस बार भी हर प्रकार के पटाखों के भंडारण, बिक्री एवं उपयोग पर पूर्ण प्रतिबंध लगाया जा रहा है, जिससे लोगों की जिंदगी बचाई जा सके.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज