AAP नेता सौरभ भारद्वाज ने दिल्ली BJP अध्यक्ष आदेश गुप्ता को इस मुद्दे पर दी खुली बहस की चुनौती

आप नेता सौरभ भारद्वाज ने दिल्ली भाजपा अध्यक्ष को खुली चुनौती दी है.

आप नेता सौरभ भारद्वाज ने दिल्ली भाजपा अध्यक्ष को खुली चुनौती दी है.

New Delhi News: दिल्ली की शक्तियों को लेकर AAP और BJP लगातार आमने-सामने रहे हैं. AAP नेता सौरभ भारद्वाज ने आज दिल्ली बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता को दिल्ली राष्ट्रीय राजधानी राज्यक्षेत्र शासन (GNCTD) संसोधन बिल एक्ट पर बहस करने की चुनौती दी है.

  • Last Updated: March 22, 2021, 4:44 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. AAP नेता सौरभ भारद्वाज ने BJP के प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता को खुली चुनौती दी है. उन्होंने कहा कि 'मैं भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता को चुनौती देता हूं कि वे दिल्ली में अपनी मर्जी की विधानसभा चुन लें. वहां अपने कार्यकर्ताओं को घर-घर भेजकर बताएं कि एलजी का शासन, दिल्ली की केजरीवाल सरकार से बेहतर है. उस विधानसभा में खुली बहस रखी जाए. उस बहस में आदेश गुप्ता चाहें तो खुद आएं और वहां पर लोगों के सामने खुली चर्चा हो, जिसमें वह बताएं कि एलजी का शासन कैसे बेहतर है?

हम लोगों को बताएंगे कि चुनी हुई सरकार कैसे बेहतर है? वहीं लोगों से पूछ लिया जाए कि लोग क्या चाहते हैं? यह बहुत गंभीर और शर्म की बात है कि भाजपा पहले चोरी कर रही है और फिर सीनाजोरी कर रही है. मुझे आशा है आदेश गुप्ता हमारी इस चुनौती को स्वीकार करेंगे और बताएंगे कौन सी विधानसभा के अंदर खुली बहस रखी जाएगी.'

सौरभ भारद्वाज ने ये चुनौती दिल्ली बीजेपी प्रभारी बैजयंत पांडा मीडिया में आये बयान के बाद दी है. सौरभ भारद्वाज ने बताया कि 'मुझे मीडिया से आज ये मालूम हुआ कि दिल्ली भाजपा का 2 दिन का एक अधिवेशन चल रहा है. नगर निगम के अंदर करारी हार के बारे में चिंता शिविर रखा गया है. जिसमें भाजपा के दिल्ली प्रभारी बैजयंत पांडा ने कल कहा है कि दिल्ली में भाजपा कार्यकर्ता घर-घर जाएंगे और दिल्ली वासियों को बताएंगे कि केंद्र के हाथों में दिल्ली का आना और एलजी द्वारा दिल्ली का शासन चलाए जाना दिल्ली के फायदे की बात है.'

Youtube Video

GNCTD संशोधन एक्ट लोकसभा में पेश किया जा सकता है

GNCTD संशोधन एक्ट कल लोकसभा में पेश किया जा सकता है. जिसके लिए बीजेपी ने अपने सांसदों को तीन लाइन का व्हिप जारी किया हुआ है. आप का आरोप है कि इस संशोधन के संसद से पारित होने के बाद दिल्ली में सरकार का मतलब LG होगा. आम आदमी पार्टी मुखिया और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल इस संशोधन बिल के विरोध में जंतर मंतर पर प्रदर्शन भी कर चुके हैं. वहीं कांग्रेस पार्टी भी इस बिल के विरोध में प्रदर्शन कर चुकी है. इस मुद्दे पर कांग्रेस केंद्र सरकार और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को घेर रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज