• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • AAP सरकार ने बिजली की पीक डिमांड पूरी करने को बनाया प्लान, Discoms के साथ मिलकर करेगी ये काम

AAP सरकार ने बिजली की पीक डिमांड पूरी करने को बनाया प्लान, Discoms के साथ मिलकर करेगी ये काम

तीनों निजी बिजली कंपनियों (Discoms) की मदद के लिये सरकार एक रणनीति के तहत काम करने जा रही है. (File Photo)

तीनों निजी बिजली कंपनियों (Discoms) की मदद के लिये सरकार एक रणनीति के तहत काम करने जा रही है. (File Photo)

Delhi Government: दिल्ली सरकार की ओर से अगले साल पीक डिमांड (Peak Demand) के दौरान 8,500 मेगावाट से ज्यादा बिजली की आपूर्ति करने का लक्ष्य निर्धारित किया है. दिल्ली में अभी तक बिजली की पीक डिमांड 7,323 मेगावाट रिकॉर्ड की गई है. लेकिन आने वाले साल में इसकी डिमांड और बढ़ने की संभावना जताई है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. दिल्ली में हर रोज बिजली की डिमांड बढ़ रही है. गर्मी के दौरान बिजली की पीक डिमांड (Peak Demand) सभी रिकॉर्ड को तोड़ देती है. लेकिन अब गर्मी में बिजली की पीक डिमांड की पूर्ति करने के लिए दिल्ली सरकार (Delhi Government) ने भी रणनीति तैयार की है. तीनों निजी बिजली कंपनियों (Discoms) की मदद के लिये सरकार एक रणनीति के तहत काम करने जा रही है. सरकार अगले साल 8,500 मेगावाट बिजली की पीक रिमांड के लक्ष्य को पूरा करने की तैयारी कर रही है.

    दिल्ली सरकार (Delhi Government) का मानना है कि दिल्ली में हर साल नए ग्राहकों के बढ़ने की वजह से बिजली की खपत बढ़ने और हर साल समृद्धि में वृद्धि के कारण औसतन 4-5 फीसद बिजली की मांग बढ़ती है. अभी तक बिजली की बढ़ती मांग को पूरा करने में सफल रही है और दिल्ली के सभी निवासियों को 24 घंटे बिजली की आपूर्ति भी कर रही है.

    इस बीच देखा जाए तो दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने बिजली की बढ़ती मांग को लेकर बिजली विभाग और बिजली वितरण कंपनियों के अधिकारियों के साथ एक रिव्यू मीटिंग भी की है. मीटिंग के दौरान सीएम केजरीवाल (CM Kejriwal) ने कहा है कि राजधानी बिजली की बढ़ी मांग के बीच दिल्ली में विद्युत आपूर्ति की मौजूदा स्थिति पर विचार विमर्श किया गया है.



    ये भी पढ़ें : Weather Update: दिल्ली में अभी 3 दिन और रहेगा गर्मी का सितम, IMD ने इस दिन से जताई बारिश की संभावना

    लोगों की सुरक्षा के लिए हाईटेंशन तारों को किया जाएगा डाइवर्ट
    इस दौरान विभाग के अधिकारियों को बिजली के बेहतर आपूर्ति के लिए ट्रांसफार्मर की जरूरत वाले क्षेत्रों की पहचान करने और लोगों की सुरक्षा के लिए हाईटेंशन तारों को डाइवर्ट या अलग (इंसुलेट) करने के निर्देश भी दिए गए हैं.

    ट्रांसफार्मर को ठीक करने में डिस्काॅम की मदद करेगी सरकार
    सीएम केजरीवाल ने यह भी कहा है कि कंपनियां या डिस्काॅम, जो जगह की कमी के कारण कुछ क्षेत्रों में ट्रांसफार्मर को ठीक करने में समस्या का सामना कर रही हैं, वे सरकार को ऐसे स्थानों के बारे में जानकारी देंगी. सरकार उन क्षेत्रों में ट्रांसफार्मर को ठीक करने में डिस्काॅम की मदद करेगी. लटकते (ओवरहेड) केबल्स या तो भूमिगत किए जाएं या अलग किए जाएं.

    ये भी पढ़ें : यमुना अथॉरिटी इस मॉडल पर बना रही है 3 बिजली स्टेशन, 30 साल तक नहीं होगी परेशानी

    अगले साल पीक डिमांड 8,500 मेगावाट पार होने की संभावना
    दिल्ली सरकार की ओर से अगले साल पीक डिमांड (Peak Demand) के दौरान 8,500 मेगावाट से ज्यादा बिजली की आपूर्ति करने का लक्ष्य निर्धारित किया है. वर्तमान में देखा जाए तो दिल्ली में अभी तक बिजली की पीक डिमांड 7,323 मेगावाट रिकॉर्ड की गई है. लेकिन आने वाले साल में इसकी डिमांड और बढ़ने पर इसके लिये इंतजाम करने में भी जुट गई है.

    बताते चलें कि इस साल जून और जुलाई माह में भीषण गर्मी के चलते तापमान में भी रिकॉर्ड तोड़ते हुए 43 डिग्री तापमान को पार कर लिया है इसके चलते बिजली की भी डिमांड भी जून माह में 7,323 मेगावाट को पार कर गई है.

    ये भी पढ़ें : Delhi Power Peak Demand: भीषण गर्मी के साथ अब पावर डिमांड ने भी तोड़े रिकॉर्ड, पीक डिमांड 7,026 मेगावाॅट पहुंची

    बिजली कंपनियों की माने तो 2019 में 2 जुलाई को बिजली की मांग ऑल-टाइम हाई 7409 मेगावाॅट पहुंची थी. लेकिन, पिछले साल गर्मियों में लाॅकडाउन (Lockdown) आदि के कारण पीक डिमांड में कमी दर्ज की गई और यह सिर्फ 6314 मेगावाॅट के आंकड़े को छू पाई. 29 जून, 2020 को पिछले वर्ष की पीक डिमांड दर्ज की गई थी.

    डिस्काॅम्स ने लगाया था बिजली की मांग 7,900 मेगावाट तक जाने का अनुमान
    इस साल के लिए डिस्काॅम्स (Discoms) ने अनुमान लगाया था कि बिजली की मांग 7,900 मेगावाॅट तक जा सकती है. लेकिन, लाॅकडाउन और बारिश-तूफान (Rain Storm) आदि को देखते हुए लग रहा है कि पीक डिमांड अपेक्षाकृत कम रह सकती है. इस बार पीक डिमांड 7,000 मेगावाॅट से 7,400 मेगावाॅट के बीच रहने की संभावना है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज