होम /न्यूज /दिल्ली-एनसीआर /जेल से जमानत पर रिहा हुए आम आदमी पार्टी के विधायक अमानतुल्लाह खान ने क्या कहा?

जेल से जमानत पर रिहा हुए आम आदमी पार्टी के विधायक अमानतुल्लाह खान ने क्या कहा?

आम आदमी पार्टी के विधायक अमानतुल्‍ला खान को जमानत मिल गई है. (File Photo-Twitter)

आम आदमी पार्टी के विधायक अमानतुल्‍ला खान को जमानत मिल गई है. (File Photo-Twitter)

AAP MLA Amanatullah khan: जामिया में 144 लगाने और PFI पर अमानतुल्लाह खान ने कहा कि मैं रात ही आया हूं. मुझे मालूम हुआ ह ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

दिल्ली. वक्फ बोर्ड मामले आम आदमी पार्टी के विधायक अमानतुल्लाह खान को जमानत मिल गई है. ज़मानत पर रिहा होने के बाद अमानतुल्लाह खान ने खुद को बकसूर बताया है. न्यूज18 से बातचीत में अमानतुल्लाह खान ने कहा कि कोर्ट ने मुझे जमानत दी है. जो सारे तथ्य थे, उसके आधार पर जमानत दी है और उससे साफ होता है कि ऐसा कुछ नहीं था, जिस बुनियाद पर ही उन्हें गिरफ्तार किया.

वक्फ बोर्ड लीज रूल्स पर चलता है. जो कानून में तय कर दिया गया है. उससे कम किराया हम नहीं ले सकते हैं. बाकायदा उससे बिड होती है. लेकिन इन्होंने जितनी मेरे से पूछताछ की और कोर्ट में पेश एफआईआर से संबंधित कुछ नहीं था. यह पूछते थे कि आपका बंगला, फार्महाउस कहां है और आप दुबई गए थे.

कुछ केस 2018 और 2019 के पीरियड थे. उससे रिलेटेड यह कोई बात नहीं करते थे. उससे अलग बात करते हैं. यह कहते थे कि आपने फतेहपुरी की मार्केट बेच दी, जबकि मार्केट या वक़्फ़ की संपत्ति बेची नहीं जा सकती. वह सिर्फ किराये पर दी जा सकती है. अमानतुल्लाह खान ने कहा कि पहले वहां पर एक स्कूल चलता था. उस पर किसी का कब्जा था. बंद स्कूल था. हमने उसका पार्टीशन करके वहां गोदाम बनाए. वह हमने किराए पर दी और रेवेन्यू बढ़ाया. पहले वहां एक दुकानदार के पास दुकान थी, जिसका किराया ₹365 था. आज ₹65000 किराया है. पहले जब मैं आया था तो 3 लाख किराया आता था, आज 50 लाख रुपए से ज्यादा है. हमने कोई नुकसान नहीं किया और जो यह रिक्रूटमेंट की बात कर रहे हैं और उसमें कोई गलत नहीं किया गया है. वक्फ बोर्ड की जो इनकम है, उसके हिसाब से उनको सैलरी दी और योग्यता के हिसाब से नौकरी दी गई है. बोर्ड ने रिक्रूटमेंट किया है, मैंने नहीं.

अमानतुल्लाह खान ने कहा कि उनकी पार्टी पूरी तरह से साथ खड़ी थी. उसी वजह से आज सच्चाई की जीत हुई है. एजेंसी को सोचना चाहिए कि अगर कोई शिकायत कर रहा है और कोई विरोधी है तो उसकी बुनियाद पर गिरफ्तार करके जेल में नहीं डालना चाहिए. तथ्यों के आधार पर जांच होनी चाहिए. यह तो बीजेपी बता सकती है कि  टारगेट वहीं से होता है. अफसर मुझसे कहते थे कि ऊपर से प्रेशर है.

जामिया में 144 लगाने और PFI पर अमानतुल्लाह खान ने कहा कि मैं रात ही आया हूं. मुझे मालूम हुआ है कि 144 लगा दी गई है. उसके बारे में ज्यादा जानकारी नहीं है. पीएफआई पर बैन को लेकर मुझे जानकारी नहीं है.

Tags: AAP Politics, Delhi news, Delhi Waqf Board

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें