COVID-19: दिल्ली में अगस्त से खुल सकते हैं स्कूल, सरकार ने HRD को दी सलाह
Delhi-Ncr News in Hindi

COVID-19: दिल्ली में अगस्त से खुल सकते हैं स्कूल, सरकार ने HRD को दी सलाह
लॉकडाउन की वजह से देश के अन्य राज्यों की ही तरह दिल्ली में भी स्कूल बंद हैं. (सांकेतिक तस्वीर)

COVID-19 के संक्रमण के बीच राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में अगले महीने से स्कूल (Delhi Schools) खोले जा सकते हैं. केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय (HRD) को सरकार ने यह राय दी है.

  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस (COVID-19) के बढ़ते संक्रमण और लॉकडाउन (Lockdown) के बीच राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में अगले महीने से स्कूल (Delhi Schools) खुल सकते हैं. दिल्ली सरकार ने केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय (HRD) को यह राय दी है. हालांकि महामारी के संक्रमण के बीच इस मामले पर गृह मंत्रालय और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) के फैसले के बाद ही विचार किया जाएगा. दिल्ली की ही तरह कई अन्य राज्यों ने भी अगस्त महीने से स्कूलों को खोलने के संबंध में अपनी राय दी है.

राष्‍ट्रीय राजधानी में कोविड-19 के संक्रमण के मामले रोजाना बढ़ते ही जा रहे हैं. हालांकि देश के अन्य शहरों के मुकाबले दिल्ली में कोरोना वायरस की रिकवरी रेट अच्छी है, लेकिन संक्रमण की रोकथाम में कमी नहीं आ रही. रविवार को दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण के 1211 नए केस सामने आए, जिससे राजधानी में संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 1,22,793 पर पहुंच गई. वहीं, COVID-19 से मरने वाले मरीजों की संख्या अब तक 3628 हो चुकी है. ऐसे में स्कूल खुलने के फैसले पर दिल्ली सरकार और केंद्रीय मंत्रालय सोच-समझकर निर्णय लेना चाहते हैं.

कई अन्य राज्य भी सहमत



दिल्ली की ही तरह अगले महीने से स्कूल खोलने के लिए कई राज्यों ने भी केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय को सलाह दी है. दिल्ली की तर्ज पर बिहार और हरियाणा में भी अगस्त महीने से स्कूलों को खोलने की संभावना के बारे में सलाह दी गई है. वहीं, कर्नाटक, केरल, लद्दाख और ओडिशा जैसे राज्यों ने अगस्त तक स्कूलों को बंद रखे जाने पर सहमति जताई है. वहीं बाढ़ प्रभावित असम ने 31 जुलाई के बाद स्कूल खोलने की सलाह दी है.
इस मसले पर महाराष्ट्र, गुजरात, गोवा, छत्तीसगढ़, सिक्किम, तमिलनाडु, तेलंगाना, पंजाब, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पश्चिम बंगाल, मेघालय, मिजोरम जैसे राज्यों ने इस मामले पर अभी तक कोई निर्णय नहीं लिया है. इधर, मानव संसाधन विकास मंत्रालय भी कोरोना के मद्देनजर देशभर के हालात की समीक्षा कर रहा है. बताया गया कि देशभर में महामारी के हालात को देखते हुए इस फैसले में स्वास्थ्य और गृह मंत्रालय की अहम भूमिका होगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज