लाइव टीवी

दिल्ली चुनाव: सीएम कैंडिडेट पर BJP की चुप्पी, 'AAP' ने ऐसे उड़ाया मज़ाक

Kundan Pandey | News18Hindi
Updated: January 17, 2020, 10:05 PM IST
दिल्ली चुनाव: सीएम कैंडिडेट पर BJP की चुप्पी, 'AAP' ने ऐसे उड़ाया मज़ाक
आम आदमी पार्टी, बीजेपी के सीएम प्रत्याशी नहीं उतारने को मुद्दा बनाने में जुट गई है. (फाइल फोटो)

दिल्ली विधानसभा चुनाव (Delhi Assembly Election 2020) में सीएम चेहरा नहीं उतारने को लेकर आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) बीजेपी (BJP) को घेरने में जुट गई है.   

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 17, 2020, 10:05 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने फरवरी में होने वाले दिल्ली विधानसभा चुनाव (Delhi Assembly Election 2020) के लिए गुरुवार को 57 प्रत्याशियों की घोषणा कर दी, लेकिन अन्ना हजारे के भ्रष्टाचार विरोधी आंदोलन से निकलकर दिल्ली के मुख्यमंत्री बनने वाले अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) के सामने पार्टी ने अभी तक अपने मुख्यमंत्री का नाम फाइनल नहीं किया है. आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) ने मुख्यमंत्री का नाम तय नहीं करने को लेकर बीजेपी की चुटकी ली है. अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से एक इमेज के साथ ट्वीट कर आम आदमी पार्टी ने पूछा है कि, ‘Who's the CM candidate of BJP4Delhi?.


BJP के सीएम प्रत्याशी नहीं उतारने के मुद्दे को भुनाने में लगी है आप

दिल्ली के राजनीतिक गलियारों में यह चर्चा आम है कि पार्टी दिल्ली विधानसभा का चुनाव मुख्यमंत्री चेहरे के बिना लड़ेगी. आम आदमी पार्टी की कोशिश है कि दिल्ली की जनता के मन में यह सवाल घर कर ले कि बीजेपी के पास ऐसा कोई नेता नहीं है, जिसे वह अरविंद केजरीवाल के मुकाबले चुनाव मैदान में उतार सके. राजनीतिक विश्लेषकों का मानना है कि भारतीय जनता पार्टी का दिल्ली में सीएम का चेहरा न दे पाना, शायद उनकी अपनी मजबूरी दर्शाता है. आम आदमी पार्टी बीजेपी के सीएम प्रत्याशी नहीं उतारने के मुद्दे को भुनाने में लगी है.

इन नारों के साथ मैदान में हैं दोनों पार्टियांआम आदमी पार्टी ‘5 साल बेमिसाल’ और ‘अच्छे बीते पांच साल, लगे रहो केजरीवाल’ के नारे के साथ चुनाव लड़ने जा रही है. वहीं बीजेपी ‘दिल्ली चले मोदी के साथ’ और ‘मोदी है तो मुमकिन है’ के नारे के साथ चुनावी मैदान में है. मई 2019 में संपन्न हुए लोकसभा चुनाव में आप का दिल्ली में सूपड़ा साफ हो गया था. पार्टी दिल्ली की 7 लोकसभा सीटों में से एक भी सीट नहीं जीत पाई थी, इसलिए आप लोकसभा चुनाव में खोई हुई जमीन को फिर से पाने के लिए हर मुमकिन कोशिश कर रही है.

राष्ट्रीय मुद्दों पर चुनाव लड़ना चाहती है बीजेपी

विधानसभा के चुनाव हमेशा स्थानीय मुद्दों पर ही होते रहे हैं, इसलिए दिल्ली का चुनाव भी स्थानीय मुद्दों पर ही लड़ा जाना लगभग तय है. बीजेपी की रणनीतिक कोशिश है किसी तरह से दिल्ली विधानसभा का चुनाव स्थानीय मुद्दों के बजाय राष्ट्रीय मुद्दों पर लड़ा जाए.

ये भी पढे़ं - 

पार्टी पर फैसला बाद में, ‘काले कानून’ के खिलाफ लड़नी है लड़ाई: चंद्रशेखर आजाद

तेजस्वी यादव का BJP पर हमला, कहा- जीते जी CAA को लागू नहीं होने देंगे

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 17, 2020, 9:31 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर