Home /News /delhi-ncr /

Rohini Court Blast: रोहिणी कोर्ट में नीले रंग की फाइल से साथ घुसा था आरोपी, पढ़ें 10 बड़ी खबरें

Rohini Court Blast: रोहिणी कोर्ट में नीले रंग की फाइल से साथ घुसा था आरोपी, पढ़ें 10 बड़ी खबरें

रोहिणी कोर्ट बम ब्‍लास्‍ट की दिल्‍ली पुलिस की स्‍पेशल सेल जांच कर रही है. ( फोटो-CNBC TV18)

रोहिणी कोर्ट बम ब्‍लास्‍ट की दिल्‍ली पुलिस की स्‍पेशल सेल जांच कर रही है. ( फोटो-CNBC TV18)

Rohini Court Blast: राजधानी के रोहिणी कोर्ट के रूम नंबर 102 में बम धमाके को लेकर दिल्‍ली पुलिस (Delhi Police) की स्‍पेशल सेल ने बड़ा खुलासा किया है. आरोपी नीले रंग की फाइल लेकर कोर्ट में दाखिल हुआ था. वहीं, पुलिस को मौके से एक किलो अमोनियम नाइट्रेट मिला है. दरअसल बम धमाके बाद मौके से सफेद पाउडर मिला था. इसके अलावा दिल्ली के परिवहन विभाग ने अपने पैनल में शामिल कबाड़ करोबारियों से 15 साल से अधिक पुराने वाहनों के लिए ‘उचित बाजार’मूल्य तय करने को कहा है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्‍ली. राजधानी दिल्‍ली के रोहिणी कोर्ट के रूम नंबर 102 में कुछ दिन पहले हुए बम धमाके (Rohini Court Blast) को लेकर पुलिस ने बड़ा खुसाला किया है. दिल्‍ली पुलिस (Delhi Police) की स्‍पेशल सेल के मुताबिक, आरोपी नीले रंग की फाइल लेकर कोर्ट में दाखिल हुआ था, जिस पर आगे और पीछे कुछ भी लिखा हुआ नहीं था. वहीं, पुलिस को मौके से एक किलो अमोनियम नाइट्रेट मिला है. इसकी रोहिणी स्थित एफएसएल ने पुष्टि कर दी है कि धमाके वाली जगह से मिला सफेद रंग का पाउडर अमोनियम नाइट्रेट है.

    दिल्‍ली पुलिस के स्पेशल सेल के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि जिस लैपटॉप बैग में बम धमाका हुआ था, उस बैग में टिफिन बम के अलावा नीले रंग की एक फाइल भी थी. माना जा रहा है कि आरोपी ने कोर्ट में घुसने के लिए इस फाइल का सहारा लिया. यह फाइल एकदम खाली बताई जा रही है, जिसमें कुछ नहीं लिखा है. वहीं, दिल्ली पुलिस इस तरह की फाइल बेचने वालों से पूछताछ में जुट गई है. इसके अलावा पुलिस की शुरुआती जांच में ये बात सामने आई है कि दहशतगर्द ने बम धमाका करने के लिए रिमोट का इस्तेमाल किया है, क्‍योंकि बैग से मोटरसाइकिल की बैट्री के अलावा ऐसा सामान मिला है, जिससे ये पता लगा है कि धमाका रिमोट से किया गया है.

    Delhi High Court, Delhi Police, Ammonium Nitrate, Rohini Court Bomb Blast, Delhi Air Pollution, Delhi Government, Delhi Crime News, दिल्‍ली हाईकोर्ट, दिल्‍ली पुलिस, दिल्‍ली वायु प्रदूषण

    पुलिस को मौके से एक किलो अमोनियम नाइट्रेट मिला है.

    बता दें कि गोगी गेंग के सरगना जितेंद्र मान उर्फ गोगी की हत्‍या के लिए भी बदमाश वकील के वेश में रोहिणी कोर्ट में घुसे थे. हालांकि इस दौरान पुलिस ने दोनों हमलावरों को ढेर कर दिया था. इसके बाद से दिल्‍ली हाईकोर्ट के आदेश पर दिल्‍ली पुलिस ने राजधानी के सभी कोर्ट की सुरक्षा पुख्‍ता कर दी थी, लेकिन रोहिणी कोर्ट में हुए बम धमाके ने एक बार फिर सवाल खड़े कर दिए हैं. द

    दिल्‍ली में अब तक 1900 पुराने वाहन जब्‍त
    दिल्ली के परिवहन विभाग ने अपने पैनल में शामिल कबाड़ करोबारियों से 15 साल से अधिक पुराने वाहनों के लिए ‘उचित बाजार’मूल्य तय करने को कहा है. इन वाहनों को कबाड़ के लिए जब्त किया जा रहा है. इस महीने की शुरुआत में विभाग ने अपने प्रवर्तन बल को 15 साल से अधिक डीजल और पेट्रोल वाहनों को कबाड़ में देने के लिए मानक परिचालन प्रक्रिया (एसओपी) जारी की थी.

    परिवहन विभाग द्वारा जारी आदेश के मुताबिक, दिल्ली की खराब वायु गुणवत्ता में वाहनों से होने वाले प्रदूषण में वृद्धि के मद्देनजर शहर की सड़कों पर अपनी उम्र पूरी कर चुके वाहनों को हटाने के लिए उन्हें कबाड़ में देने हेतु तत्काल स्थायी आदेश की जरूरत है. आदेश में कहा गया कि दो पहिया, तीन पहिया, चार पहिया, हल्के और भारी वाहन सहित सभी श्रेणियों के पुराने वाहनों पर राष्ट्रीय हरित अधिकरण (एनजीटी) का निर्देश लागू होगा, भले वे वाणिज्यिक वाहन हो या अन्य श्रेणी के.

    एसओपी में कहा गया कि प्रवर्तन टीम द्वारा जब्त ऐसे वाहनों को परिवहन विभाग द्वारा अधिकृत कबाड़ कारोबारियों को नीतिगत दिशानिर्देश के तहत दिया जाएगा. कबाड़ कारोबरी वाहन को जब्ती के स्थान से कबाड़ इकाई तक लेकर जाएगा. इसमें कहा गया, ‘अधिकृत कबाड़ कारोबारी कबाड़ घोषित वाहन का उचित बाजार मूल्य तय करेगा और उसका भुगतान सीधा वाहन मालिक को करेगा. अगर ऐसे जब्त वाहन को लेकर कोई विवाद पैदा होता है तो प्रवर्तन टीम इस विवाद में नहीं पड़ेगी और मदद के लिए स्थानीय पुलिस से संपर्क करेगी. वैसे परिवहन विभाग की प्रवर्तन टीम और दिल्ली यातायात पुलिस ने 17 नवंबर से दिसंबर के पहले सप्ताह तक करीब 1,900 पुराने वाहनों को जब्त किया है.

    राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ नेता अरुण कुमार ने दिल्‍ली में रविवार को कहा कि 1992 का बाबरी मस्जिद विध्वंस हिंदू समाज की इस भावना का परिणाम था कि विवादित स्थल पर राम मंदिर निर्माण से संबंधित कानूनी प्रक्रिया के जरिए उन्हें धोखा दिया जा रहा है. उन्होंने 'सबके राम' नामक पुस्तक के विमोचन के लिए आयोजित एक कार्यक्रम में कहा कि अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए 38 साल लंबा आंदोलन समाज में बदलाव लाने के उद्देश्य से एक 'सकारात्मक और रचनात्मक' आंदोलन था. यह कोई प्रतिक्रियावादी आंदोलन नहीं था. यह समाज में बदलाव लाने के लिए एक सकारात्मक और रचनात्मक आंदोलन था.
    भारतीय जनता पार्टी की राष्ट्रीय महासचिव दीप्ति रावत भारद्वाज ने राज्यसभा सदस्य संजय राउत पर टेलीविजन पर प्रसारित एक साक्षात्कार के दौरान भाजपा कार्यकर्ताओं के खिलाफ आपत्तिजनक भाषा का इस्तेमाल करने और उन्हें धमकाने का आरोप लगाया, जिसके बाद शिवसेना नेता के खिलाफ दिल्ली में मामला दर्ज किया गया. भारद्वाज द्वारा नौ दिसंबर को मंडावली थाने में दर्ज कराई गई शिकायत के आधार पर प्राथमिकी दर्ज की गई है. उन्‍होंने आरोप लगाया है कि नौ दिसंबर को एक मराठी समाचार चैनल पर प्रसारित एक साक्षात्कार के दौरान राउत ने भाजपा कार्यकर्ताओं के खिलाफ ‘हैरान कर देने वाले बयान’ दिए. वहीं, पुलिस ने राउत के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धाराओं 500 (मानहानि की सजा) और 509 (किसी महिला की मर्यादा को ठेस पहुंचाने के इरादे से शब्द, हावभाव का इस्तेमाल करना या ऐसा कृत्य करना) के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है.
    दिल्ली में एक वीजा सलाहकार को कथित रूप से धमकाने और उसका अपहरण करने के मामले में 42 वर्षीय एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है. दिल्‍ली पुलिस सूत्रों ने बताया कि मामले का आरोपी सुरेशचंद पूर्वी दिल्ली के शकरपुर का निवासी है और नोएडा स्थित एक कंपनी में काम करता है. उसने पुलिस को बताया कि इटली में रहने वाले उसके मित्र हेमंत से वीजा सलाहकार सुरेश कमल ने विदेश यात्रा के लिए वीजा और अन्य दस्तावेज मुहैया कराने के नाम पर कथित तौर पर धोखाधड़ी की थी. वहीं, आरोपी और उसके साथियों ने शिवाजी स्टेडियम के पास गुरुवार को कमल का अपहरण कर लिया और उन्होंने स्वयं को केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) का अधिकारी बताकर और हथियार का डर दिखाकर कमल से पांच लाख रुपये मांगे.
    राष्ट्रीय राजधानी दिल्‍ली में एक रविवार को कोविड-19 के 56 नए मामले सामने आए हैं. जबकि संक्रमण की दर 0.01 प्रतिशत रही. स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, दिल्ली में इस महीने अब तक कोविड-19 से दो लोगों की मौत हुई है. वहीं, नवंबर में सात, अक्टूबर में चार और सितंबर में पांच लोगों की संक्रमण से जान चली गई थी. जबकि नए मामलों के साथ शहर में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले बढ़कर 14,41,718 हो गए. इनमें से 14.16 लाख से अधिक मरीज बीमारी से उबर चुके हैं. बीमारी से मरने वालों की संख्या 25,100 पर स्थिर है.
    दिल्ली की सीमाओं पर साल भर के आंदोलन के बाद किसानों के घर लौटने के एक दिन बाद रोहतक रोड के टीकरी बॉर्डर मार्ग को रविवार को वाहनों की आवाजाही के लिए खोल दिया गया. जबकि राष्ट्रीय राजधानी के गाजीपुर और सिंघु सीमाओं पर आंदोलन स्थलों को खाली करने का काम चल रहा है. पुलिस के अनुसार, रोहतक रोड पर एक तरफ लगाए गए बैरिकेड को अक्टूबर में यातायात की आवाजाही के लिए हटा दिया गया था. उन्होंने कहा कि इसके दूसरी तरफ जहां किसान आंदोलन कर रहे थे, रविवार को दिल्ली पुलिस ने पूरी तरह से बैरिकेड हटा दिये.
    दिल्ली उच्च न्यायालय ने कहा है कि मादक पदार्थों की तस्करी के कारण खासकर किशोरों और छात्रों समेत समाज के एक बड़े वर्ग में नशीले पदार्थ की लत बढ़ रही है. अदालत ने याचिकाकर्ता राम भरोसे की जमानत याचिका पर सुनवाई करते हुए कहा कि हाल के वर्षों में इस समस्या ने खतरनाक रूप ले लिया है और समाज पर इसका घातक प्रभाव पड़ा है. राम भरोसे के पास से कथित तौर पर 270 ग्राम स्मैक बरामद किया गया था. जमानत याचिका खारिज करते हुए न्यायमूर्ति सुब्रमण्यम प्रसाद ने कहा कि चूंकि जांच अभी शुरुआती चरण में है तथा इस समय यह नहीं कहा जा सकता कि यह मानने के लिए उचित आधार हैं कि आरोपी अपराध का दोषी नहीं है. अदालत आरोपी राम भरोसे को जमानत देने की इच्छुक नहीं है. अदालत ने पाया कि राम भरोसे मादक पदार्थ से जुड़े एक अन्य मामले भी आरोपी है और जमानत पर रिहा होने की सूरत में उसके इस तरह का अपराध करने की आशंका है.
    दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय शहर में वायु प्रदूषण की स्थिति की समीक्षा के लिए सोमवार को वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक करेंगे. इसमें नगर निगमों, अग्निशमन विभाग, लोक निर्माण विभाग एवं अन्य संबंधित विभागों के वरिष्ठ अधिकारी शामिल होंगे. उच्चतम न्यायालय के निर्देश पर दो दिसंबर को दिल्ली सरकार ने बच्चों के स्वास्थ्य पर वायु प्रदूषण के प्रभाव को कम से कम करने के लिए राष्ट्रीय राजधानी में सभी विद्यालयों को अगले आदेश तक बंद करने की घोषणा की थी.
    दिल्ली में परमानेंट ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने वालों के लिए केजरीवाल सरकार ने बड़ी खुशखबरी दी है. अब दिल्ली में परमानेंट लाइसेंस के लिए लंबे इंतजार की अवधि कम हो जाएगी. अब दिल्ली सरकार 8 और स्वचालित (ऑटोमेटेड) ड्राइविंग ट्रैक बनाने की तैयारी शुरू कर दी है. इसके लिए अगले कुछ दिनों में ही टेंडर जारी कर दिया जाएगा. दिल्ली में इस समय परमानेंट लाइसेंस के लिए होने वाले ड्राइविंग टेस्ट केवल ऑटोमेटेड टेस्ट ट्रैक पर ही हो रहे हैं. फिलहाल विभाग में 13 जोनल ऑफिसों में 11 ऑटोमेटेड ड्राइविंग टेस्ट ट्रैक के जरिए टेस्ट लिए जा रहे हैं.

    Tags: Crime News, Delhi air pollution, Delhi Government, DELHI HIGH COURT, Delhi police, Delhi Police Commissioner, Delhi Police Special Cell

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर