आतिशी का दावा- केजरीवाल सरकार के इन 3 फैसलों को अब PM Modi ने पूरे देश में किया लागू!

गुरुवार को पीएम ने देश के सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक की है.

गुरुवार को पीएम ने देश के सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक की है.

आम आदमी पार्टी (AAP) की विधायक आतिशी मार्लेना (Atishi Marlena) ने दावा किया किया है कि प्रधानमंत्री मोदी (PM Modi) ने देश के अलग-अलग राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ गुरुवार की बैठक में कहा है कि जो दिल्ली ने कोरोना (Corona) में करके दिखाया है वह आप भी अपने राज्यों में भी कीजिए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 9, 2021, 10:04 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश में कोरोना (Covid-19) की दूसरी लहर से हर तरफ त्राहिमाम मचा हुआ है. कोरोना के ताजे आंकड़े से अब लोगों को डर लगने लगा है. हर पल बढ़ते आंकड़े ने केंद्र सरकार से लेकर राज्य सरकारों की भी नींद उड़ा दी है. पीएम मोदी (PM Modi) भी कोरोना के बढ़ते ग्राफ को लेकर एक्टिव हो गए हैं. इसलिए गुरुवार को पीएम ने देश के सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक की है. इस बैठक में पीएम मोदी ने संपूर्ण लॉकडॉउन न लागू कर मुख्यमंत्रियों को छोटे-छोटे उपाए करने को कहा है. अब, आम आदमी पार्टी ने पीएम मोदी के इस सुझाव पर राजनीति शुरू कर दी है. आम आदमी पार्टी (AAP) की विधायक आतिशी मार्लेना (Atishi Marlena) ने दावा किया किया है कि प्रधानमंत्री मोदी ने देश के अलग-अलग राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ गुरुवार की बैठक में कहा है कि जो दिल्ली ने कोरोना में करके दिखाया है वह आप भी अपने राज्यों में भी कीजिए. आतिशी ने कहा कि गृहमंत्री ने पिछले साल दिल्ली सरकार के होम आइसोलेशन के कदम को ठुकराया था, आज खुद प्रधानमंत्री उस कदम को पूरे देश में बढ़ावा दे रहे हैं.

क्या पीएम मोदी केजरीवाल मॉडल को अपना रहे हैं?

आतिशी का दावा है कि होम आइसोलेशन की शुरुआत के बाद ही लोगों में टेस्ट करवाने का कॉन्फिडेंस आया. आज जब पूरे देश में प्रतिदिन 13 लाख टेस्ट हो रहे हैं तो उसमें से एक लाख टेस्ट प्रतिदिन सिर्फ दिल्ली में हो रहे हैं. प्रधानमंत्री ने दिल्ली सरकार के तीसरे और जरूरी कदम कंटेनमेंट जोन को भी पूरे देश में बढ़ावा देने की हिदायत दी है. आज सिर्फ दिल्ली की जनता ही नहीं बल्कि केंद्र सरकार भी दिल्ली सरकार के सभी प्रयासों को पहचान रही है.

PM MODI, ARVIND KEJRIWAL, Delhi corona cases update, covid-19 cases update, quarantine rules, airport guidelines, Corona cases in delhi, Covid-19 cases in delhi, last 24 hours Death in delhi, Coronavirus, Covid 19, Delhi Government, Health Bulletin, कोरोना के नए मामले, दिल्ली में कोरोना के कितने मामले, दिल्ली सरकार, अरविंद केजरीवाल, कोरोना केस अपडेट, कोविड-19 केस अपडेट, एयरपोर्ट गाइडलाइन, क्वारंटीन नियम, पीएम मोदी, सीएम, सभी राज्य सरकारें, कोरोना को लेकर क्या किए गए उपाए
आतिशी का दावा है कि होम आइसोलेशन की शुरुआत के बाद ही लोगों में टेस्ट करवाने का कॉन्फिडेंस आया.

मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक में पीएम मोदी ने क्या कहा

आतिशी ने शुक्रवार को प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए कहा कि देश में कोविड के बढ़ते मामलों की वजह से गुरुवार को पीएम ने देश में अलग-अलग राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक की. बैठक में मोदी जी ने अलग-अलग राज्यों को आगे बढ़ते हुए कोरोना के मामलों को बढ़ने से रोकने के लिए क्या-क्या करना चाहिए. उसके लिए अलग-अलग राज्यों के मुख्यमंत्रियों को कई हिदायतें दी. पीएम मोदी ने दिल्ली सरकार के उठाए गए कदमों की सराहना करते सभी राज्यों को यह मॉडल अपनाने को कहा.’

कौन से वह कदम हैं



आतिशी ने कहा, दिल्ली सरकार ने ऐसे क्या कदम उठाए हैं जो आज प्रधानमंत्री देश के सभी राज्यों को उठाने के लिए कह रहे हैं. सबसे पहला कदम होम आइसोलेशन है. दिल्ली सरकार पहली ऐसी सरकार थी, जिसने अग्रेसिव रूप में होम आइसोलेशन की शुरुआत की. दिल्ली सरकारने कहा था कि जो एसिंप्टोमेटिक मरीज हैं, जो हल्के लक्षणों वाले मरीज हैं उन्हें अस्पताल जाने की कोई जरूरत नहीं है. उन्हें क्वारंटाइन सेंटर में जाने की कोई जरूरत नहीं है. वह घर में रह सकते हैं. हमारे कर्मचारियों द्वारा उनको घर जाकर समझाया जाता था कि किस तरह से आइसोलेशन का पालन करना है. उन्हें सरकार द्वारा ऑक्सीमीटर दिया जाता था और सरकार ने टेलीमेडिसिन कंपनी को नियुक्त किया था जो रोज इन मरीजों को कॉल करती थी और उनके स्वास्थ्य का जायजा लेती थी.

PM MODI, ARVIND KEJRIWAL, Delhi corona cases update, covid-19 cases update, quarantine rules, airport guidelines, Corona cases in delhi, Covid-19 cases in delhi, last 24 hours Death in delhi, Coronavirus, Covid 19, Delhi Government, Health Bulletin, कोरोना के नए मामले, दिल्ली में कोरोना के कितने मामले, दिल्ली सरकार, अरविंद केजरीवाल, कोरोना केस अपडेट, कोविड-19 केस अपडेट, एयरपोर्ट गाइडलाइन, क्वारंटीन नियम, पीएम मोदी, सीएम, सभी राज्य सरकारें, कोरोना को लेकर क्या किए गए उपाए
दिल्ली सरकार ने ऐसे क्या कदम उठाए हैं जो आज प्रधानमंत्री देश के सभी राज्यों को उठाने के लिए कह रहे हैं.


क्यों गृह मंत्री पर आतिशी ने साधा निशाना?

आतिशी ने गृह मंत्री अमित शाह के उस बयान पर कहा कि आप लोगों को ये भी याद होगा कि 19 जून को हमारे गृहमंत्री अमित शाह जी ने होम आइसोलेशन के कदम को खारिज कर दिया था और 5 दिन का कंपलसरी इंस्टीट्यूशनल क्वारंटाइन शुरू किया था. आज केंद्र सरकार ये पहचान रही है कि होम आइसोलेशन कोरोना को नियंत्रित करने के लिए और फैलने से रोकने के लिए भी कितना जरूरी कदम है.

होम आइसोलेशन कितना प्रभावी?

इसी तरह दूसरा कदम भी होम आइसोलेशन से जुड़ा हुआ है. बहुत सारे लोग कोरोना का टेस्ट कराने से इसलिए कतराते थे क्योंकि उन्हें लगता था कि हमें जबरदस्ती अस्पताल भेज दिया जाएगा. हमारे घर के सामने एंबुलेंस आएगी, डॉक्टर आएंगे और पुलिस वाले हमें उठाकर वैन में भरकर किसी क्वारंटाइन सेंटर या अस्पताल भेज देंगे. जब दिल्ली ने होम आइसोलेशन शुरू किया तो लोगों में यह कॉन्फिडेंस आया कि हम अपना टेस्ट करवा सकते हैं और अगर हमें कोरोना हुआ भी तो शांति से अपने घर में ठीक भी हो सकते हैं.

ये भी पढ़ें: दिल्ली में कोरोना हुआ बेलगाम, 24 घंटे में सामने आए 8,521 नए केस, 39 की मौत

कंटेनमेंट जोन को लेकर क्या है राय

इसी तरह आतिशी तीसरे कदम का ज़िक्र करते हुए कहती हैं, दिल्ली में कंटेनमेंट जोन बनाना जरूरी कदम था. जब किसी क्षेत्र में 1, 2 या अगर 3 मामले भी कोविड के हो जाते थे तो उस क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन बना दिया जाता था. दिल्ली में खासकर के माइक्रो कंटेनमेंट जोन की शुरुआत हुई. कोई नया क्षेत्र जहां कोरोना का पहला मामला पाया गया, जहां पर एक मरीज, दो मरीज या कम मरीज हैं तो उसको माइक्रो कंटेनमेंट जोन बनाकर सील कर दिया जाता था. पहला माइक्रो कंटेनमेंट जोन पूरे भारत में दिल्ली के दिलशाद गार्डन क्षेत्र में बना था क्योंकि जैसे ही दिलशाद गार्डन का पहला मामला सामने आया उसको एक माइक्रो कंटेनमेंट जोन बना दिया गया था. यही सुझाव कल प्रधानमंत्री जी ने भी दिया है. उन्होंने कहा है कि इस बार हम अभी लॉकडाउन नहीं लगाएंगे. हमें कंटेनमेंट करना है. हमें माइक्रो कंटेनमेंट जोन्स पर पूरे देश में जोर देना है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज