लाइव टीवी

चौपाल: घोंडा विधानसभा सीट पर त्रिकोणीय मुकाबले में किस पार्टी का पलड़ा भारी?
Delhi-Ncr News in Hindi

Pankaj Kumar | News18Hindi
Updated: January 29, 2020, 8:44 PM IST
चौपाल: घोंडा विधानसभा सीट पर त्रिकोणीय मुकाबले में किस पार्टी का पलड़ा भारी?
दिल्ली की घोंडा विधानसभा सीट

घोंडा विधानसभा सीट (Ghonda Assembly Seat) पर ब्राह्मण और बनिया का समीकरण काफी प्रभावशाली माना जाता है. यही वजह है इन दोनों जातियों को रिझाने के लिए तीनों बड़े दल यहां पर लगे हुए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 29, 2020, 8:44 PM IST
  • Share this:
नईदिल्ली. घोंडा विधानसभा चुनाव (Ghonda Assembly Election) में त्रिकोणीय मुकाबले की उम्मीद है. आम आदमी पार्टी (AAP) के मौजूदा विधायक श्रीदत्त शर्मा, बीजेपी के अजय महावर और कांग्रेस पार्टी से भीष्म शर्मा के बीच मुख्य मुकाबला है. श्रीदत्त शर्मा की दावेदारी मजबूत मानी जा रही है, वहीं दो बार विधायक रह चुके भीष्म शर्मा भी अपनी जीत को लेकर खासे उत्साहित हैं. वैसे बीजेपी इस बात को लेकर आत्मविश्वास से लवरेज है कि लड़ाई बीजेपी और आम आदमी पार्टी के बीच है और अगर लड़ाई त्रिकोणीय हुई तो इसका फायदा बीजेपी को ही मिलेगा.

अंर्तकलह से परेशान है कांग्रेस

इलाके के कद्दावर नेता भीष्म शर्मा आठ महीने पहले बीजेपी में शामिल हो गए थे. बीजेपी ने उन्हें जब विधानसभा का टिकट नहीं दिया तो ऐन वक्त पर बीजेपी का साथ छोड़कर उन्होंने कांग्रेस पार्टी ज्वाइन कर ली. दिलचस्प बात यह है कि कांग्रेस पार्टी में शामिल होते ही उन्हें यहां से टिकट भी मिल गया जिससे कांग्रेस के कार्यकर्ता खासे हैरान और परेशान हैं. कांग्रेस के कई कार्यकर्ता बगावती रुख अख्तियार करते नजर आ रहे हैं. सोमदत्त शर्मा ने न्यूज 18 से बात करते हुए कहा कि भीष्म शर्मा ने कांग्रेस की दिग्गज और दिवंगत नेता शीला दीक्षित का अपमान किया था, लेकिन कांग्रेस ने भीष्म शर्मा पर भरोसा जताकर अपने पांव पर खुद कुल्हाड़ी मारी है.

GHONDA ASSEMBLY ELECTION 2020, DELHI ASSEMBLY ELECTION, CONGRESS
घोंडा विधानसभा में कांग्रेस पार्टी को भीतरघात से खतरा.


इलाके की समस्या और जातिगत समीकरण

इलाके में ब्राह्मण और बनिया का समीकरण काफी प्रभावशाली माना जाता है. यही वजह है इन दोनों जातियों को रिझाने के लिए तीनों बड़े दल यहां पर लगे हुए हैं. मूलभूत समस्याओं पर गौर फरमाएं तो सड़क, पेयजल और सीवर की समस्या यहां की मुख्य समस्या है. स्थानीय निवासी वीरेन्द्र अग्रवाल का कहना है कि इलाके में अस्पताल तो दूर स्वास्थ्य केन्द्र भी खोला नहीं जा सका है इसलिए स्वास्थ्य सेवा के लिए उन्हें पास के इलाके में जाना पड़ता है.

जनता की रायस्थानीय जनता में कई लोग केजरीवाल सरकार की तारीफ करते हुए नहीं थकते हैं. रविन्द्र बंसल के मुताबिक, मोहल्ला क्लिनिक के लिए पास के इलाके में जाना पड़ता है लेकिन स्कूल, बिजली जैसी मूलभूत समस्या के बेहतर सुधार से वो काफी खुश हैं.

वहीं योगेन्द्र यादव के मुताबिक, एनआरसी और सीएए का समर्थन वो करते हैं. साथ ही केन्द्र में मोदी सरकार से वह संतुष्ट हैं लेकिन विधानसभा में केजरीवाल के बेहतर काम काज को देखकर उन्हें ही मतदान करेंगे.

 Delhi Assembly Election 2020, Delhi Assembly Election, rajpath, BJP, AAP, Congress, Patparganj constituency, Patparganj ASSEMBLY SEAT, manish sisodia, ravi negi, lakshman rawat, dehi metro, amit shah, jp nadda, aam aadmi party,
लोगों का कहना है कि केजरीवाल के बेहतर काम काज को देखकर ही मतदान करेंगे.


वैसे ही सुनील जोशी भी आम आदमी पार्टी को वोट देने का दावा कर रहे हैं. साथ ही सीएए और एनआरसी पर बीजेपी से नाराजगी जताते हुए केजरीवाल को मौका दिए जाने की बात कर रहे हैं.

इलाके में स्थानीय समस्या पर लोग खुलकर बोल रहे हैं परंतु सीएए और एनआरसी भी लोगों की जुबान पर बना हुआ है. रफीक अहमद कहते हैं कि बीजेपी सरकार सामाजिक सौहार्द को बिगाड़ने का काम कर रही है, जिससे देश के हालात बिगड़ते जा रहे हैं. ज़ाहिर है रफीक सीएए और एनआरसी को लेकर खासे नाराज हैं. वहीं सन्नी चैहान जो कि दक्षिणी दिल्ली में कार का कारोबार करते हैं, वो बीजेपी को बेहतरीन पार्टी बताते हुए उसे वोट देने की वकालत कर रहे हैं.



घोंडा का इतिहास

साल 1993 में पहली बार बीजेपी के लालबिहारी तिवारी विधायक बने थे और साल 1998 और 2003 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी के भीष्म शर्मा ने इस सीट पर पंजा की छाप को जिताकर अपना दबदबा कायम किया था, लेकिन साल 2008 और 2013 में बीजेपी के साहब सिंह चौहान ने लगातार जीत दर्ज कर कमल की जड़ें यहां मजबूत कर दी थी, परंतु साल 2015 में आम आदमी पार्टी के विधायक श्री दत्त शर्मा ने जीत दर्ज कर आम आदमी पार्टी की पकड़ इलाके में मजबूत कर दी है.

दिल्ली दरबार स्वीट्स एंड चाट कॉर्नर, पहाड़ी मंदिर, सुभाष नगर का रामलीला और डीडीए ग्राउंड में मनाई जाने वाली ईद यहां का विशेष आकर्षण है. अब ये देखना दिलचस्प होगा की तीन बार जीत चुकी बीजेपी और दो बार जीत चुकी कांग्रेस को एक बार फिर पटखनी देकर श्रीदत्त शर्मा दोबारा विधानसभा जीत पाने में कामयाब हो पाएंगे या नहीं ?

ये भी पढ़ें: 

चौपाल: रोहतास नगर विधानसभा सीट पर AAP, BJP और कांग्रेस में किसका पलड़ा भारी?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 29, 2020, 8:44 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर