Home /News /delhi-ncr /

aap leader durgesh pathak made serious allegations on bjp ruled mcd said 6000 crores toll tax scam in five years

AAP के MCD पर गंभीर आरोप, कहा- टोल टैक्‍स के नाम पर 5 साल में 6000 करोड़ का घपला!

AAP ने भाजपा शासित एमसीडी पर टोल टैक्स कंपनी से सांठगांठ कर करीब 6,000 करोड़ का घोटाला करने का आरोप लगाया है.

AAP ने भाजपा शासित एमसीडी पर टोल टैक्स कंपनी से सांठगांठ कर करीब 6,000 करोड़ का घोटाला करने का आरोप लगाया है.

MCD Toll Tax scam: आम आदमी पार्टी ने भाजपा शासित एमसीडी पर टोल टैक्स कंपनी से सांठकर कर करीब 6,000 करोड़ का घोटाला करने का गंभीर आरोप लगाया है. आप विधायक दुर्गेश पाठक ने कहा कि भाजपा ने 2017 में MEP इंफ्रास्ट्रक्चर डेवेल्‍पर्स ल‍िमिटेड नाम की कंपनी को 1,200 करोड़ सालाना के अनुसार पांच सालों के लिए ठेका दिया था. लेक‍िन कंपनी ने टैक्‍स का पैसा वापस एमसीडी को नहीं द‍िया और न ही कोई कार्रवाई की.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) ने भाजपा शासित एमसीडी (BJP ruled MCD) पर टोल टैक्स (Toll Tax) कंपनी से सांठगांठ कर करीब 6,000 करोड़ का घोटाला (Toll Tax Scam) करने का आरोप लगाया है. आप विधायक एवं एमसीडी प्रभारी दुर्गेश पाठक ने कहा कि भाजपा ने 2017 में MEP इंफ्रास्ट्रक्चर डेवेल्‍पर्स ल‍िमिटेड नाम की कंपनी को 1,200 करोड़ सालाना के अनुसार पांच सालों के लिए ठेका दिया था. कंपनी ने पहले साल पैसा देने के बाद अगले साल से कभी 10% तो कभी 20% ही पैसा दिया. लेकिन कंपनी के खिलाफ कार्रवाई करने की बजाय ठेके को जारी रखा गया.

वर्ष 2021 में वही ठेका शहाकर ग्लोबल लिमिटेड नाम की कंपनी को मात्र 786 करोड़ में दिया गया जो एमसीडी को सिर्फ 250 करोड़ के लगभग ही देती है. यहां तक कि भाजपा ने नई कंपनी को कोरोना काल के नाम पर भी 83 करोड़ रुपये की छूट दी. पाठक ने कहा कि दोनों कंपनियों का मालिक एक ही है, बिना सांठगांठ के यह सब संभव ही नहीं है.

आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता और राजेंद्र नगर से विधायक दुर्गेश पाठक ने मंगलवार को पार्टी मुख्यालय में प्रेस कॉन्‍फ्रेंस को संबोध‍ित करते हुए कहा कि पिछले 17 सालों में भाजपा ने एमसीडी की सत्ता में इतनी खूबसूरती से भ्रष्टाचार किया है कि आज एमसीडी का दिवालिया निकल चुका है. कई भ्रष्टाचारों का सबूतों के साथ खुलासा किया है. आज हम टोल-टैक्स से जुड़े भ्रष्टाचार का खुलासा कर रहे हैं.

आप नेता ने गंभीर आरोप लगाते हुए कहा क‍ि टोल टैक्स इकट्ठा करने वाली कंपनी का ठेका MEP इंफ्रास्ट्रक्चर डिवलपर्स लिमिटेड ने एक साल पैसा दिया लेकिन उसके बाद कभी 10% तो कभी 20% पैसा दिया. आखिर में पैसा देना बंद कर दिया. लेकिन भाजपा शासित एमसीडी चाहती तो यह टेंडर रद्द कर सकती थी. लेकिन उसने ऐसा नहीं किया.

इस पूरी गड़बड़ी के कारण एमसीडी को 921 करोड़ रुपयों का नुकसान हुआ. बावजूद इसके 2021 में एक नया टेंडर जारी कर शहाकर ग्लोबल लिमिटेड को तीन सालों के लिए ठेका दे द‍िया गया. पाठक ने आरोप लगाया क‍ि सबसे जरूरी बात यह है कि नई कंपनी पुरानी कंपनी की बहन है. मतलब यह है क‍ि दोनों कंपनियों का मालिक एक ही है.

Tags: Aam aadmi party, BJP, Delhi MCD, Delhi news, MCD, Toll Tax New Rate

अगली ख़बर